नए शिक्षा सत्र शुरू करने से पहले बदलने होंगे कई क्वारंटाइन सेंटर

स्कूल शिक्षा विभाग ने नए शैक्षणिक सत्र की तैयारी तेज कर दी है। सत्र जुलाई से शुरू करने का प्रयास किया जा रहा है।

By: Bhawna Chaudhary

Updated: 29 May 2020, 08:46 AM IST

रायपुर. स्कूल शिक्षा विभाग ने नए शैक्षणिक सत्र की तैयारी तेज कर दी है। सत्र जुलाई से शुरू करने का प्रयास किया जा रहा है। इसके लिए कांग्रेस सरकार के कुछ मंत्री भी खास रुचि दिखा रहे हैं, लेकिन सारा मामला स्कूलों में बनाए क्वॉरेंटाइन सेंटर की वजह से अटक रहा है। हालांकि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में बुधवार को हुई बैठक में स्कूलों में बने क्वॉरेंटाइन सेंटर को हटाने के लिए कहा गया है।

बताया जाता है कि उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक में गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू व कृषि मंत्री रविंद्र चौबे ने बच्चों के भविष्य को देखते हुए 1 जुलाई से स्कूल शुरू करने की वकालत की। साथ ही मंत्रियों ने इस बात पर भी जोर दिया कि स्कूलों के संचालन में फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन कड़ाई से किया जाए। बैठक में यह बात सामने आई है कि ग्रामीण क्षेत्रों में अधिकांश स्कूलों को क्वॉरेंटाइन सेंटर बना दिया गया है। यहां अन्य राज्यों से आए प्रवासी मजदूरों को ठहरा गए। यहां से कोरोना संक्रमित मरीज भी सामने आ रहे हैं।

ऐसे में स्वास्थ्य विभाग को समय बीतने के बाद स्कूल से क्वॉरेंटाइन सेंटर हटाने के लिए कहा गया है। इसके अलावा स्कूलों को पूरी सेनीटाइज करना पड़ेगा। इसके बाद स्कूलों का संचालन शुरू हो सकता है। लगभग यही स्थिति ग्रामीण क्षेत्र में संचालित छात्रावासों की भी है।

बताया जाता है कि बैठक में स्कूल से क्वॉरेंटाइन सेंटर हटाए जाने के बाद नए क्वॉरेंटाइन सेंटर बनाने के विकल्प पर भी चर्चा हुई। इसमें कहा गया है कि शहरों में ही क्वॉरेंटाइन सेंटर बनाए जाए।

केंद्र की गाइडलाइन होगी महत्वपूर्ण
प्रदेश में स्कूलों के संचालन के लिए केंद्र सरकार की गाइडलाइंस महत्वपूर्ण होगी। वर्तमान में केंद्र सरकार ने शैक्षणिक संस्थाओं राजनीतिक सामाजिक व धार्मिक गतिविधियों पर रोक लगा रखी है। यदि आगे स्थिति नियंत्रण में नहीं आई है तो पूरी संभावना है कि यह रोक आगे भी जारी रहेगी। इस स्थिति प्रदेश सरकार को स्कूल खोलने के लिए परेशानी उठानी पड़ सकती है।

Corona virus
Show More
Bhawna Chaudhary
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned