लॉकडाउन: राज्य की सीमा पर बनाए गए कैम्पों से भाग रहे मजदूर

पिछले 25 दिन में 70 फीसदी से अधिक लोग हो चुके हैं लापता

By: Nikesh Kumar Dewangan

Published: 23 Apr 2020, 06:32 PM IST

रायपुर. लॉकडाउन के दौरान राज्य की सीमा पर 4000 से अधिक लोगों को कोरोना के संक्रमण से बचाने के लिए कैम्पों में रखा गया था। इसमें ज्यादातर ग्रामीण, मजदूर, वाहन चालक और यात्री शामिल हैं।
सभी के लिए स्थानीय जिला प्रशासन, ग्राम पंचायत और स्वयंसेवी संस्थाओं के जरिए जरूरी सामानों की आपूर्ति की जा रही थी। साथ ही उनके स्वास्थ्य का परीक्षण भी किया जा रहा था। लेकिन, इनमें 70 फीसदी से ज्यादा लोग पुलिस को चकमा देकर रात के अंधेरे में लापता हो चुके हैं। बचे हुए लोग भी भागने की फिराक में हैं। बताया जा रहा है कि यह सिलसिला पिछले 25 दिनों से रोजाना चल रहा है। बता दें कि पुलिस, जिला प्रशासन और परिवहन विभाग द्वारा संयुक्त टीम का गठन कर 8 राज्यों से सटे 16 स्थानों में चेकपोस्ट बनाया गया है। यहां नाकेबंदी कर केवल मालवाहक, अतिआवश्यक सेवाएं और विशेष अनुमति प्राप्त वाहनों को आवाजाही की अनुमति दी गई है।

डीजीपी ने दिए थे सख्ती के आदेश

कैम्पों से लोगों के भागने की घटनाओं के बाद पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी ने स्थानीय टीम निगरानी बढ़ाने के निर्देश दिए थे। साथ ही जरूरत का सामान भी उपलब्ध कराने कहा गया था। सीमांत इलाकों में तैनात टीम का कहना है कि लॉकडाउन को देखते हुए सभी को सीमा के पास अस्थायी कैम्पों में ठहराया गया था। इसमें से अधिकांश वाहन चालक और परिचालक थे। मालवाहक वाहनों के संचालन की अनुमति मिलते ही वह अपनी वाहन सहित से रवाना हो गए हैं। गृह विभाग के आला अधिकारियों ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि बॉर्डर में बनाए गए कैंपों मैं पिछले काफी समय से लगातार लोगों की संख्या कम हो रही है। कुछ दिनों तक रहने के बाद मौका देखकर लोग अपने संसाधनों से निकल रहे हैं।

अंदरूनी मार्गों का उपयोग

राज्य के 18 जिले 7 राज्यों की सीमा से सीधे जुड़े हुए हंै, इनके प्रमुख मार्गों पर निगरानी करने के लिए टीम को तैनात किया गया है। लेकिन, सीमा से सटे हुए ग्रामीण क्षेत्रों, जंगल के रास्ते और रेल पटरियों से आवाजाही जारी है। पड़ोसी राज्यों के मजदूर इसके जरिए अपने गंतव्य स्थान की ओर रवाना हो रहे है। अब तक करीब 500 लोगों को विभिन्न स्थानों पर मालवाहक वाहनों में पकड़ा जा चुका है। पूछताछ में उनके द्वारा पैदल ही राज्य की सीमा को पार करने की जानकारी सामने आई है।

Nikesh Kumar Dewangan Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned