Literacy Day 2018: साक्षरता दर के आधार पर भारत के 29 राज्यों में छत्तीसगढ़ का कौन सा स्थान

Literacy Day 2018: साक्षरता दर के आधार पर भारत के 29 राज्यों में छत्तीसगढ़ का कौन सा स्थान

Chandu Nirmalkar | Publish: Sep, 08 2018 02:30:47 PM (IST) Raipur, Chhattisgarh, India

सीएम रमन सिंह ने अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस के अवसर पर जनता को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी हैं.

रायपुर: सीएम रमन सिंह ने अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस के अवसर पर जनता को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी हैं।उन्होंने बताया कि केंद्र और राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं से छत्तीसगढ़ की साक्षरता दर 14 सालों में पहले से काफी सुधर गई हैं। मुख्यमंत्री ने इस बात पर भी खुशी जताई कि केंद्र और राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं से छत्तीसगढ़ में भी नई पीढ़ी के लिए शिक्षा के व्यापक अवसर विकसित हुए हैं।इससे राज्य में साक्षरता की दर 14 सालों में 65.18 प्रतिशत से बढ़कर 71.04 प्रतिशत हो गई है।

भारत की साक्षरता दर
अभी के आंकडों के मुताबिक भारत की साक्षरता दर 75.06 % है। राज्यों के अनुसार केरल में सबसे ज्यादा साक्षरता प्रतिशत 93.91 फीसदी और बिहार में सबसे कम 63.82 फीसदी बच्चे पढ़े लिखे हैं। छत्तीसगढ़ की साक्षरता दर में उदार प्रवृत्ति देखी गई है और यह जनगणना 2011 के अनुसार 70.28% थी। पुरुष साक्षरता दर 80.27% थी, हालांकि महिला साक्षरता 60.24% थी।

READ MORE: मौसम: अभी नहीं मिलेगी भारी बारिश से राहत, ठंडी हवाओं के साथ जमकर बरसेगा बादल

 

Literacy Day 2018: CM  <a href=Raman Singh on Chhattisgarh education" src="https://new-img.patrika.com/upload/2018/09/08/chhattisgarh_literacy_day_850_3379890-m.jpg">

विश्व की तुलना में भारत की साक्षरता
भारत में सुधरती शिक्षा व्यवस्था के बदौलत 2011 जनगणना के मुताबिक भारत में साक्षरता दर 75.06 है। आजादी तक यानी 1947 में मात्र भारत में शैक्षिक दर 18 % थी। अगर विश्व की साक्षरता दर से भारत की तुलना किया जाए तो भारत की साक्षरता दर विश्व की साक्षरता दर 84% से कम है।

पिछले साल अंतरराष्ट्रीय साक्षरता दिवस पर इनको मिला था सम्मान
छत्तीसगढ़ ने अंतरराष्ट्रीय साक्षरता दिवस पर खास उपलब्धि हासिल कर देश में छत्तीसगढिय़ा सबले बढिय़ा को चरितार्थ किया। छत्तीसगढ़ ने साक्षरता के लिए दिए जाने वाले 11 राष्ट्रीय पुरस्कारों में से चार अपने नाम किए थे। तत्कालीन उपराष्ट्रपति वेंकैयानायडू ने नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित समारोह में दंतेवाड़ा और जशपुर को राष्ट्रीय साक्षरता पुरस्कार से सम्मानित किया। उन्होंने छत्तीसगढ़ की दो ग्राम पंचायतों कर्माहा (सरगुजा) और टेमरी (रायपुर) को अक्षर भारत राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा।

Ad Block is Banned