राम जी के ननिहाल की मिट्टी लेकर आयोध्या निकले मोहम्मद फैज, 5 अगस्त को प्रधानमंत्री करेंगे मन्दिर भूमि पूजन

फैज मे कहा शिलान्यास के एक दिन पूर्व में श्रीराम के जन्मभूमि अयोध्या पहुचकर , शिलान्यास में शामिल हो जाउगा। फैज ने बताया मुझे गर्व महसूस हो रहा है कि मै राम के मंदिर निर्माण काल में जन्म लिया हुं।

By: Karunakant Chaubey

Updated: 24 Jul 2020, 12:03 AM IST

रायपुर. अयोध्या में राम मंदिर निर्माण अगामी 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा भूमि पूजन कर मंदिर निर्माण की आधारशिला रखेंगे। राम के ननिहाल चंद्रखुरी में माता कौशिल्या के मंदिर से मोहम्मद फैज खान ने मिट्टी लेकर पदयात्रा का शुभारंभ किया। फैज 800 किमी का पदयात्रा कर मिट्टी को अयोध्या में राम मंदिर के आधारशिला में रखेगें।

मोहम्मद फैज ने बताया छत्तीसगढ़ प्रदेश को श्रीराम का ननिहाल माना जाता है ,तो राम के ननिहाल से शिलान्यास में मिट्टी लगने से प्रदेश की गौरव की बात होगी। साथ ही फैज ने बताया गुरुवार की सुबह पूरे विधी विधान से पूजा करने के बाद मंदिर परिसर से थोड़ा मिट्टी उठाकर माता कौशिल्या व राम का आर्शिवाद लेकर पदयात्रा की शुरुवात की है। फैज मे कहा शिलान्यास के एक दिन पूर्व में श्रीराम के जन्मभूमि अयोध्या पहुचकर , शिलान्यास में शामिल हो जाउगा। फैज ने बताया मुझे गर्व महसूस हो रहा है कि मै राम के मंदिर निर्माण काल में जन्म लिया हुं।

आपको बता दे मोहम्मद फैज खान जून 2017 में गायों की रक्षा के लिए पूरे भारत में पदयात्रा की शुरुवात किया था। 24 जून 2017 को लेह लद्दाख से पदयात्रा की शुरुवात किया था ,जिसका समापन 30 जनवरी 2020 को कन्याकुमारी में हुआ था।

पत्रिका टीम ने जब मोहम्मद फैज से पदयात्रा के प्रेरणा के बारे में पुछा तो उन्होने कहा हमारे भारत में जितने महापुरुष व भगवान हुए है सब पदयात्रा कर लोगों के बीच पहुचकर उनकी समस्या को सुना और समझा। फैज ने कहा मुझे भगवान राम गौतम बुद्ध,महावीर, स्वामी विवेकानंद से पदयात्रा का प्रेरणा मिला है। फैज ने भगवान राम के बारे में कहते हुए कहा जिस प्रकार राम ने महलों को छोड़कर वन में विचरण करते हुए समाज के बुराई को खत्म किया । वैसे ही आज के समय में अगर किसी को भारत के बारे में जानना है , पदयात्रा करने से ही जान सकते है।

आपको बता दें कि राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन 5 अगस्त को होना है । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद शिलान्यास करेंगे । इस कार्यक्रम में राम मंदिर आंदोलन से जुड़े नेताओं और संतों को बुलाया जाएगा । आमंत्रण की लिस्ट तैयार की जा रही है । कोरोना वायरस की वजह से 150 से 200 लोगों को ही आमंत्रित किया जाएगा ।

पांच अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अलावा गृहमंत्री अमित शाह, लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, राजनाथ सिंह, उमा भारती, कल्याण सिंह, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत समेत कई शख्सियतों को औपचारिक तौर पर आमंत्रण भेजा जाएगा ।

pm modi PM Narendra Modi Ram Mandir
Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned