अगर आप भी रहते हैं नया रायपुर तो दावं पर है आपकी ज़िन्दगी

अगर आप भी रहते हैं नया रायपुर तो दावं पर है आपकी ज़िन्दगी

Deepak Sahu | Updated: 31 May 2019, 08:30:21 AM (IST) Raipur, Raipur, Chhattisgarh, India

नया रायपुर (Naya Raipur) में मंत्रालय से लेकर ज्यादातर विभागों के संचालनालयों की शिफ्टिंग हो चुकी है, लेकिन बड़ी दुर्घटना (Major Accident) पर काबू पाने फायर सिस्टम (Fire System) पर ध्यान नही दिया गया है

रायपुर. देश के पहले स्मार्ट सिटी माने जाने वाले अटल नगर (Nayaraipur) आगजनी की घटना पर काबू पाने के लिए अभी भी तैयार नही है। अटल नगर में फायर फाइटिंग सिस्टम (Fire system) और गाडिय़ों पर जब पड़ताल की गई तो चौकाने वाली जानकारियां सामने आई, जिसमे मुताबिक अटल नगर में फायर स्टेशन (Fire Station) तो बना दिया गया है, लेकिन फायर स्टेशन में एक भी गाड़ी नही है।

मतलब आगजनी की घटना पर नियंत्रण पाने के लिए अटल नगर विकास प्राधिकरण को 25 किमी. दूर नगर निगम रायपुर पर निर्भर रहना पड़ेगा। नया रायपुर में मंत्रालय से लेकर ज्यादातर विभागों के संचालनालयों की शिफ्टिंग हो चुकी है, लेकिन बड़ी दुर्घटना पर काबू पाने फायर सिस्टम पर ध्यान नही दिया गया है।

इस मामले में अटल नगर विकास प्राधिकरण और होमगार्ड के बीच विवाद भी चल रहा है। अटल नगर प्राधिकरण के अधिकारियों का कहना है कि फायर स्टेशन हमने बना दिया है, वही फायर ब्रिगेड गाडिय़ों के लिए होमगार्ड को बजट भी दिया गया,लेकिन गाड़ी अभी फायर स्टेशन में नही है। गाड़ी कब तक आएगी। इसकी जानकारी नही मिली है।

फ्लैट में उपकरण एक्सपायरी डेट के

अटल नगर के सेक्टर 27 में रहने वाले रहवासियों की जान भी खतरें में है। पत्रिका ने अपनी पड़ताल में पाया कि यहाँ जो उपकरण लगे हुए हैं, उसकी तकनीकी वैधता समाप्त हो चुकी है। मतलब आगजनी की घटना रोकने इन उपकरणों का इस्तेमाल करने पर इसके काम करने की गारंटी नही है।

यहाँ आगजनी से बचने के लिए फ़्लैट्स में ड्राई केमिकल पाउडर और कार्बन डाई आक्साइड के छोटे सिलेंडर है, लेकिन इसकी वैधता 2017 में ही खत्म हो चुकी है। फ़्लैट्स के रखरखाव की जिम्मेदारी छग हाउसिंग बोर्ड के जिम्मे हैं। रहवासियों की शिकायत है कि फायर फाइटिंग सिस्टम के लिए कई बार हाऊसिंग बोर्ड के अधिकारियों से शिकायत की गई लेकिन इस पर ध्यान नही दिया गया।

करोडों रुपये सौदर्यीकरण में खर्च

अटल नगर में करोड़ों रुपये सौंदर्यीकरण में खर्च कर दिया गया, लेकिन आगजनी सहित अन्य आपदाओं को रोकने के लिए जरूरी कदम नही उठाये गए हैं। अभी हाल ही में यहां सर्विलांस सिस्टम, डेटा सेंटर का शुभारंभ किया गया है।

अधिकारियों का कहना है कि महानदी और इंद्रावती भवन की डिजाइनिंग में फायर एक्जि़ट (Fire Exit) सहित भवनों के भीतर छोटे उपकरण लगे हैं, लेकिन बड़ी आगजनी को रोकने फायर ब्रिगेड की गाडिय़ों का फायर स्टेशन (Fire Station) में रहना जरूरी है।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned