अगर आप भी हैं मुंह के बदबू से परेशान तो जरूर पढ़ें ये खबर

Bad Breath reason and Cure: मुँह से आने वाली बदबू के कारण लोगों को कई तरह की समाजिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है

By: Karunakant Chaubey

Updated: 07 Jul 2019, 10:19 PM IST

रायपुर. Bad Breath reason and Cure: मुंह से आने वाली बदबू के कारण बहुत से लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। मुंह में बदबू सल्फर और केटोन्स जैसे मॉलेक्यूल के कारण होती है। आइए जानते हैं मुंह से आने वाली बदबू के पीछे का कारण क्या है और इससे कैसे छुटकारा पाया जा सकता है।

मुँह से आने वाली बदबू असल में सांसों की बदबू है जिसे हैलिटोसिस के नाम से भी जाना जाता है। किसी व्यक्ति के मनोविज्ञान पर सांस की बदबू एक बड़ा और बुरा प्रभाव डाल सकता है। परिवार, दोस्तों या अन्य लोगों के साथ मेलजोल करते समय यह एक व्यक्ति को असहज और कम आत्मविश्वास का अनुभव करा सकता है।

शादी का झांसा देकर दो बच्चों का बाप तीन साल तक नाबालिग को बनाता रहा अपने हवस का शिकार और फिर...

यही कारण है कि ओरल हेल्थ का ध्यान रखना चाहिए और सांसों की बदबू से छुटकारा पाने का इलाज निकालना चाहिए। आइए जानते हैं सांसों से आने वाली बदबू के पीछे का कारण क्या है और इससे कैसे छुटकारा पाया जा सकता है।

इन कारणों से होती है सांसों में बदबू

सांसों में बदबू सल्फर और केटोन्स जैसे मॉलेक्यूल के कारण होती है। कुछ लोगों में यह खाए गए भोजन या उन दवाओं से विकसित होता है जो वे ले रहे होते हैं। अन्य कारण रेस्सिरटरी सिस्टम, गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल सिस्टम या यूरिनरी सिस्टम के अनुचित कार्य हो सकते हैं। रात भर मुंह में रहने वाले फूडस पार्टिकल्स बैक्टीरिया में बदल जाते हैं और सांसों में बदबू पैदा करते हैं।

पंद्रह साल में बन जाएंगे करोड़पति बस करिये ऐसा काम

ऐसे बचे सांसों की बदबू से

– कुल्ला करना, माउथ स्प्रे और च्विइंग गम का इस्तेमाल करना आपको मुंह की बदबू से छुटकारा दिला सकता है।

– पीरियोडोंटल ट्रीटमेंट(मसूड़ों की बीमारी) जैसे ओरल कैविटी के अंदर मौजूदा बीमारी का इलाज कारगर हो सकता है।

– अपना ब्रश और टूथपेस्ट ध्यानपूर्वक चुनें क्योंकि यह एक महत्वपूर्ण चीज होती है। सही टूथपेस्ट का इस्तेमाल आपके मुंह की बदबू को कम करता है।

– डेंटल प्रोफेशनल से छह महीने में एक बार दांतों की स्केलिंग और पॉलिशिंग करवाना, मौखिक स्वच्छता बनाए रखने और खराब सांस को कम करने में मदद कर सकता है।

– उचित ब्रश, डेंटल फ्लॉस और इंटर-डेंटल ब्रश का उपयोग करना बहुत महत्वपूर्ण है।

– ब्रश करते समय अपनी जीभ को साफ करना भी महत्वपूर्ण है। दांतों को ब्रश करते समय आपको बहुत धीमा होना चाहिए क्योंकि कठोर तरीके से करने से नुकसान हो सकता है।

– कैविटी भी सांसों की बदबू का कारण हो सकता है। संक्रमित दांतों के एंडोडोंटिक उपचार से सांस की बदबू को कम करने में मदद मिल सकती है।

 

 

-Health से जुडी अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहाँ CLICK करें।

 

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर...
खबरों पर बने रहने के लिए Download करें Hindi news App

 

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned