छत्तीसगढ़ में 1 मार्च से बनेंगे स्मार्ट कार्ड की तरह मुफ्त में आयुष्मान कार्ड

'आपके द्वार आयुष्मानÓ: राज्य में 65 लाख परिवार पात्र, गांवों-कस्बों में मुनादी, शहरों में शिविर लगाकर होगा प्रचार-प्रसार

By: Nikesh Kumar Dewangan

Published: 27 Feb 2021, 07:18 PM IST

रायपुर. प्रदेश में अब आयुष्मान कार्ड बनने जा रहे हैं। इस कार्ड को दिखाते ही राज्य के अनुबंधित सरकारी और गैर सरकारी अस्पतालों में शत-प्रतिशत नि:शुल्क इलाज मिलेगा। 1 मार्च से 31 मार्च 2021 तक प्रदेश के चॉइस सेंटर में नि:शुल्क कार्ड बनाएं जाएंगे। 25 फरवरी को आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जनआरोग्य डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना की राज्य नोडल एजेंसी ने इससे संबंधित गाइडलाइन सभी सीएमएचओ को जारी कर दी।

केंद्र सरकार के अभियान 'आपके द्वार आयुष्मानÓ अंतर्गत कार्ड बनाने की प्रक्रिया शुरू होने जा रही है। कांग्रेस सरकार के सत्ता में आते ही सरकार ने राज्य में राशन कार्ड के जरिए नि:शुल्क इलाज की घोषणा कर दी थी। जो अभी भी जारी है। मगर, यह देखा गया कि कार्ड होने से लोग ज्यादा संतुष्ट होते हैं कि उन्हें जरुरत के वक्त सरकारी सहायता मिलेगी। पूर्व में स्मार्ट कार्ड की तर्ज पर ही ये कार्ड बनने जा रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक प्रदेश में 65,49,159 परिवारों को इस अभियान का लाभ मिलेगा। केंद्र सरकार ने निर्देश दिए हैं कि इस अभियान के प्रचार-प्रसार के लिए मुनादी करवाएं, होर्डिंग्स, बैनर-पोस्टर, वॉल पेंटिंग और शिविरों का आयोजन करें। गाइडलाइन में कोरोना प्रोटोकॉल के पालन करने के निर्देश दिए गए हैं।

फर्जीवाड़ा रोकने कलेक्टर करेंगे निगरानी

पूर्व में स्मार्ट कार्ड बनाने में कई तरह की गड़बडिय़ां सामने आई थीं। फर्जीवाड़ा भी हुआ था। इन सबको देखते हुए इस अभियान में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी न हो, निगरानी का जिम्मा सीधे कलेक्टर को सौंपा गया है। कलेक्टर और जिला पंचायत सीईओ अपने स्तर पर टीमें गठित कर निगरानी रखेंगे।

50 हजार और 5 लाख तक की सहायता

केंद्र सरकार द्वारा आयुष्मान भारत योजना अंतर्गत हितग्राही बीपीएल परिवारों के लिए 5 लाख रुपए की सहायता प्रदान की जा रही है, राज्य सरकार द्वारा एपीएल परिवारों को अपने तहत 50 हजार रुपए की तक स्वास्थ्य सहायता दी जा रही है।

कब से कब तक

  • 01 से 31 मार्च 2021 तक
  • कहां बनेंगे- चॉइस सेंटर में, पूरी तरह नि:शुल्क
  • योजना- छत्तीसगढ़ में आयुष्मान भारत पीएम जनआरोग्य डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना का संचालन

ऐसे बना सकते हैं कार्ड

  • 1- व्यक्तिगत पहचान पत्र के लिए आधार कार्ड। पारिवारिक सदस्यता सत्यापन के लिए राशनकार्ड ले जाना होगा।
  • 2- प्रक्रिया पूरी होते ही पहले कागज वाला कार्ड मिलेगा, कुछ दिनों के संबंधित चॉइस सेंटर पर आपके कार्ड बन जाने की जानकारी भेजी जाएगी। वहां से बाद बायोमेट्रिक सत्यापन के बाद प्लास्टिक कार्ड जारी होंगे।
  • मंत्री ने दी जानकारी, योजना बंद नहीं हुई

एक सवाल के जवाब में 25 फरवरी को विधानसभा में स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि गलत बयानी हो रही है कि आयुष्मान भारत योजना बंद हो गई है, न स्मार्ट कार्ड बंद हुए हैं। सभी को डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना एवं आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत इलाज मिल रहा है।

स्वास्थ्य सेवाएं के संचालक नीरज बंसोड़ ने बताया कि केंद्र के निर्देश पर आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए सभी जिलों को गाइडलाइन जारी कर दी गई है। उद्देश्य सभी सभी परिवारों के कार्ड बनाने का है।

Nikesh Kumar Dewangan Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned