पूर्व सीएम के जाति मामले में आया नया मोड़, तत्कालीन नायब तहसीलदार का दावा- मैंने नहीं दिया प्रमाणपत्र

Ajit Jogi Caste issue: तत्कालीन नायब तहसीलदार ने सिविल न्यायालय में शपथपत्र दाखिल करते हुए कहा अजीत जोगी जिस जाति प्रमाण पत्र को प्रस्तुत कर रहे हैं वह झूठा और असत्य है।

By: Akanksha Agrawal

Updated: 05 Sep 2019, 09:13 AM IST

रायपुर. पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की जाति के विवाद में नया मोड़ आ गया है। तत्कालीन नायब तहसीलदार पतरस तिर्की ने बिलासपुर सिविल न्यायालय में शपथपत्र दाखिल करते हुए कहा है कि अजीत जोगी जिस जाति प्रमाण पत्र को प्रस्तुत कर रहे हैं वह झूठा और असत्य है। 84 वर्ष के पतरस तिर्की ने कहा है कि पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा वर्ष 1967-68 में मेरे नाम एवं हस्ताक्षर से जारी जाति प्रमाण पत्र का उपयोग होना दर्शाया गया है जबकि उस वक्त गौरेला पेंड्रा में नायब तहसीलदार का कार्यालय अस्तित्व में नहीं था। उन्होंने शपथपत्र में यह भी कहा है कि अजीत प्रमोद जोगी द्वारा जाति प्रस्तुत जाति प्रमाण पत्र मेरे द्वारा कभी जारी नहीं किया गया है।

यह है विवाद : अजीत जोगी की जाति को लेकर छिड़ा विवाद 23 अगस्त से फिर चर्चा में हैं। बता दें कि राज्य सरकार की हाईपावर कमेटी ने अजीत जोगी को आदिवासी नहीं माना है। कमेटी ने यह भी साफ किया है कि अब जोगी के लिए अनूसूचित जनजाति के लाभ की पात्रता नहीं होगी। इसके बाद बिलासपुर कलेक्टर की अनुशंसा पर 30 अगस्त को पूर्व मुख्यमंत्री के खिलाफ मुकदमा कायम कर लिया गया था, जिसके बाद जोगी हाईकोर्ट की शरण में चले गए थे। न्यायालय द्वारा राहत न मिलने के बाद पूर्व नायब तहसीलदार के इस शपथपत्र को पूर्व सीएम के लिए बड़े झटके के रूप में देखा जा रहा है।

जोगी बोले- झूठ बोल रहा है नायब तहसीलदार
पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने कहा कि नायब तहसीलदार झूठ बोल रहा है। जिस समय मैने प्रमाणपत्र बनवाया था उस समय वहां नायब तहसीलदार बैठते थे, उन्होंने मेरे ही नहीं हजारों लोगों का प्रमाणपत्र बनाया होगा।

इधर अदालत का आदेश, उधर पतरस का शपथपत्र
यह दिलचस्प है कि पतरस तिर्की ने जो शपथ पत्र न्यायालय को सौंपा है वह बुधवार का ही है। बता दें कि बुधवार को ही हाईकोर्ट ने अजीत जोगी के जाति मामले में यथास्थिति को बहाल रखने का आदेश दिया है। बता दें कि न्यायालय में झूठा शपथपत्र दाखिल करने पर सजा का प्रावधान है।

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर ..

LIVE अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News

एक ही क्लिक में देखें Patrika की सारी खबरें

Show More
Akanksha Agrawal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned