मंत्री को नहीं है वादे की सुध, कहा था खुद जेसीबी से तुड़वाउंगा टोलनाका

* जनता सबक सीखाने रोड में उतरने को तैयार, स्थानीय लोगों का आंदोलन शुरू

By: Deepak Sahu

Updated: 19 Apr 2019, 07:33 PM IST

 

रायपुर। मंदिर हसौद टोल प्लाजा को लेकर आंदोलन तेज हो रहा है। इसकी आंच क्षेत्रीय मंत्री तक भी पहुंच रही है। स्थानीय जनता का कहना है कि विधान सभा चुनाव के पहले टोल प्लाजा के मुद्दे को लेकर नगरीय प्रशासन मंत्री शिव डहरिया ने खुद कहा था कि मेरे क्षेत्र में यह अवैध टोल प्लाज नहीं शुरू होने दूंगा। मैं खुद खड़े होकर जेसीबी से इसे तोड़वाउंगा। ऐसा उन्होंने नकटा गांव व कई चुनावी सभा में कहा था।

अब जब यह आंदोलन ने जन अभियान का रुप धारण कर लिया है। इसकी शिकायत मुख्यमंत्री तक हो चुकी है लेकिन मंत्री अपने विधानसभा के लोगों की समस्या सुनने तक नहीं पहुंच रहे हैं। रायपुर और आरंग के बीच मंदिरहसौद से पहले टोल नाका निर्माण लगभग पूरा हो चुका है। लगातार विरोध के बाद भी निर्माण कार्य नहीं रोकने को लेकर अब लोग विरोध में सड़क पर उतरने को तैयार हैं। इसके लिए पूर्व जिला पंचायत सदस्य परमानंद जांगड़े के नेतृत्व में दर्जनों ग्रामीणों ने टोल प्लाजा का निर्माण रोकने की मांग कर रहे है।

 

अवैध रुपए से बन रहा है टोलप्लाजा

लोगों का कहना है कि क्षेत्र की जनता से एक ही सडक़ का दोहरा टैक्स लेना न्याय संगत नहीं है। राष्ट्रीय राजमार्ग अथॉरिटी के नियमों के मुताबिक टोल प्लाजा का निर्माण किया जाना चाहिए। रसनी और लखौली के बीच पहले से ही टोल प्लाजा संचालित है। इस टोल प्लाजा से मंदिर हसौद में नव निर्मित टोल प्लाजा की दूरी महज 14 किलोमीटर की है, जबकि गाइडलाइन के अनुसार 30 किलोमीटर दूर होना चाहिए था।

 

नहीं मिली रैली की अुनमति

स्थानीय लोगों ने हस्ताक्षर अभियान व 20 किलोमीटर रैली निकाल कर कलेक्टर के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन देने की अनुमति निर्वाचन आयोग से मांगी थी। अब तक निर्वाचन आयोग ने उन्हें अनुमति नही दी है।

 

बढ़ेगा महंगाई

टोल नाका का निर्माण किया जा रहा है, उसके पास 2 चौक और रेलवे क्रॉसिंग है। इसके चलते मंदिर हसौद से एयरपोर्ट जाने वाले मार्ग पर घंटों जाम लगा रहता है। यहीं पर रेलवे साइडिंग भी बनाया गया है। जहां कंपनियों का कच्चा माल तथा चावल और खाद की गाडियां भी खाली की जाती हैं। मुख्य बाजार, एचपी गैस प्लांट, हिंदुस्तान पेट्रोलियम, मोनेट, जिंदल का स्टील प्लांट भी है। इसलिए हर वस्तु की कीमत 10 फीसदी बढ़ जाएगी।

नगरी प्रशासन मंत्री शिव डहरिया का कहना है स्थानीय लोगों ने चुनावी रैलियों के समय मांग की थी। अब वर्तमान में कोई शिकायत आई नहीं आई है।

 

Show More
Deepak Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned