लाखों का गांजा रायपुर से दिल्ली ले जा रही महिला गिरफ्तार

गांजा तस्करी के लिए दिल्ली से रायपुर आई महिला सहित चार गांजा तस्करों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उनके पास से 51किलो गांजा बरामद हुआ है। गांजा ओडिशा की ओर से आने वाली यात्रीबस के जरिए रायपुर पहुंचा था। इसके बाद चारों आरोपी गांजा लेकर दुर्ग की ओर जा रहे थे।

Narad Yogi

17 Feb 2020, 11:46 PM IST

रायपुर. गांजा तस्करी के लिए दिल्ली से रायपुर आई महिला सहित चार गांजा तस्करों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उनके पास से 51किलो गांजा बरामद हुआ है। गांजा ओडिशा की ओर से आने वाली यात्रीबस के जरिए रायपुर पहुंचा था। इसके बाद चारों आरोपी गांजा लेकर दुर्ग की ओर जा रहे थे। इसी दौरान पुलिस को मुखबिर के जरिए सूचना मिली। आमानाका पुलिस ने टाटीबंध चौक में घेराबंदी करके उन्हें पकड़ लिया। सभी को नारकोटिक्स एक्ट के तहत गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपी एक ही परिवार के हैं।

पुलिस के मुताबिक सोमवार को सुबह करीब 11 बजे टाटीबंध चौक पर दुर्ग की ओर जाने वाली बस का इंतजार करते हुए एक महिला सहित चार लोग संदिग्ध रूप से खड़े थे। उनके पास काले रंग का बैग था। मुखबिर की सूचना पर आमानाका पुलिस ने चारों को पकड़ा। उनके बैग की तलाशी ली गई, तो उनमें पॉलीथिन के पैकेट में गांजा रखा था। पकड़े गए आरोपी कपिल सिंह, सुनील कुमार, विजय कुमार और पूजा उर्फ मिथलेश हैं। सभी एक ही परिवार के हैं। और दिल्ली के नरेला निवासी हैं। आरोपियों के पास कुल 51 किलो गांजा मिला है, जिसकी कीमत करीब 5 लाख रुपए बताई जा रही है।
एक दिन पहले पहुंच गए थे रायपुर

आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि चारों एक दिन पहले ही रायपुर आ गए थे। और गांजा आने का इंतजार कर रहे थे। उन्हें एक व्यक्ति ने भेजा था। सोमवार को ओडिशा की ओर से आई यात्रीबस में गांजा रखा गया था। बसस्टैंड पहुंचते ही गांजा को चारों ने उठाया और शास्त्री चौक पहुंचे। वहां से ऑटो में सवार हुए और टाटीबंध चौक पहुंचे। टाटीबंध से चारों दुर्ग जा रहे थे और फिर दुर्ग से दिल्ली के लिए ट्रेन में सवार होते। इससे पहले पुलिस ने धरदबोचा। आरोपियों ने पूछताछ में खुलासा किया है कि इससे पहले भी चार बार रायपुर आ चुके हैं और गांजे की बड़ी खेप ले जा चुके हैं।

narad yogi Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned