पुलिसकर्मियों के लिए नए आवास बनकर तैयार लोकार्पण के लिए नेताओं के पास समय नहीं

सर्वसुविधायुक्त 144 फ्लैट, पुलिसकर्मियों को नहीं मिल रही है किराए के मकानों से मुक्ति

बलौदाबाजार. पुलिस विभाग ने जिला मुख्यालय में कर्मचारियों के लिए आवासीय फ्लैट परिसर का निर्माण तो करा दिया है, परंतु निर्माण होने के कई माह बाद भी इन फ्लैटों का आवंटन नहीं किया जा रहा है। जिसकी वजह से पुलिसकर्मियों के लिए आसावासीय फ्लैट होने के बावजूद किराए के मकान में रहकर किराया देना मजबूरी हो गई है।
प्रतिदिन कई पुलिसकर्मी सपरिवार इन परिसर तक आकर हरसत भरी नजर से इन आवासीय फ्लैट को देखते हैं, परंतु आवंटन ना होने की वजह से मन मसोसकर मायूस लौट जाते हैं। विभागीय सूत्रों के अनुसार आला अधिकारी बड़े नेताओं से इस परिसर का लोकार्पण कराना चाहते हैं, परंतु प्रदेश स्तरीय बड़े नेताओं द्वारा समय ना दिए जाने की वजह से अब तक इन आवासीय फ्लैट का आवंटन ही नहीं किया
गया है।
विदित हो कि नगर के सिटी कोतवाली परिसर में रिक्त भूमि में पुलिस हाउसिंग कारपोरेशन के द्वारा 9.8 करोड़ रुपयों की लागत से आवासीय परिसरों का निर्माण कार्य लगभग तीन वर्ष पूर्व प्रारम्भ किया गया था, जिसका निर्माण कार्य वर्तमान में लगभग पूर्ण कर लिया गया है। इस आवासीय परिसर में सिटी कोतवाली के बगल तथा डीके कालेज की ओर से दो तरफ से पहुंच मार्ग है। वहीं यह आवासीय परिसर पूरी तरह से पार्किंग, पेयजल तथा अन्य सुविधाओं से पूरी तरह से व्यवस्थित है। इस परिसर में 144 फ्लैटों का निर्माण कराया गया है, जिसे कर्मचारियों व अधिकारियों को नियमानुसार मकान आवंटित
किए जाएंगे।
कुल 144 आवासों में ए से लेकर जी तक यानी सात परिसर में सिपाहियों के हिसाब से 1 बीएचके के 112 मकान तथा जी.वन तथा जी.टू यानी दो परिसर में एएस आई से लेकर टीआई स्तर के अधिकारियों के लिए 32 मकान इस प्रकार कुल144 क्वार्टर्स का निर्माण कराया गया है। नए आवासीय परिसर को लेकर पुलिस कर्मचारियों से ज्यादा उनका परिवार उत्साहित था, परंतु विभागीय अधिकारियों की उदासीनता की वजह से अब पुलिस कर्मचारी भी हतोत्साहित हो रहे हैं।
आवंटन नहीं होने से छोटे कर्मचारियों में आक्रोश
नवीन जिलों में बलौदा बाजार के साथ ही साथ गरियाबंद तथा मुंगेली जैसे अन्य जिलों में इस प्रकार के पुलिस क्वार्टर्स परिसरों का निर्माण कराया गया है, परंतु उन जिलों में आवंटन कर दिया गया है। बलौदाबाजार जिले में अब तक इसका आवंटन नहीं किया गया है जो पुलिस विभाग के आला अधिकारियों की विफलता है। आवंंटन ना होने पर अब विभागीय निचले कर्मचारियों में भी आला अधिकारियों के प्रति आक्रोश पनप रहा है।
वे दबी जुबान अपना आक्रोश भी व्यक्त करने लगे हैं। कुछ निचले कर्मचारियों ने बताया कि नवीन परिसर पूरी तरह से सर्व सुविधायुक्त है । जहां पार्किंग, गार्डन, पेयजल, प्रकाश, सुरक्षा जैसी मूलभूत व्यवस्था है। परंतु इसका आवटन ना होना समझ से परे है। निचले कर्मचारियों ने बताया कि बड़े अधिकारियों को तो शासकीय बंगला या अन्य स्थान पर आवास की सुविधा मिल जाती है, परंतु निचले कर्मचारी आबंटन ना होने की वजह से बेवजह निजी घरों में रहकर भारी भरकम किराया चुका रहे हैं।
1906 में पुलिस थाने की स्थापना की
गई थी
शासकीय दस्तावेजों के अनुसार नगर में पुलिस थाने की स्थापना लगभग 1906 में की गई थी। पुलिस रिकॉर्ड के अनुसार उसी समय थाने के ठीक पीछे पुलिस कॉलोनी का निर्माण कराया गया था। लगभग 8 एकड़ में फैले पुलिस कॉलोनी में लगभग 40 क्वार्टरर बनाए गए थे। नगर के वरिष्ठजनों के अनुसार दशकों पूर्व कॉलोनी में फैले मैदान में ही पुलिसकर्मियों की परेड होती थी, परंतु पुलिस विभाग ने विभागीय क्वार्टरों की देखरेख की ओर कभी ध्यान नहीं दिया है, जिसके चलते पूर्व की पुलिस कॉलोनी के क्वार्टर पूरी तरह से जीर्ण-शीर्ण हो गए थे। पुलिस लाइ्र में पुराने समय के 40 क्वार्टरों में से अधिकांश क्वार्टर जर्जर हो गए थे।
कार्य का नाम - नवीन पुलिस लाइन परिसर
कुल क्वार्टर्स - 144 आवासीय फ्लैट्स
स्वीकृत राशि - 9.8 करोड़ रुपए
संबंधित ठेकेदार का नाम मे. - शंकरा इंटरप्राइजेस, कवर्धा
आवासीय फ्लैट्स के प्रकार - ए से लेकर जी तक यानी सात परिसर मेंं सिपाहियों के हिसाब से 1 बीएचके के 112 मकान व जी.वन तथा जी.टू यानी दो परिसर में एएस आई से लेकर टीआई स्तर के अधिकारियों के लिए 32 मकान
नए परिसर में सुविधाएं - बच्चों के लिए खेल मैदान, खुली पर्याप्त पार्किंग, गार्डन, पेयजल के लिए दो बड़े संपवेल व सभी आवासीय परिसरों में स्वतंत्र पानी टंकी
वर्जन...
नए साल के पूर्व ही इसका आवंटन कर दिया जाएगा। नए पुलिस लाइन परिसर में कुछ कार्य अभी बाकी है। जिसे जल्द से जल्द पूरा कराए जाने का निर्देश संबंधित ठेकेदार को दिया गया है। कार्य पूर्ण होते ही तत्काल इसका आवंटन किया जाएगा। उम्मीद है कि नए साल के पूर्व ही इसका आवंटन कर दिया जाएगा।
नीतू कमल, पुलिस अधीक्षक, बलौदा बाजार-भाटापारा

ashok trivedi
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned