सरकारी भूमि की खरीदी-बिक्री : 600 कब्जाधारियों को भेजा लाखों रुपए का नोटिस, लोगों में हडक़ंप

मजदूर वर्ग की महिला और पुरुष तहसील दफ्तर पहुंचे, बोले-साहब हम कहां से पैसा करेंगे जमा

By: ramdayal sao

Updated: 18 Feb 2020, 10:11 PM IST

रायपुर/ कांकेर. नगर में सरकारी भूमि पर झोपड़-पट्टी और छप्पर डालकर निवास करने वाले कब्जाधारियों को को भूमि स्वामी बनाने के लिए राजस्व विभाग ने लाखों रुपए का नोटिस जारी किया है। नोटिस मिलते ही मजदूरों में हडक़ंप मच गई है। तहसील दफ्तर पहुंच रहे गरीबों ने कहा, मजदूरी कर पेट भरते हैं। छप्पर डालकर रहते हैं। तीन-चार लाख रुपए हम कहां से लाएं, कैसे जमा करेंगे।
प्रशासन की ओर से नगरीय क्षेत्र सरकारी नजूल भूमि विक्रय किया जा रहा है। सरकारी भूमि के कब्जाधारियों एवं पट्टेधारियों को भूमि स्वामी बनाने के लिए शासन की ओर से अलग-अलग शुल्क निर्धारित किया गया है। नगर पालिका क्षेत्र में 600 से अधिक लोग नजूल भूमि पर अतिक्रमण किए हुए हैं। 30-40 साल से उक्त स्थान पर अपने परिवार के साथ रहते हैं। कुछ लोगों की झोपड़पट्टी तो कुछ का छप्पर है। ऐसे गरीबों को भूमि स्वामी बनने के लिए राजस्व विभाग की ओर से नोटिस जारी किया गया है। राजस्व विभाग की ओर से लाखों का नोटिस मिलते ही कब्जाधारियों में हडक़ंप मच गई है।

पत्रिका टीम ने राजस्व विभाग से नोटिस पाने वालों से बात की। शीतलापारा निवासी सतीश डहरे ने कहा वह तीस साल से अपने परिवार के साथ यहां रह रहे हैं। 200 रुपए में रोजी करते हैं। 2.69 लाख रुपए का नोटिस मिला है। नोटिस मिलने के बाद से उसे चिंता सता रही कि आखिर कहां से पैसा लाएगा। अरमान खान ने कहा कि वह 40 साल से नगर में रह रहा है। 83 वर्ग मीटर भूमि के लिए तीन लाख से अधिक राशि जमा करने के लिए नोटिस मिला है। तीन सौ रोजी में काम करता हूं।

स्वेता गंगवेर ने बताया कि शांतिनगर में 20 साल से निवास कर रही हैं। 116 वर्ग मीटर भूमि के लिए पांच लाख का नोटिस मिला है। वह 200 रुपए की रोजी में अपने बच्चों का पेट पाल रही हंै। रुखशाना बेगम ने बताया कि वह शीतलापारा में 40 साल से अपने बच्चों के साथ गरीबी की मार झेल रही हैं। पेट भरने के लिए संकट है। शासन की ओर से अब 55 वर्ग मीटर भूमि पर मालिकाना हक पाने के लिए चार लाख का नोटिस दिया गया है। शकुन बाई ने कहा कि वह शांतिनगर में 20 साल से अपने बच्चों के साथ निवास कर रही हैं। 52 वर्ग मीटर भूमि के एवज में सरकार 2.20 लाख जमा करने के लिए नोटिस जारी किया है। ईश्वरी साहू को 4 लाख, परदेशी निषाद को 2.67 लाख, राधाबाई को 2.43 लाख, लच्छन सारथी को 4.34 लाख और गौरी को सवा दो लाख का नोटिस मिला है। राजस्व विभाग की ओर से नोटिस जारी होने से गरीबों में खलबली मची है।

शासन की ओर से नगर में शासकीय भूमि पर कब्जा करने वालों को भूमि स्वामी बनाने के लिए नोटिस जारी किया गया है। सर्किल रेट के आधार पर निर्धारित शुल्क जमा करने के लिए लोगों को पत्र के माध्यम से बनाया गया है। निर्धारित मूल्य जमाकर कब्जाधारी भूमि स्वामी बन सकते हैं।
एमके मरकाम, तहसीलदार कांकेर.

- नगरीय क्षेत्र में सरकारी भूमि पर कब्जा करने वालों और पट्टाधारियों को भूमि स्वामी बनने जागरुकता के लिए जगह-जगह शिविर लगाया जा रहा है। अलग-अलग हितग्राहियों का मूल्य निर्धारित किया गया है। शिविरों का निरीक्षण भी किया जा रहा है। हितग्राही निर्धारित शुल्क जमा कर रहे हैं।
सीएल मार्कण्डेय, अपर कलेक्टर

ramdayal sao Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned