रायपुर नगर निगम की खुली पोल, दुधारू गायों को पकड़कर बेचने का कर रहे काम

निगम की काऊ केचर टीम दुधारू गायों को पकड़कर बेच रहे दूसरों को, मवेशी मालिक ने की शिकायत .

रायपुर. शहर में सड़कों पर धमाचौकड़ी करने वाले मवेशियों की धरपकड़ के लिए निगम की काऊ कैचर टीम द्वारा अब दुधारू गायों को कांजी हाउस में पहुंचाने के बजाए बीच रास्ते में ही बेचने का नया मामला उजागर हुआ है। मामला शंकर में एक डेयरी संचालित करने वाले व्यक्ति की मवेशी से जुड़ा हुआ है।

निगम में की शिकायत के बाद अब इस मामले में जोन के अधिकारी भी चुप्पी साध लिए है। मवेशी मालिक ने इसकी शिकायत भाजपा पार्षद एवं निगम के पूर्व नेताप्रतिपक्ष सूर्यकांत राठौर से की है। जब भाजपा पार्षद ने भी जोन के अधिकारी से बात की तो गोलमोल जवाब मिला।

भाजपा पार्षद सूर्यकांत राठौर ने बताया कि पिछले दिनों में निगम के जोन तीन के अंतर्गत शंकर नगर में काऊ कैचर टीम ने अभियान चलाकर सड़कों पर घूम रहे मवेशियों को पकड़ा। इसमें एक व्यक्ति की 10 से 12 लीटर दूध देने वाली गाय भी शामिल थी।

काऊ कैचर टीम ने गाय को पकडऩे के बाद काऊ कैचर वाहन में रख तो लिए लेकिन गाय को कांजी हाउस तक नहीं पहुंचाया गया। मवेशी मालिक तुलसी यदु जब अपनी गाय को छुड़वाने के लिए निगम के कांजी हाउस पहुंचा तो वहां गाय नहीं मिली। इसके बाद उन्होंने जोन तीन के जोन कमिश्नर अरुण साहू से की। जिसमें उन्होंने लिखा है कि भूरा लाल रंग की उनकी गाय को 20 दिसंबर 2019 को दुर्गा मंदिर से दोपहर वाहन क्रमांक सीजी 04 डीटी 4762 से हितेश साहूा द्वारा ले जा गई। जब गाय को छुड़वाने के लिए कांजी हाउस पहुंचा तो गाय वहां नहीं मिली। अब जोन के कर्मचारी गोलमोल जवाब दे रहे है।

कोट्
सड़कों पर धमाचौकड़ी करने वाली मवेशियों को पकड़कर कांजी हाउस में रखने को कहा गया है। संबंधित मवेशी के मालिक द्वारा जुर्माना लेने के बाद मवेशी को वापस करने के निर्देश सभी जोनों को दिए गए हैं। शिकायत करने वाले व्यक्ति की गाय की खोज करवा रहे हैं।
अरुण साहू, जोन कमिश्नर, जोन तीन, नगर निगम रायपुर

Click & Read More Chhattisgarh News.

Show More
Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned