कोरोना को दी मात, पर सांस-कमजोरी और नींद नहीं आने की शिकायत करने वाले मरीज ज्यादा

एम्स और आंबेडकर अस्पताल : ओपीडी में आने वाले एक तिहाई पोस्ट कोविड मरीज

By: Nikesh Kumar Dewangan

Published: 23 Feb 2021, 07:41 PM IST

रायपुर. प्रदेश में अब तक 309373 से ज्यादा कोरोना संक्रमित मिले हैं। इसमें से 302557 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। कोरोना को मात चुके अधिकांश लोगों में स्वास्थ्यगत समस्याएं सामने आ रही है। ऐसे मरीजों के इलाज के लिए एम्स और आंबेडकर अस्पताल में पोस्ट कोविड ओपीडी संचालित किया जा रहा है।

एम्स के कोविड वार्ड के नोडल ऑफिसर व पल्मोनरी मेडिसिन विभाग के डॉ. अजॉय बेहरा के मुताबिक, इन दिनों पोस्ट कोविड वाले मरीजों की संख्या काफी बढ़ गई है। कुल ओपीडी में एक तिहाई मरीज पोस्ट कोविड वाले रहते हैं। इनमें सांस, फेफड़ों की समस्या, फाइब्रोसिस, सूखी खांसी, कमजोरी जैसी अन्य परेशानियां रहती हैं। सबसे ज्यादा सांस, कमजोरी व नींद नही आने की शिकायत वाले मरीज रहते हैं। कोरोना के बाद आमतौर पर ऐसी समस्याएं सामने आती है। कोरोना को मात चुके लोगों को पूर्णत: सामान्य होने में कम से कम दो-तीन माह का समय लगता है। डॉ. बेहरा के मुताबिक, सोमवार की ओपीडी में उन्होंने 50 मरीज देखे थे, जिसमें से 20 से 25 मरीज पोस्ट कोविड वाले थे। पोस्ट कोविड ओपीडी में राजधानी के अलावा अन्य जिलों व प्रदेशों के भी मरीज आ रहे हैं। वहीं, आंबेडकर अस्पताल के रेस्पिरेटरी मेडिसिन विभाग की सहायक प्राध्यापक डॉ. देवी ज्योतिदास का कहना है कि रोजाना 8 से 10 मरीज पोस्ट कोविड वाले आ रहे हैं।

सुबह 8 से दोपहर 1 बजे तक जांच

आंबेडकर अस्पताल के मनोरोग विभाग के बाह्य रोगी कक्ष क्रमांक 341 तृतीय तल में संचालित विशेष पोस्ट कोविड केयर ओपीडी का समय प्रात: 8 बजे से दोपहर 1 बजे तक रहता है। इस बीच संबंधित मरीजों की जांच की जाती है। पोस्ट कोविड ओपीडी में दिखाने के लिए मरीज अपनी डिस्चार्ज स्लिप और सभी पुराने रिपोर्ट साथ लेकर आते हैं। डॉ. देवी ज्योतिदास का कहना है कि ऐसी स्थिति में इलाज में देर से स्थिति और खराब हो सकती है, इसलिए जिन्हें ऐसी परेशानी है तुरंत इलाज कराएं। कुछ मरीज सामान्य ओपीडी में भी इलाज कराने पहुंचते हैं।

एम्स, रायपुर के निदेशक डॉ. नितिन एम नागरकर ने बताया कि एम्स में पोस्ट कोविड ओपीडी संचालित की जा रही है। फेफड़ें के संक्रमित होने से सांस लेने में तकलीफ होती है, जो इलाज से धीरे-धीरे ठीक हो जाता है। पोस्ट कोविड के अलावा सामान्य ओपीडी में भी मरीजों की संख्या काफी बढ़ गई है।

Nikesh Kumar Dewangan Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned