छत्तीसगढ़ में 70 दिन बाद फिर 1000 से अधिक मरीज

कोरोना आउट ऑफ कंट्रोल : 24 घंटे में रायपुर में 310, दुर्ग में 281 संक्रमित

-60 दिन बाद एक्टिव 6000 पार

-18 मार्च 2020 को लंदन से आया था पहला कोरोना संक्रमित
प्रदेश में अब तक-

कुल संक्रमित- 320783
एक्टिव- 6025

डिस्चार्ज- 310838
मौतें- 3920

टेस्ट- 40,283

By: ramendra singh

Published: 19 Mar 2021, 12:39 AM IST

रायपुर. प्रदेश में कोरोना संक्रमण ने जो रफ्तार पकड़ी है, उससे स्पष्ट है कि स्थिति धीरे-धीरे अनियंत्रित होती चली जा रही है। ठीक 1 साल पहले, 18 मार्च 2020 को छत्तीसगढ़ में पहला कोरोना मरीज रिपोर्ट हुआ था। तब रायपुर तो दहशत में था ही, पूरे प्रदेश में हड़कंप मच गया था। मगर, 18 मार्च 2021 को 1066 मरीज रिपोर्ट होने के बावजूद डर नाम की कोई चीज ही नहीं है। तब जब यह वायरस 320783 लोगों को संक्रमित कर चुका है और 3920 जानें ले चुका है। गुरुवार को प्रदेश में 1066 मरीज मिले, जिसमें सर्वाधिक 310 मरीज रायपुर और उसके बाद 281 मरीज दुर्ग जिले से मिले। बिलासपुर में 77, सरगुजा में 60 और राजनांदगांव में 59 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई। बीते 24 घंटे में 4 और मरीजों ने दमतोड़ दिया। इन मरीजों के मिलने के साथ ही प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़ते हुए 6025 जा पहुंची हैं, जो 60 दिन पहले थी। हर बढ़ते दिन के साथ हालात बिगड़ते चले जा रहे हैं, बावजूद इसके खासकर कोरोना का हॉट स्पॉट बनती जा रही राजधानी रायपुर में कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के कोई ठोस कदम नहीं उठाए गए हैं।

ये आंकड़े डराते हैं
17 जनवरी 2021- आखिरी बार एक्टिव मरीज 6 हजार के पार पहुंचे

07 जनवरी 2021- आखिरी बार 1000 से अधिक मरीज रिपोर्ट हुए थे

क्या अब जरूरी नहीं है ठोस निर्णय-
1- शनिवार-रविवार को नाइट कफ्र्यू लगाया जाए।

2- प्रदेश की सीमा में दाखिल होने वालों को कोरोना टेस्ट रिपोर्ट दिखाना अनिवार्य किया जाए।
3- बिना मास्क के दुकानों में पहुंचे ग्राहकों और दुकानदारों पर जुर्माना या दुकानें सील की जाएं। 4- सभी आयोजनों पर पूर्णत: अनिश्चितकालीन प्रतिबंध लगाया जाए?

5- फिर से मॉल, क्लब, स्वीमिंग पुल, रेस्टोरेंट, जिम को बंद कर दिया जाए।
(- पत्रिका को ये सुझाव डॉक्टरों, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों और शहर के प्रमुख लोगों ने दिए हैं। इनका मानना है कि अब सख्त कदम उठाने का समय आ गया है।)

सिर्फ 11 दिनों में रिपोर्ट हुए 6463 मरीज-

तारीख- मिले मरीज
8 मार्च- 320

9 मार्च- 390
10 मार्च- 456

11 मार्च- 378
12 मार्च- 447

13 मार्च- 543
14 मार्च- 475

15 मार्च- 645
16 मार्च- 856

17 मार्च- 887
18 मार्च- 1066


टेस्ट बढ़ेंगे तो मरीज मिलेंगे

यह पूरी तरह से स्पष्ट हो गया है कि जितने ज्यादा टेस्ट होंगे, उतने ज्यादा मरीज मिलेंगे। बीते 10 दिनों से लगातार 30 हजार से अधिक टेस्ट हो रहे हैं। 2 बार आंकड़ा 40 हजार के पार जा पहुंचा है। राज्य की 7 सरकारी और निजी लैबों में जांच की सुविधा उपलब्ध है। पीएम नरेंद्र मोदी ने खुद राज्यों को आरपी-पीसीआर टेस्ट बढऩे के निर्देश दिए हैं।

प्राथमिकता टेस्ट बढ़ाने की
संक्रमण के फैलाव को रोकने के सभी अहतियातन कदम उठाए जा रहे हैं। पहली प्राथमिकता टेस्ट बढ़ाने की है, हम 40 हजार से अधिक टेस्ट कर रहे हैं। कांटेक्ट ट्रेसिंग को बढ़ाया जा रहा है।

नीरज बंसोड़, संचालक, स्वास्थ्य सेवाएं

ramendra singh Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned