अपने बूथ पर भी पार्टी को वोट नहीं दिला सके शहर के विधायक

अपने बूथ पर भी पार्टी को वोट नहीं दिला सके शहर के विधायक

Deepak Sahu | Publish: May, 26 2019 08:02:01 AM (IST) Raipur, Raipur, Chhattisgarh, India

* घर के पड़ोसी मतदाताओं को भी नहीं रिझा पाए प्रमोद(Pramod Dubey)

* मंत्री शिव डहरिया(CG minister Shiv Dahariya) और विधायक धनेंद्र साहू(Dhanendra Sahu) के बूथों (Lok Sabha Election 2019) पर ही मिली बढ़त

रायपुर। विधानसभा चुनाव (CG Assembly Election 2018) में शानदार प्रदर्शन करने वाली कांग्रेस(Congress) तीन माह बाद हुए लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) में बुरी तरह से असफल साबित हुई। विधानसभा चुनाव में 68 सीट हासिल करने वाली कांग्रेस लोकसभा चुनाव में लगभग 24 विधानसभा सीटों पर ही अपनी बढ़त बरकार रख सकी। रायपुर लोकसभा (Raipur Lok Sabha) क्षेत्र की बात करें तो नौ विधानसभा में छह विधानसभा सीट कांग्रेस के कब्जे में रही है। इसके बावजूद कांग्रेस के दिग्गज अपने उम्मीदवार को जीत नहीं दिला पाए।

निर्वाचन आयोग के बूथवार मतदान के आंकड़ों को देखें तो रायपुर शहर के विधायक अपने बूथों पर ही पार्टी को वोट नहीं दिला सके। केवल लोकसभा के प्रभारी मंत्री शिव डहरिया और अभनपुर विधायक धनेंद्र साहू के बूथ पर कांग्रेस को बढ़त मिली है। शिव डहरिया का नाम अभनपुर विधानसभा क्षेत्र के मतदान केंद्र क्रमांक 11 छछानपैरी की सूची में शामिल है। यहां कांग्रेस प्रत्याशी प्रमोद दुबे(Pramod Dubey) को 414 और भाजपा(BJP) के सुनील सोनी(Sunil Soni) को महज 65 वोट मिले।

अभनपुर विधायक धनेंद्र साहू तोरला गांव के बूथ क्रमांक 78 से मतदाता हैं। यहां कांग्रेस उम्मीदवार को 291 और भाजपा उम्मीदवार को 154 वोट मिले थे। हांलाकि अभनपुर विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस 22 हजार 601 वोटों से पिछड़ गई। कांग्रेस उम्मीदवार प्रमोद दुबे तो अपने मोहल्ले वालों को भी प्रभावित नहीं कर पाए। दुबे दक्षिण विधानसभा में कंकालीपारा के बूथ क्रमांक 75 से मतदाता हैं। इस बूथ पर कांग्रेस को 137 वोट मिले वहीं भाजपा को 237 वोट।


रायपुर पश्चिम में बड़ा नुकसान
कांग्रेस प्रत्याशी प्रमोद दुबे को रायपुर पश्चिम विधानसभा क्षेत्र से बड़ा नुकसान उठाना पड़ा। विधानसभा चुनाव में रायपुर पश्चिम से विकास उपाध्याय ने प्रदेश के कद्दावर मंत्री राजेश मूणत को 12 हजार 212 मतों से पराजित किया था। लोकसभा चुनाव में यहां से कांग्रेस प्रत्याशी 59 हजार 557 वोटों से पीछे रहे। वोटों का इतना अधिक अंतर चौंकाने वाला साबित हो रहा है। यहां के विधायक विकास उपाध्याय (Vikas Upadhyay) के बूथ पर कांग्रेस प्रत्याशी को 141 और भाजपा प्रत्याशी को 386 वोट मिले हैं।


ग्रामीण में भी नहीं संभली स्थिति
कांग्रेस का असर रायपुर ग्रामीण क्षेत्र में बरकरार नहीं रह पाया। रायपुर ग्रामीण विधानसभा पर दो बार कांग्रेस का कब्जा है। लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) में कांग्रेस को रायपुर ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र में 63 हजार 634 वोटों से हार का सामना करना पड़ा। ठीक इसके विपरीत विधानसभा चुनाव (CG Assembly Election 2018) में यहां से कांग्रेस प्रत्याशी सत्यनारायण शर्मा को 10 हजार 453 वोट से जीत हासिल की थी। विधायक सत्यनारायण शर्मा का नाम अवंति विहार क्षेत्र में आता है। यहां 11 बूथों में से 7 पर भाजपा आगे रही।

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned