हर समय रहती है थकान, कहीं आप आयरन और कैल्श्यिम की कमी के नहीं हो गए शिकार

12 घंटे में से आधा घंटा अपनी एक्सरसाइज के लिए निकालें और स्ट्रेस कम करने के लिए ग्रीन टी पीए

By: ashutosh kumar

Published: 11 Jan 2021, 07:45 PM IST

रायपुर. आयरन और कैल्शियम की कमी आजकल एक आम बात हो गई है और इनकी वजह से लोग एनीमिया, हड्डियों में कमजोरी ,थकान और ओस्टियोपोरोसिस जैसे रोगों के शिकार हो जाते हैं। हालांकि आयरन और कैल्शियम से भरपूर चीजों को अपने डाइट में शामिल करके हम इन रोगों से बच सकते हैं। कैल्शियम की कमी को पूरा करने के लिए दूध और दूध से बने पदार्थों का सेवन करें। डेरी-उत्पादों के अलावा हरी पत्तेदार सब्जयि़ों, बादाम-इत्यादि मेवों, मछली में भी कैल्शियम भरपूर होता है। आयरन की कमी को पूरा करने के लिए आप चुकंदर का सेवन करें इससे हीमोग्लोबिन बढ़ता है। आपको जानकारी के लिए बता दें कि आयरन की गोलियां खाने से आपको कब्ज, दस्त या अन्य पेट संबंधित समस्या होना आम बात है और इसके सेवन से मल का रंग भी काला हो जाता है। ऐसे में घबराने की जरूरत नहीं है। यदिघर की महिला हैल्दी रहेगी, तभी पूरी फेमिली हैल्दी रह सकती है, लेकिन अक्सर यह देखा गया है कि महिलाएं अपनी सेहत पर ध्यान नहीं दे पातीं। इसकी वजह से वे कम उम्र में ही बीमार रहने लगती हैं, विशेषकर हाउसवाइफ। दरअसल उनका पूरा समय परिवार की देखभाल में निकल जाता है। सुबह 5-6 बजे से उनके दिन की शुरुआत होती है और देर रात तक घर के काम में ही बिजी रहती है।

हर समय रहती है थकान, कहीं आप आयरन और कैल्श्यिम की कमी के नहीं हो गए शिकार

आयरन : महिलाओं में ज्यादातर ब्लड की कमी के कारण सिरदर्द, चक्कर आना, थकान रहती है। इसलिए उन्हें आयरन प्रचुर मात्रा में लेना चाहिए। इसके लिए हरी सब्जियों का सेवन करें और इन सभी सब्जियों को लोहे की कढ़ाई में बनाएं, ताकि बॉडी में आयरन का एब्जॉप्र्शन ज्यादा हो।

अंकुरितदाल लें : मूंग,मोठ जैसे दालों को अंकुरित करके लें और इनमें नीबू का प्रयोग जरूर करें, जिससे आयरन और विटामिन सी बॉडी में अच्छी तरह से जाएगा। नाश्ते में पोहे के साथ नींबू लेना भी काफी फायदेमंद है। सर्दियों में बाजरा और गुड़ लें। इससे भी अच्छी मात्रा में आयरन मिलता है। फलों में अनार, मौसमी, किन्नू, चुकंदर लें। साथ ही रोज विटामिन-सी के लिए नींबू का प्रयोग करे।

प्रोटीन: इसकेलिए दाल, दूध, दही, पनीर और अंडा का सफेद हिस्सा अपनी डाइट में लें। दूध पीना अवॉइड नहीं करें। इसके अलावा एक कटोरी दही, छेना पनीर लें।

वर्किंग वुमन ये टिप्स अपनाएं
वर्किंगवुमन के लिए हैल्थ को मेन्टेन करना मुश्किल हो जाता है। उनके लिए हर दो घंटे में खाना एक चैलेंज है क्योंकि वे ऑफिस में कैसे खाएं। इन्हें अपने वर्किंग टेबल में स्नैक्स जैसे कि रोस्टेड चना, मुरमुरा आदि रखने चाहिए, ताकि इनको वे समय-समय पर ले सकें। ब्रेकफास्ट में एक गिलास दूध जरूर लें। एक फ्रूट जरूर रखें। ताकि बॉडी में एनर्जी का सोर्स बना रहे। 12 घंटे में से आधा घंटा अपनी एक्सरसाइज के लिए निकालें और स्ट्रेस कम करने के लिए ग्रीन टी पीए।

सुबह की शुरुआत सिर्फ एक चाय और बिस्किट के साथ करें
ज्यादातर महिलाएं सुबह की शुरुआत सिर्फ एक चाय से करती हैं और दिन में हल्का सा कुछ लेकर उन्हें सीधे डिनर करना पसंद है। जबकि यह सही नहीं है। एनर्जी का लेवल बनाए रखने के लिए वे दिन में थोड़ी-थोड़ी देर पर कुछ खाते रहें। सुबह की शुरुआत सिर्फ एक कप चाय के साथ नहीं करें, बल्कि उसके साथ बिस्किट जरूर लें। फिर ब्रेकफास्ट और स्नैक्स भी ले सकते हैं। लंच के साथ फ्रूट्स खाएं, फिर रात को डिनर लें।

हरी पत्तेदार सब्जियां प्रचुर मात्रा में लें
हाउसवाइफ अक्सर जल्दी थक जाती हैं। ज्यादातर महिलाओं में कैल्शियम आयरन की कमी के कारण घुटनों अन्य हड्डियों कमर में दर्द रहता है। कैल्शियम की कमी पूरी करने के लिए दूध, दही, छेने का रसगुल्ला आदि दूध से बने सभी पदार्थ अपनी डाइट में शामिल करें। हरी पत्तेदार सब्जियां प्रचुर मात्रा में लें और दालों में खासतौर पर सोयाबीन लें क्योंकि इसमें कैल्शियम अच्छी मात्रा में पाया जाता है। यह सभी चीजें महिलाओं को रोजाना अपनी डाइट में रखनी चाहिए। साथ ही डाइट प्लान कर लें कि पूरे सप्ताह में उन्हें कौनसी चीज कितनी मात्रा में लेनी है।

आयरन की मात्रा
आयरन हमारे शरीर के डुओडेनम (छोटी आंत का एक हिस्सा ) में जाकर स्टोर हो जाता है और वहां से उसे एंटेरोसाइट्स नामक कोशिकाएं इनको रक्तप्रवाह में पहुंचाने का काम करती हैं। जबकि हम जो भी खाते हैं उससे आयरन की पूरी मात्रा शरीर को नहीं मिल पाती है, इसलिए ही हमारे शरीर में आयरन कि कमी हो जाती है। और आयरन कि कमी का दूसरा मुख्य कारण हमारे डाइट में आयरन से भरपूर चीजों का कम होना है। शरीर में आयरन लेवल की ज्यादा कमी से ही हम एनीमिया के शिकार हो जाते हैं, जिसकी पहचान थकान, मसल्स या मुरझाये हुए चेहरे से आसानी से की जा सकती है। आयरन सप्लीमेंट्स इस कमी को पूरा करने में काफी हद तक मदद करते हैं लेकिन ऐसे कई कारण है जो इसके अवशोषण को प्रभावित करते हैं

हर समय रहती है थकान, कहीं आप आयरन और कैल्श्यिम की कमी के नहीं हो गए शिकार

आयरन के अवशोषण को कैसे बढायें
जब डॉक्टर हमें आयरन सप्लीमेंट्स देते हैं ,तो इसके साथ में विटामिन सी भी लेने को कहते हैं। विटामिन सी आयरन को अघुलनशील और अनअवशोषित आयरन कंपाउंड्स में परिवर्तित होने से रोककर, हमारे शरीर में आयरन की मात्रा को बढ़ाने में मदद करते हैं। विटामिन सी आयरन को फेरस फॉर्म या लोहे के अवस्था में भी परिवर्तित कर देता है जो की कोशिकाओं में आयरन के अवशोषण के लिए एक जरूरी अवस्था है।

आयरन सप्लीमेंट्स को खाने के साथ कभी नही लेना चाहिए
आयरन सप्लीमेंट्स को खाने के साथ कभी नही लेना चाहिए,या तो खाने से एक घंटे पहले या खाने के दो घंटे बाद ही इसका सेवन करना चाहिए। वह बताते हैं कि कैल्शियम सप्लीमेंट को एक निश्चित समय पर ही लेना चाहिए। यदि आपने तय किया है कि उसे आप सुबह के नाश्ते के बाद लेंगे तो रोजाना उसे उसी समय पर लें।

ashutosh kumar Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned