कोरोना का डर: राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय आयोजन रद्द... पर्यटकों की निगरानी के निर्देश

- ट्रेन की टिकटें भी करा रहे कैंसिल- रेल और प्लेन के भारी संख्या में टिकट करवाए गए रद्द

- राष्ट्रीय बाल आयोग की राज्यों को चिट्टी- वायरस को फैलने से रोकने के उठाएं कदम

By: Prashant Gupta

Published: 07 Mar 2020, 12:37 PM IST

रायपुर. कोरोना वायरस के खतरे के मद्देनजर शुक्रवार को कई प्रदेश स्तरीय, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय आयोजनों को स्थगित कर दिया गया। वहीं कुछ को रद्द करने का फैसला भी लिया गया। 8 मार्च, महिला दिवस के अवसर पर रायपुर स्थित इंडोर स्टेडियम में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की उपस्थिति में महिला सशक्तिकरण एवं सुपोषण पखवाड़ा कार्यक्रम होना था। इस आयोजन को रद्द कर दिया गया है। वहीं जांजगीर-चांपा में 13 से 15 मार्च तक आयोजित होने वाले जाज्वल्यदेव लोक महोत्सव एवं एग्रीटेक कृषि मेला 2020 को भी स्थगित कर दिया गया है।

बांग्लादेश में मार्च 2020 में आयोजित होने वाले भारत बनाम बांग्लादेश व्हीलचेयर क्रिकेट टूर्नामेंट स्थगित कर दिया गया है। छत्तीसगढ़ की मेजबानी में 18 से 24 अप्रैल तक रायपुर में होने वाली वल्र्ड स्कूल बास्केटबॉल थ्री बाई थ्री (अंडर 18) चैंपियनशिप भी कोरोना की भेंट चढ़ गई। यह टूर्नामेंट 18 से 24 अप्रैल तक रायपुर में होना था। 3 मार्च को सर्बिया (रूस) में हुई अंतरराष्ट्रीय स्कूल स्पोट्र्स फेडरेशन की बैठक में कई देशों ने कोरोना वायरस के कारण टूर्नामेंट में हिस्सा लेने इंकार कर दिया था। स्कूल शिक्षा विभाग में उप संचालक अनिल मिश्रा ने इसकी पुष्टि की है। दो साल पहले प्रदेश को टूर्नामेंट की मेजबानी मिली थी। इसमें 32 देशों के 500 खिलाड़ी हिस्सा लेते।

केंद्र ने सभी राज्यों को एडवाइजरी जारी की है कि कुछ दिनों के लिए सामूहिक आयोजनों को न करें। भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों में जानें से बचें। इसके साथ ही विदेशी पर्यटकों पर गंभीरता से नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं।

स्कूलों के लिए आज जारी होगी 'कोरोना एडवाइजरीÓ-प्रदेश में परीक्षाएं शुरू हो चुकी है। सैंकड़ों छात्र परीक्षा केंद्रों में जुट रहे हैं। मौजूदा परिस्थितियों के मद्देनजर ही राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग ने सभी राज्यों को पत्र लिखकर कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के उचित बंदोबस्त करने के निर्देश जारी किए हैं। शुक्रवार को 'पत्रिकाÓ से बातचीत में स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. आलोक शुक्ला ने कहा कि शनिवार को सभी स्कूलों में 'कोरोना एडवाइजरीÓ जारी कर दी जाएगी। पहली से लेकर 8वीं तक की सभी परीक्षाएं मार्च में खत्म हो रही हैं, तो वहीं 9वीं व 11वीं की परीक्षा अप्रैल में होगी।

मास्क विक्रेताओं को कार्रवाई की चेतावनी-

मौका का फायदा उठाते हुए दवाओं के थोक विक्रेताओं और मेडिकल स्टोर संचालकों द्वारा 3-4 रुपए में मिलने वाले मास्क को 20 रुपए तक में बेचा जा रहा है। इसकी शिकायतें सरकार तक पहुंची तो, ऐसे दुकानदारों पर कार्रवाई के आदेश जारी कर दिए गए। शुक्रवार को राज्य खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग के जिला उप संचालक ने दुकानदारों को हिदायत दी है कि नकली मॉस्क व अधिक दामों में मॉस्क की विक्रय बंद करें।

रोजाना 200 ट्रेन टिकट हो रहे रद्द- कोरोना वायरस के डर से जयपुर, दिल्ली, अहमदाबाद, कोलकाता की तरफ जाने वाली ट्रेनों के हर दिन करीब 200 टिकट रद्द करवाए जा रहे हैं। शुक्रवार को बिलासपुर-भगत की कोठी की 50 आरक्षित टिकट रद्द करवाई गईं। जयपुर में वायरस फैला हुआ है, इसलिए यहां जाने से यात्री कतरा रहे हैं। जिन यात्रियों ने टिकट रद्द करवाए हैं, उन्होंने इसका कारण जयपुर में होटल न मिलना बताया है। शुक्रवार को स्टेशन में कई यात्री मॉस्क लगाए हुए भी नजर आए। एयरपोर्ट में भी स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ा दी गई हैं। यहां पर आरएमए समेत एक पैरामेडिकल स्टाफ की और नियुक्ति की गई है। चौक-चौराहों में लगे सिग्नल के माध्यम से कोरोना वायरस से बचाव की जानकारी दी जा रही है।

पर्यटकों पर नजर रखने के निर्देश- केंद्र सरकार ने दिल्ली में सभी प्रदेशों के राज्य नोडल अधिकारियों को बुलाया है। प्रदेश से डॉ. महेंद्र गहवईं के साथ एम्स और पं. जवाहरलाल नेहरु मेमोरियल मेडिकल कॉलेज के प्रोफेसर भी गए हैं। इन्हें वहां पर प्रशिक्षण दिया जा रहा है। सभी से कहा गया है कि विदेशी पर्यटकों पर विशेष नजर रखें। जिला अस्पताल और स्वास्थ्य केंद्रों में भरपूर मात्रा में मास्कमास्क की पर्याप्त उपलब्धता- मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मीरा बघेल का कहना है कि मॉस्क समेत सभी दवाईयां बाजार में हैं। जिला अस्पताल व अन्य स्वास्थ्य केंद्रों में लॉजिस्टिक मानक प्रक्रिया के तहत वीटीएम कीट, एन-95 मॉस्क, व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण, ट्रिपल लेयर मॉस्क उपलब्ध हैं।

एम्स में छह घंटे में रिपोर्ट- एम्स के मेडिकल कॉलेज स्थित लैब में लगी मशीन से कोरोना की रिपोर्ट छह घंटे में ही मिल जा रही है। यहां मशीन से एक साथ 12 लोगों के सैंपल की जांच की जा सकती है। एम्स में एक और मशीन लगाने का प्रस्ताव है, जो इसी माह लग जाएगी। डिप्टी डायरेक्टर नीरेश शर्मा ने बताया कि २४ घंटे में चार सैंपल जांच हुई है। कोरोना के चलते यहां बायोमैट्रिक्स अटेंडेंस बंद कर दी गई है।

Prashant Gupta Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned