कोरोनावायरस अपडेट: आखिर क्यों पड़ रही है लॉकडाउन की जरूरत

अनलॉक-2 में रोजाना औसतन 126 लोग कोरोना संक्रमित पाए जा रहे हैं। 18 मार्च से अब तक 5100 से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं। सेवाएं देते हुए 330 फ्रंट लाइन वॉरियर्स भी संक्रमित हुए हैं। 24 लोग जान गवां चुके हैं।

By: Karunakant Chaubey

Published: 24 Jul 2020, 06:07 PM IST

रायपुर. कोरोना संक्रमण की विस्‍फोटक स्थिति को देखते हुए छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में एक बार फिर लॉकडाउन (Lockdown) का फैसला लिया गया है। प्रदेश में यह लॉकडाउन 22 जुलाई से लागू हो चूका है। हालांकि यह लॉकडाउन पूरे प्रदेश में लागू नहीं है। कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनज़र सीएम हाउस में शनिवार को बुलाई गई बैठक में यह निर्णय लिया गया।

संक्रमण की रफ्तार- अनलॉक-2 में रोजाना औसतन 126 लोग कोरोना संक्रमित पाए जा रहे हैं। 18 मार्च से अब तक 5100 से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं। सेवाएं देते हुए 330 फ्रंट लाइन वॉरियर्स भी संक्रमित हुए हैं। 24 लोग जान गवां चुके हैं।

गैर जिम्मेदारी अपार- लोग मास्क लगाना, सोशल व फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे। क्वारंटाइन के नियमों को गंभीरता से नहीं ले रहे।

कोरोना चैन हजार- प्रदेश में मिलने वाला हर एक मरीज नई कोरोना चैन को जन्म देता है। अब एक मरीज से दर्जनों संक्रमित मिल रहे हैं। वायरस लोड अधिक है। इसे ब्रेक करना जरूरी है।

अगर लॉक डाउन लगता है तो...

लॉकडाउन के दौरान जारी रहेंगी ये सेवाएं

स्वास्थ्य, पेयजल, साफ-सफाई, विद्युत व्यवस्था, फायर ब्रिगेड की सेवाएं जारी रहेंगी। कारखाने या निर्माण इकाइयों को शर्तों के साथ काम करने की अनुमति होगी। पेट्रोल पंप, अस्पताल, क्लीनिक, दवा दुकान, सब्जी दुकानें नियमति समय से खुलेंगी। कृषि उपज मंडी पूर्व की तरह ही काम करेगी। लॉकडाउन क्षेत्र में सिर्फ वाणिज्यिक परिवहन की अनुमति होगी।

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned