दो साल में खुले तीन मेडिकल कॉलेज, छत्तीसगढ़ में अब कुल 9

- स्वास्थ्यगत अधोसंरचना में वृद्धि: दो जिला चिकित्सालय, एक सिविल हॉस्पिटल स्थापित .
- 1350 बिस्तर वाले 21 नए एमसीएच हॉस्पिटल भी खोले गए .

By: Bhupesh Tripathi

Published: 17 Apr 2021, 05:33 PM IST

रायपुर . छत्तीसगढ़ में बीते दो सालों में स्वास्थ्यगत अधोसंरचना में बढ़ोतरी होने के साथ ही स्वास्थ्य अमले में भी वृद्धि हुई है। मेडिकल कॉलेज अस्पतालों की संख्या 6 से बढ़कर 9, जिला चिकित्सालयों की संख्या 26 से बढ़कर 28 और सिविल अस्पताल की संख्या 19 से बढ़कर 20 हो गई है। बीते दो सालों में 50 बिस्तर वाले 15 और 100 बिस्तर वाले 6 एमसीएच अस्पताल स्थापित किए गए हैं। इस अवधि में 6 नए उप स्वास्थ्य केन्द्र तथा एक सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भी स्थापित किया गया है।

अधिकारियों के मुताबिक राज्य सरकार के लगातार प्रयासों की वजह से विशेषज्ञ, चिकित्सकों, चिकित्सा अधिकारियों सहित मेडिकल स्टाफ की संख्या 18,458 से बढ़कर 20,405 हो गई है, जिसमें विशेषज्ञ, चिकित्सकों की संख्या 175 से बढ़कर 319, चिकित्सा अधिकारियों की संख्या 1359 से बढ़कर 1818 और स्टाफ नर्स की संख्या 2580 से बढ़कर 4091 हो गई है। वर्तमान में 300 चिकित्सा अधिकारियों, 92 स्टाफ नर्स, 50 मेडिकल लैब टेक्नॉलाजिस्ट तथा 146 ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक (महिला) की भर्ती प्रक्रियाधीन है।

Read More : रायपुर - भिलाई में जमकर चल रही रेमडेसिविर की कालाबाजारी, डॉक्टर सहित चार पकड़ाए

आयुष्मान कार्डधारियों की संख्या भी बढ़ी
राज्य में दिसम्बर 2018 की स्थिति में आयुष्मान कार्डधारियों की संख्या मात्र 2,23,793 थी, जो आज की स्थिति में बढ़कर एक करोड़ 13 लाख 57 हजार 441 हो गई है। इससे राज्य के नागरिकों को नि:शुल्क स्वास्थ्य सुविधा का लाभ शासकीय एवं मान्यता प्राप्त चिकित्सालयों में सहजता से उपलब्ध होने लगा है।

Read More : जानलेवा वायरस : कोरोना से 24 घंटे में 88 मौतें, कुल 14912 संक्रमित मिले

राज्य में नि:शुल्क स्वास्थ्य सुविधा का लाभ पाने वाले परिवारों की संख्या 56 लाख से बढ़कर 67 लाख हो गई है। जिसमें से 56 लाख बीपीएल परिवारों को सालाना 5 लाख रूपए तथा 9 लाख एपीएल परिवारों को प्रति वर्ष 50 हजार रुपए तक नि:शुल्क इलाज की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है।

Read More : कोरोना काल में दिल को झकझोर कर देने वाली कहानी - कहीं कोविड सेंटर से महिला गायब तो किसी ने मामूली दवाई के दिए लाखों रुपए

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned