लोकसभा चुनाव में जीत के लिए भाजपा ने लिया बड़ा फैसला, इन सांसदों का टिकट काट नए को दिया मौका

छत्तीसगढ़ की लोकसभा सीटों पर जीत का परचम लहराने के लिए भाजपा ने बड़ा फैसला लिया है

By: Deepak Sahu

Updated: 20 Mar 2019, 08:13 AM IST

रायपुर. छत्तीसगढ़ की लोकसभा सीटों पर जीत का परचम लहराने के लिए भाजपा ने बड़ा फैसला लिया है। दिल्ली में हुई केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक के बाद भाजपा प्रदेश प्रभारी डॉ. अनिल जैन ने प्रदेश की सभी 11 लोकसभा सीटों पर प्रत्याशी बदलने का ऐलान किया। बैठक में विधानसभा चुनाव में हारे किसी भी प्रत्याशी को भी टिकट नहीं देने का फैसला लिया गया है। पार्टी के इस फैसले के बाद प्रदेश में सियासी हलचल बढ़ गई है। माना जा रहा है कि भाजपा बुधवार को या फिर होली के बाद अपने प्रत्याशियों की सूची जारी करेगी।

दिल्ली में रात 9 बजे तक केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक चली। इसमें छत्तीसगढ़ समेत अन्य राज्यों के प्रत्याशियों पर विस्तार से चर्चा की गई। होलिका अष्टक की वजह से भाजपा ने सूची जारी नहीं की। बैठक खत्म होने के बाद छत्तीसगढ़ के प्रदेश प्रभारी ने सभी सीटों पर नए चेहरों को चुनाव लड़ाने की घोषणा की। जैन की इस घोषणा के बाद केंद्रीय इस्पात मंत्री विष्णुदेव साय, 7 बार रायपुर के सांसद रहे रमेश बैस, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेण्डी और पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के पुत्र अभिषेक सिंह समेत सभी 10 मौजूदा सांसद टिकट की दौड़ से बाहर हो गए।

यह हो सकता है कांग्रेस पर असर
भा जपा का यह फैसला कांग्रेस के लिए मुश्किल बढ़ा सकता है। दरअसल, भाजपा सांसदों के प्रति जबरस्त एंटीइनकंबेंसी थी। चुनाव में कांग्रेस को इसका फायदा मिल सकता था। अब कांग्रेस को जीत के लिए नई रणनीति तैयार करनी होगी।

यह हो सकता है भाजपा पर असर
प्रदेश के बहुत से सांसदों का जमीनी आधार काफी मजबूत है। पार्टी के इस फैसले से समर्थकों में निराशा होगी। वहीं भितरघात का खतरा भी बढ़ सकता है। हालांकि, मौजूदा हालात को देखते हुए मतदाता एकबार फिर भाजपा को वोट देने का मन बना सकता है।

इस वजह से लिया फैसला
विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा ने अपने सभी सांसदों को स्टार प्रचारकों की सूची में शामिल किया था। विधानसभा चुनाव के परिणामों से साफ जाहिर होता है कि मतदाताओं ने सांसदों को ज्यादा प्राथमिकता नहीं दी। वहीं, सांसद आदर्श ग्राम के पैमाने पर भी अधिकांश सांसद खरे नहीं उतर सके हैं। एंटी इनकंबेसी भी बड़ी वजह है।

ये दिग्गज हो जाएंगे दौड़ से बाहर
प्रेम प्रकाश पाण्डेय, अमर अग्रवाल, महेश गागड़ा, केदार कश्यप, भैयालाल राजवाड़े, अंबेश जांगड़े।

ये हैं 10 सांसद
रायपुर : रमेश बैस, महासमुंद : चंदुलाल साहू, राजनांदगांव: अभिषेक सिंह, कांकेर : विक्रम उसेण्डी, बस्तर : दिनेश कश्यप, कोरबा : डॉ. बंशीलाल महतो, रायगढ़ : विष्णुदेव साय, जांजगीर-चांपा : कमला देवी पाटले, बिलासपुर : लखन लाल साहू, सरगुजा : कमलभान सिंह मरावी।

Show More
Deepak Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned