इंप्लांट की तकनीक और मशीनों की बारीकियों की दी जानकारी

मुख्य वक्ता डॉ कौस्तुभ ठाकरे एसोसिएट प्रोफेसर अमरावती द्वारा इंप्लांट की नई तकनीक के बारे में छात्र-छात्राओं को अवगत कराया गया। उन्हें डेमोंसट्रेशन करके दिखाया गया कि इंप्लांट कैसे और सही तरीके से किया जा सकता है।

रायपुर द्यगवर्नमेंट डेंटल कॉलेज में इंप्लांट्स ट्राई इंटेगरेशन पर वर्कशॉप का आयोजन डिपार्टमेंट ऑफ पेरियोडोंटिक्स, ओरल सर्जरी एवं प्रोस्थोडॉन्टिक्स द्वारा किया गया। उद्घाटन डायरेक्टर ऑफ मेडिकल एजुकेशन डॉ एसएल आदिले, डॉ एसआर गुप्ता रजिस्ट्रार छत्तीसगढ़ स्टेट डेंटल काउंसिल एवं डेंटल कॉलेज के प्राचार्य डॉ विश्वजीत मिश्रा ने किया।
मुख्य वक्ता डॉ कौस्तुभ ठाकरे एसोसिएट प्रोफेसर अमरावती द्वारा इंप्लांट की नई तकनीक के बारे में छात्र-छात्राओं को अवगत कराया गया। उन्हें डेमोंसट्रेशन करके दिखाया गया कि इंप्लांट कैसे और सही तरीके से किया जा सकता है। वर्कशॉप में पहले इंप्लांट की तकनीक और इस्तेमाल होने वाली मशीनों के बारे में अवगत कराया गया। दूसरे हिस्से में इंप्लांट लगाने के बारे में जानकारी दी गई। डॉ ठाकरे ने बताया इंप्लांट लगाने के लिए ट्रीटमेंट प्लान बहुत जरूरी है । इसके बाद सर्जरी करना सबसे
महत्वपूर्ण है।
नई तकनीक आने से इंप्लांट लगाना काफी आसान हो गया है। डॉ कौस्तुभ ठाकरे ने विभिन्न प्रकार की तकनीक की जानकारी देने के साथ ही वीडियो के माध्यम से केसों के प्रेजेंटेशन दिए। वर्कशॉप में भाग लेने वाले दंत चिकित्सकों ने पहले मॉडल पर और फिर मरीजों पर डेंटल इंप्लांट सर्जरी करने की प्रक्रिया सीखी।

Yggyadutt Parale Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned