छत्तीसगढ़ में रजिस्ट्री खुलने से रियल एस्टेट को मिली रफ्तार, 13 दिन में हुईं 4459 रजिस्ट्री

पंजीयन दफ्तर शुरू होने के बाद रियल एस्टेट सेक्टर को रफ्तार मिल चुकी है। राजधानी सहित प्रदेशभर के अन्य जिलों में जमीन-मकानों के सौदे शुरू हो चुके हैं। 4 से लेकर 16 मई तक प्रदेशभर में कुल 4459 रजिस्ट्रियां हो चुकी है, वहीं राजधानी में संख्या 411 तक पहुंच चुकी है।

By: Dinesh Kumar

Published: 16 May 2020, 11:39 PM IST

रजिस्ट्री खुलने के बाद प्रदेशभर में जमीनों के सौदों में आई तेजी

सोशल डिस्टेंसिंग के साथ की जा रही है रजिस्ट्रियां


रायपुर. पंजीयन दफ्तर शुरू होने के बाद रियल एस्टेट सेक्टर को रफ्तार मिल चुकी है। राजधानी सहित प्रदेशभर के अन्य जिलों में जमीन-मकानों के सौदे शुरू हो चुके हैं। 4 से लेकर 16 मई तक प्रदेशभर में कुल 4459 रजिस्ट्रियां हो चुकी है, वहीं राजधानी में संख्या 411 तक पहुंच चुकी है। पंजीयन विभाग के आंकड़ों पर गौर करें तो ना सिर्फ शहरी बल्कि अर्धशहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में भी रजिस्ट्री में रफ्तार देखी जा रही है। पंजीयन शुरू होने के बाद कार्पोरेट घराने मार्केटिंग टीम की मदद से प्रापर्टी की खरीदी-बिक्री के लिए डिजिटल फार्मेट के जरिए नए तरीके से लोगों तक पहुंच बना रही है। निजी कार्पोरेट घरानों के साथ अब सरकारी विभाग जैसे नवा रायपुर विकास प्राधिकरण (एनआरडीए) व रायपुर विकास प्राधिकरण (आरडीए) ने भी इस आर्थिक मंदी से उबरने के लिए प्रापर्टी खरीदी-बिक्री के रास्ते खोल दिए हैं। दोनों ही विभागों ने टेंडर के माध्यम से विक्रय की रणनीति बनाई है, वहीं तारीखों की भी घोषणा कर दी है।

राज्य सरकार को भी राजस्व भी मिला
पंजीयन शुरू होने के बाद राज्य सरकार को राजस्व भी प्राप्त हो रहा है। 4459 दस्तावेजों के पंजीयन के बाद 14.25 करोड़ रुपए की स्टॉम्प ड्यूटी, 8.92 करोड़ की पंजीयन फीस प्राप्त हो चुकी है। बारिश शुरू होने के पहले जमीनों की खरीदी-बिक्री में रफ्तार बरकरार रहने की उम्मीद है। लॉक-डाउन के पहले लंबित प्रकरणों का भी निपटारा किया जा रहा है।

नवा रायपुर: भूखण्डों की आवंटन जारी
नवा रायपुर विकास प्राधिकरण (एनआरडीए) और रायपुर विकास प्राधिकरण ने रियल एस्टेट सेक्टर में जमीनों की खरीदी-बिक्री की प्रक्रिया शुरू कर दी है। नवा रायपुर अटल नगर में बसाहट के लिए सेक्टर-15 और सेक्टर 30 में आवासीय भूखण्डों का आवंटन जारी है। इसके प्रथम चरण के अंतर्गत 14 मई तक नवा रायपुर के इन दोनों सेक्टरों में 5 करोड़ 25 लाख रूपए मूल्य के कुल 17 भूखण्ड आवंटित किए गए हैं। इन दोनों सेक्टरों में आवासीय भूखण्डों की लॉन्चिंग विगत मार्च महीने में की गई थी। जिसमें आवेदकों को 15 अप्रैल तक निविदा भरने की तिथि निर्धारित थी, परन्तु कोविड-19 लॉकडाउन के कारण अंतिम तिथि को 14 मई तक बढ़ा दिया गया था। इनमें अब तक 17 भूखण्ड आवंटित हो गए हैं। शेष भू-खण्डों के आवंटन के लिए पुर्ननिविदाएं दो दिवस के भीतर जारी की जाएगी। नवा रायपुर अटल नगर के सेक्टर-15 में 9 आवेदकों को 3000 से 4000 वर्गफीट तक के प्लाट आबंटित हुए है, जिसकी प्रीमियम राशि कुल लगभग 4 करोड़ होगी। जबकि सेक्टर-30 में 8 आवेदकों को 1500 वर्गफीट आकार के भू-खण्ड आबंटित हुए है, जिसकी प्रीमियम राशि लगभग 1.25 करोड़ होगी।

आरडीए: किश्तों का भुगतान शुरू और प्रापर्टी का विक्रय भी
रायपुर विकास प्राधिकरण (आरडीए) ने सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए आवासीय व व्यावसायिक संपत्तियों के विक्रय का कार्य शुरु कर दिया है। इसके साथ ही कार्यालय में किस्तों व बकाया राशि के भुगतान लेने का कार्य भी शुरु कर दिया गया है। कार्यालय में हर व्यक्ति के शरीर का तापमान इंफ्रारेड थर्मल थर्मामीटर से भी जांचा जा रहा है प्राधिकरण कार्यालय खुलने के बाद कई आवंटिति स्वयं आ कर बकाया और आवंटित फ्लैट्स, प्लॉट की किस्तों क भुगतान भी कर रहे हैं। भुगतान करने वाले सभी लोग निर्धारित नियमों को पूरी तरह से पालन कर रहे हैं। प्राधिकरण व्दारा कमल विहार योजना में भूखंडों के विक्रय के लिए हर माह के दूसरे और चौथे शुक्रवार को निविदा के माध्यम से आवंटन किया जाएगा। वहीं इन्द्रप्रस्थ रायपुरा में पूर्व की तरह भूखंडो का आवंटन हर माह के दूसरे और चौथे सोमवार को होगा। व्यावसायिक प्रापर्टियों में भक्त माताकर्मा कॉम्पलेक्स न्यू राजेन्द्रनगर, शैलेन्द्रनगर व बोरियाखुर्द की दुकानों का आवंटन निविदा के माध्यम से किए जाने की प्रक्रिया भी शुरु कर दी गई है।

फैक्ट फाइल
प्रमुख जिलों में रजिस्ट्री के आंकड़े (4 मई से 16 मई तक)
शहर- रजिस्ट्री
रायपुर-411
बिलासपुर-422
दुर्ग-604
बलौदाबाजार-531
जांजगीर-चांपा-415
राजनांदगांव-299
बेमेतरा-281
धमतरी-235
महासमुंद-180
बालोद-184

रजिस्ट्री दफ्तर में सोशल डिस्टेसिंग
रजिस्ट्री दफ्तर में सोशल डिस्टेसिंग के लिए नियम-कानून तय किए गए हैं। दफ्तरों में मार्किंग के अलावा रजिस्ट्री के दौरान भीड-भाड़ को कम करने,स्टॉम्पिंग की प्रक्रि या में फेरबदल किया गया है। सख्त निर्देश जारी किया गया है वे दफ्तरों में मॉस्क पहनकर आएं।

वर्जन
रजिस्ट्री दफ्तर केे खुलने के बाद प्रदेशभर में अब तक 4459 दस्तावेजों का पंजीयन हुआ है। सभी पंजीयन दफ्तरों में सोशल डिस्टेसिंग व कोरोना के रोकथाम के लिए जारी नियमों के साथ काम करने के निर्देश दिए गए हैं।
धर्मेश साहू
महानिरीक्षक, पंजीयन

Dinesh Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned