लंबे इंतजार के बाद केरल पहुंचा मानसून, छत्तीसगढ़ में इस दिन तक होगी दस्तक

लंबे इंतजार के बाद केरल पहुंचा मानसून, छत्तीसगढ़ में इस दिन तक होगी दस्तक

Akanksha Agrawal | Updated: 08 Jun 2019, 03:02:21 PM (IST) Raipur, Raipur, Chhattisgarh, India

Today Weather Forecast : आखिरकार 8 जून को मानसून (monsoon) केरल पहुँच ही गया। मौसम विभाग (meteorological department) के अनुसार अगले 48 घंटों में केरल (Kerala) में भारी बारिश (heavy rainfall) की सम्भावना है। छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में भी राज्य सरकार (state government) ने मानसून पूर्व आवश्यक तैयारियां प्रारंभ कर दी है।

रायपुर. इस बार देश भर में लंबा इंतजार करवाने के बाद मानसून (monsoon) ने आखिरकार केरल (Kerala) मेें दस्तक दे दी है। मौसम विभाग (meteorological department) के अनुसार मानसून (rainfall) इस बार तीन दिन देरी से केरल पहुंचा है। छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में मौसम विभाग (weather department) के अफसरों का कहना है कि प्रदेश में वैसे तो जून के दूसरे सप्ताह में ही मानसून प्रवेश कर जाता है लेकिन इस बार की थोड़ी देरी किसानों (farmers) को बोवाई (sowing) की तैयारी करने के लिए पर्याप्त अवसर देगी।

छत्तीसगढ़ में प्री मानसून की बारिश भी काफी कम मात्रा में हुई है। जिसके कारण अभी तक लोगों को गर्मी से राहत नहीं मिल पाई है। मौसम विभाग के मुताबिक छत्तीसगढ़ में अगले तीन दिनों तक उत्तर- पश्चिम से आ रही हवाओं के कारण गर्मी कम होने के आसार नहीं हैं।

Read More : गर्मियों के मौसम में अमृत की तरह होता है मटकों का पानी, जानिए इसके चौंका देने वाले फायदे

मानसून को छत्तीसगढ़ पहुंचने में लगेगा 10 दिन का समय
केरल में शुक्रवार को मानसून ने दस्तक दे दी है। गौरतलब है कि केरल से मानसून को छत्तीसगढ़ पहुंचने में 10 दिन का समय लगता है। इसलिए मानसून को 17 जून तक छत्तीसगढ़ पहुंचने की संभावना जताई जा रही है। उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ में मानसून (Monsoon In Chhattisgarh) सबसे पहले बस्तर (Bastar) में दस्तक देता है, इसके बाद मानसून को रायपुर पहुंचने में दो दिन का समय लगेगा। 25 जून तक मानसून के पूरे छत्तीसगढ़ में फैल जाने की संभावना जताई जा रही है।

पिछले साल बाढ़ के बाद इस साल केरल में तैयारी पूरी
पिछले साल केरल में हुई तबाही के बाद इस साल सरकार ने वहां पर पहले ही सुरक्षा की सारी तैयारियां कर ली है। केरल की राजधानी सहित कई इलाकों जैसे त्रिशूर, एर्नाकुलम आदि जगहों पर आने वाले तीन दिनों में भारी बारिश (heavy rains) की आशंका जताई जा रही है। साल 2018 में केरल सदी के सबसे भीषण बाढ़ की चपेट में आ गया था।

Read More : 15 जून तक आधा भारत होगा सूखे की चपेट में, छत्तीसगढ़ में 99 प्रतिशत कम बारिश की संभावना

पिछले साल इस तारीख को दी थी मानसून ने दस्तक
मौसम विभाग (meteorological department) के अनुसार पिछले कुछ वर्षों की तुलना में मानसून (Monsoon) इस साल काफी देरी से पहुंचा है। वर्ष 2018 में मानसून (monsoon)
ने 29 मई को ही दस्तक दे दी थी। इससे पहले 2016 में 8 जून को और 2015 में मानसून ने 6 जून को केरल (Kerala Weather) में दस्तक दी थी।

 

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर ..

CG Lok sabha election Result 2019 से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए Download करें patrika Hindi News

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned