छत्तीसगढ़...कोरोना @ 165 लोग जिंदगी की जंग हार गए, अब तक मौत का आंकड़ा 6000 के पार हुआ

  • प्रोटोकॉल के अनुसार जो लोग अपनी जांच कराएं, वह अपने को संक्रमित मानकर एहतियात बरतें। न तो घर से बाहर न निकलें और घर में भी परिवार से तब तक दूरी बनाकर रहें, जब तक जांच रिपोर्ट न आ जाए।
  • रिपोर्ट आने तक होम क्वारंटाइन रहें, जिससे संक्रमित होने की स्थिति में अपनों और दूसरों के लिए खतरा न बनें

By: ashutosh kumar

Updated: 20 Apr 2021, 02:30 AM IST

रायपुर. छत्तीसगढ़ में कोरोना से मरने वाले लोगों की मौत का आंकड़ा घटने का नाम नहीं ले रहा है। स्थिति यह है कि इस महामारी से सोमवार, 19 अप्रैल तक मरने वालों की संख्या 6000 का आंकड़ा पार कर गई। बीते 10 दिन से लगातार 100 से अधिक मौतें दर्ज हो रही हैं। सोमवार को कोरोना से 165 लोग जिंदगी की जंग हार गए। जिसमें अकेले रायपुर से 68 लोगों की मौत हुई है।
उधर, बीते 24 घंटे में प्रदेश में 13834 मरीज रिपोर्ट हुए। इनमें सर्वाधिक 2378 मरीज रायपुर में मिले। 'पत्रिकाÓ ने सोमवार को सबसे पहले पीक से जुड़ी खबर प्रकाशित की थी। वहीं सोमवार को 11,815 मरीज स्वस्थ हुए, जो अच्छे संकेत हैं। अब एक्टिव मरीजों की संख्या 1,29,000 जा पहुंची है। अब तक रायपुर में 1701 और दुर्ग में 1114 लोगों की मौत हो चुकी है।

  • वर्तमान समय में जो हालात हैं उसे हर किसी को समझना होगा!

कोरोना वायरस के कहर से पूरी दुनिया परेशान है। अब तक लाखों लेाग इस महामारी से अपनी जान गंवा चुके हैं। वहीं इस महामारी से लाखों पीडि़तों को बचाते-बचाते देशभर में अबतक कई चिकित्सकों ने अपनी जान गंवा दी है। ये खुद अपनी जान जोखिम में डालकर निरंतर अपने कर्तव्य पथ पर आगे बढ़ते जा रहे हैं। अब हर शख्स को समझना होगा कि यह बहुत ही गंभीर मामला है। इससे बचने के लिए साधन बताए गए हैं। इसमें सबसे बड़ा साधन जो हर कोई अपने लिए कर सकता है वो है दो गज की दूरी और मॉस्क पहनना। अगर आप घर से कहीं भी बाहर जाएं तो मास्क लगाकर जाएं। बाजार और अन्य भीड़भाड़ वाली जगहों पर डबल मास्क का इस्तेमाल करें। हाथों की सफाई रखें और लोगों से दूरी बनाकर रखें। अगर आपने ये नियम फॉलो कर लिए तो खुद को संक्रमित होने से काफी हद तक बचा सकते हैं। पैनिक होने पर भी अपना संतुलन बनाए रखें। अपने आप को व्यस्त रखें और सकारात्मक सोचें।

वहीं इस महामारी से जंग जीतने के लिए केंद्र और राज्य सरकार के द्वारा किए जा रहे प्रयासों में अपना योगदान दें। अगर आप 45 से ज्यादा उम्र के हैं तो अपनी सैंपलिग करवाएं और जांच आने के बाद वैक्सीन के दो डोज जरूर लगवाएं। साथ ही हमउम्र के लोगों को भी इसके लिए प्रेरित करें तभी इस महामारी पर जीत हासिल कर सकते हैं।

छत्तीसगढ़...कोरोना @ 165 लोग जिंदगी की जंग हार गए, अब तक मौत का आंकड़ा 6000 के पार हुआ
  • जांच कराने के बाद प्रोटोकॉल का करें पालन
    छत्तीसगढ़ में बढ़ते मामलों के बीच जांच कराने वालों लोगों की संख्या में बढ़ोतरी देखी जा रही है, लेकिन जांच रिपोर्ट में देरी होने पर कोरोना की जांच करवाकर लोग बेखौफ होकर घूम रहे हैं, जिससे संक्रमितों की संख्या और बढ़ती जा रही है। यह राज्य के लिए खतरे की घंटी है। बढ़ रहे संक्रमण के बाद भी लोग नहीं चेत रहे हैं। लक्षण दिखने के बाद एंटीजन जांच में निगेटिव आने के बावजूद आरटीपीसीआर की रिपोर्ट आने तक सावधानी बरतनी चाहिए। सबसे अच्छा रहेगा कि इस दौरान होम क्वारंटाइन रहकर कोविड प्रोटोकॉल का पालन करें।
    प्रोटोकॉल के अनुसार जो लोग अपनी जांच कराएं, वह अपने को संक्रमित मानकर एहतियात बरतें। न तो घर से बाहर न निकलें और घर में भी परिवार से तब तक दूरी बनाकर रहें, जब तक जांच रिपोर्ट न आ जाए। ऐसे में यदि जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आएगी तो घर परिवार के साथ मिलने जुलने वाले सुरक्षित रहेंगे।
  • दूसरे राज्यों से छत्तीसगढ़ आने वाले यात्रियों की टेस्टिंग बढ़ाई गई
    मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किसी अन्य राज्य से छत्तीसगढ़ आने वाले हर एक व्यक्ति की टेस्टिंग करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने संबंधित अधिकारियों कहा कि एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड और अंतरराज्यीय सीमाओं पर टेस्टिंग की व्यवस्था बढ़ाई जाए। साथ ही संक्रमित लोगों के इलाज के लिए समुचित व्यवस्था की जाए। इधर अन्य राज्यों से छत्तीसगढ़ आने वालों के कोरोना रिपोर्ट निगेटिव होना अनिवार्य कर दिया गया है। साथ ही यह रिपोर्ट 72 घंटे से ज्यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए।
Corona virus
ashutosh kumar Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned