पढऩे की चाह में ससुराल छोड़ा, मायके से नहीं मिली मदद, काउंसिलिंग के बाद पिता बोले- पहले पढ़ाई

राज्य महिला आयोग: बेटी की इच्छाओं को प्राथमिकता देने की समझाइश

रायपुर. पढ़ाई की चाह में एक युवती ससुराल से भाग गई। मायके वालों ने कहा शादी के बाद ससुराल ही उनका घर है। हिम्मत न हारते हुए युवती राज्य महिला आयोग पहुंची। यहां युवती के माता-पिता की चार घंटे काउंसिलिंग की गई। इसके बाद पिता को गलती का अहसास हुआ। उन्होंने कहा कि अब न केवल बेटी को आगे पढ़ाऊंगा बल्कि तलाक भी दिलाऊंगा।
जलविहार कॉलोनी में संचालित राज्य महिला आयोग में 9 जनवरी को दो युवतियां पहुंची। इनमें से एक इंजीनियरिंग ग्रेजुएट रेखा( बदला नाम) ने बताया कि वह बेमेतरा में माता-पिता के साथ रहती थी। 2 साल पहले उसकी शादी जांजगीर में सरकारी नौकरी करने वाले युवक से हुई है। लेकिन वह आगे पढऩा चाहती है और उसे ससुराल वाले घर तक ही सीमित रखना चाहते है। उन्होंने अपने पिता से बात की, लेकिन उन्होंने साफ-साफ कह दिया कि अब ससुराल ही तुम्हारा घर है और वहीं तुम्हारा भविष्य तय करेंगे।
सहेली ने दिया सहारा
मायके और ससुराल से सहारा नहीं मिला तो रेखा जांजगीर से बिना किसी को बताए रायपुर अपनी सहेली के पास आ गई। रायपुर में उसकी सहेली अकेली रहती थी। सहेली उसे महिला आयोग लेकर आई और यहां आने पर आयोग द्वारा रेखा के माता-पिता को बुलाया गया। पिता भी कई दिनों से परेशान थे। उन्होंने थाने में भी अपनी बेटी के लापता होने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी।
बेटी की शादी करना ही प्राथमिकता नहीं
आयोग की सदस्य खिलेश्वरी किरण भी काउंसिलिंग में शामिल थी। आयोग के प्रभारी सचिव अभय देवांगन ने बताया कि यदि सही काउंसिलिंग सही समय पर हो तो उसके सकारात्मक परिणाम निकलते हैं। 4 घंटे तक तीन काउंसलरों ने रेखा और उसके माता-पिता से पूरे मामले को समझा। इसके बाद कहा कि बेटी की इच्छाओं को प्राथमिकता दें। यह न समझे कि बेटी की शादी करना ही बेटी को सेटल करना होता है बल्कि अब बेटियां भी आत्मनिर्भर होना चाहती हंै। इसलिए पहले उन्हें अपने पैरों पर खड़ा करें। माता-पिता को लड़कियों की शादी के बजाय उनकी इच्छाओं को प्राथामिकता देना चाहिए।

Nikesh Kumar Dewangan Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned