scriptmahgaee ne munafe par dala daka, lagt nikalna huaa mushkil | गर्मी की आहट होते ही कुम्हारों के घरों में बनने लगे मटके | Patrika News

गर्मी की आहट होते ही कुम्हारों के घरों में बनने लगे मटके

गर्मी और तेज धूप में मटके का ठंडा पानी शीतल और तरावट देने वाला होता है। गरीब व मध्यम वर्गीय तो आज भी घड़े और मटकों के पानी से ही भीषण गर्मी में अपनी प्यास बुझाता है। गर्मी के दस्तक देने से पहले ही कुम्हार हर साल मटके बनाने में जुट जाते हैं और इससे परिवार का भरण-पोषण करते हैं। लेकिन बीते दो साल लॉकडाउन के चलते कुम्हारों की रोजीरोटी छीन गई है इस बार की गर्मी से कुम्हारों की उम्मीद बढ़ी।

रायपुर

Published: March 07, 2022 04:35:38 pm

खरोरा। गर्मी और तेज धूप में मटके का ठंडा पानी शीतल और तरावट देने वाला होता है। गरीब व मध्यम वर्गीय तो आज भी घड़े और मटकों के पानी से ही भीषण गर्मी में अपनी प्यास बुझाता है। गर्मी के दस्तक देने से पहले ही कुम्हार हर साल मटके बनाने में जुट जाते हैं और इससे परिवार का भरण-पोषण करते हैं। लेकिन बीते दो साल लॉकडाउन के चलते कुम्हारों की रोजीरोटी छीन गई है इस बार की गर्मी से कुम्हारों की उम्मीद बढ़ी।
नगर सहित आसपास के ग्रामीण अंचलों में गर्मी की आहट होते ही नगर के आसपास ग्रामीण क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर मटके तैयार होने शुरू हो गए हैं। मटके तैयार करने में व्यस्त कुम्हारों का कहना है कि महंगाई के चलते अब मिट्टी के घड़़े व अन्य सामग्री तैयार करना मुश्किल होते जा रहा है। गर्मी के मौसम में गला तर करने के लिए मटके का शीतल जल ही याद आता हैं।
इन दिनों गर्मी को देखते हुए बड़े पैमाने में मटके तैयार किए जा रहे हैं। वहीं कुम्हारों ने बताया कि गर्मी के इस सीजन में मटकों की मांग रहती है। मांग को देखते हुए मटके तैयार किए जा रहे हैं। मिट्टी आसपास के जगहों से लाई जाती है। कच्ची सामग्रियों की बढ़ी हुई कीमत के कारण अब इस व्यवसाय में पहले जैसा मुनाफा नहीं रहा। वहीं रही कसर फ्रिज ने पूरी कर दी है।
गर्मी की आहट होते ही कुम्हारों के घरों में बनने लगे मटके
गर्मी की आहट होते ही कुम्हारों के घरों में बनने लगे मटके
गली-गली में कर बेचते हैं मटका
गर्मी को देखते हुए कुम्हार विनोद, रामकुमार, महेंद्र कुमार ने बताया कि शहर व नगर के आसपास गांव में घूम-घूम कर मटका बेंचना शुरू कर देते हैं तथा नगर के साप्ताहिक बाजार में भी मटके की दुकान लगाते हैं। वर्तमान में मटकों की कीमत 50 रुपए से 70 रुपए के बीच बताई जा रही है, जो पिछले साल की तुलना में 10 प्रतिशत अधिक है। कुम्हारिनों का कहना है कि प्रतिस्पर्धा के दौर में मटके और मिट्टी के बर्तन बेचना मुश्किल हो चला है। नगर के अलग-अलग वार्डो में निश्चित खरीदार हैं, जो हर वर्ष मटकी खरीदते हैं। इसके अलावा कई स्थानों पर खुलने वाले सार्वजनिक प्याऊ में भी इन मटकों की मांग रहती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

किसी भी महीने की इन तीन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद शार्प माइंड, लाइफ में करते हैं बड़ा कामपैदाइशी भाग्यशाली माने जाते हैं इन 3 राशियों के बच्चे, पिता की बदल देते हैं तकदीरइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथ7 दिनों तक मीन राशि में साथ रहेंगे मंगल-शुक्र, इन राशियों के लोगों पर जमकर बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपादो माह में शुरू होने वाला है जयपुर में एक और टर्मिनल रेलवे स्टेशन, कई ट्रेनें वहीं से होंगी शुरूपटवारी, गिरदावर और तहसीलदार कान खोलकर सुनले बदमाशी करोगे तो सस्पेंड करके यही टांग कर जाएंगेआम आदमी को राहत, अब सिर्फ कमर्शियल वाहनों को ही देना पड़ेगा टोल15 जून तक इन 3 राशि वालों के लिए बना रहेगा 'राज योग', सूर्य सी चमकेगी किस्मत!

बड़ी खबरें

Delhi LG Resigned: दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने दिया इस्तीफा, निजी कारणों का दिया हवालाIndia-China Tension: पैंगोंग झील पर बॉर्डर के पास दूसरा पुल बना रहा चीन, सैटेलाइट इमेज से खुलासाHeavy rain in bangalore: तेज बारिश से दो मजदूरों की मौत, मुख्यमंत्री ने की मुआवजे की घोषणाज्ञानवापी मस्जिद: नौ तालों में कैद वजूखाना, दो शिफ्टों में निगरानी कर रहे CRPF जवान, महंतो का नया दावापाकिस्तान व चीन बॉडर पर S-400 मिसाइल तैनात करेगा भारत, जानिए क्या है इसकी खासियतप्रयागराज में फिर से दिखा लाशों का अंबार, कोरोना काल से भयावह दृश्य, दूर-दूर तक दफ़नाए गए शवFarmers protest: विरोध कर रहे किसानों से मिलेंगे CM मान, आखिर क्यों धरने पर बैठे किसान?जब कांस के दौरान खो गई दीपिका पादुकोण की ड्रेस तो आखिरी समय में किया गया ये बदलाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.