अगले हफ्ते राजधानी में स्वच्छता परखने आएगी केंद्रीय टीम, रायपुर में बैनर-पोस्टर लगाने का काम शुरू

भिलाई, बिरगांव और बिलासपुर में सर्वे कर रही है टीम, अलग-अलग कैटेगरी में कुल 6 हजार अंक हैं, इस बार नहीं हुई वार्डों में प्रतियोगिता

रायपुर. स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 के सर्वे के लिए राजधानी की स्वच्छता परखने के लिए केंद्र से टीम अगले हफ्ते कभी भी आ सकती है। जानकारी के अनुसार केंद्र की टीम छत्तीसगढ़ के अन्य शहरों भिलाई, बिरगांव और बिलासपुर में सर्वे कर रही है। इसके बाद ही राजधानी रायपुर की साफ-सफाई का जायजा लेने टीम आ सकती है। क्योंकि, पिछली बार भी 18 जनवरी के आसपास ही टीम आई थी।
इधर, स्वच्छता सर्वेक्षण की तैयारी को लेकर नगर निगम ने भी चाक-चौबंद व्यवस्था करने में तैयारी शुरू कर दी है। निगम अमले द्वारा प्रमुख जगहों और चौक-चौराहों पर स्वच्छता सर्वेक्षण का पोस्टर- बैनर लगाना शुरू कर दिया गया है। निगम ने सभी विभागों के अधिकारियों-कर्मचारियों को स्वच्छता सर्वेक्षण के पूर्व तैयारियां करने के लिए ड्यूटी लगा दी है। किसी विभाग के कर्मचारियों को बैनर-पोस्टर लगाने तो किसी विभाग के कर्मचारियों को स्वच्छता एप के जरिए अधिक से अधिक फार्म लोगों से भरवाने को कहा गया है।
इस बार कुल 6 हजार अंक, पिछले बार 5 हजार अंक थे
स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 में इस बार अलग-अलग कैटेगरी में कुल 6 हजार अंक हैं।
जिसमें डायरेक्ट आब्जर्वेशन, सिटीजन फीडबैक, गारबेज फ्री सिटी और ओडीएफ प्लस, सर्विस लेवल प्रोग्रेस शामिल है। पिछली बार पांच हजार अंक थे। नगर निगम पिछली बार स्वच्छता रैंकिंग में 41वें स्थान पर थे।

किस कैटेगरी में कितने अंक
डायरेक्ट आब्र्जेवेशन - 1500
सिटीजन फीडबैक- 1500
गारबेज फ्री सिटी और ओडीएफ प्लस- 1500
सर्विस लेवल प्रोग्रेस - 1500

इस बार स्वच्छता रैंकिंग में निगम कहां कमजोर
स्वच्छता रैंकिंग 2020 की तैयारियों में नगर निगम दो प्रमुख कैटेगरी में कमजोर है। जिसमें प्रमुख रूप से प्रोसेसिंग और डिस्पोजल में निगम के ३५ प्रतिशत अंक कम हो सकते हैं। इसके अलावा सस्टेबल सेनीटेशन में भी २५ प्रतिशत नंबर कट सकते हैं। इसके बाद सिटीजन फीडबैक और डायरेक्टर आब्जर्वेशन में भी 25 से 30 नंबर कट सकते हैं।
इस बार नहीं हुई स्वच्छ वार्ड की प्रतियोगिता
पिछली बार की तरह इस बार नगर निगम ने स्वच्छ वार्ड, हॉस्पिटल, स्कूल-कॉलेज की प्रतियोगिता नहीं कराई है। निगम अधिकारियों का कहना है कि इस बार चुनाव के चलते निगम द्वारा प्रतियोगिता नहीं कराई जा सकी है। बहुत जल्दी प्रतियोगिता कराई जाएगी। निगम के अपर आयुक्त पुलक भट्टाचार्य ने बताया कि यह तो निगम की आंतरिक प्रक्रिया है। शीघ्र ही निगम की चुपचाप सर्वे करेगी और स्वच्छ वार्ड, हॉस्पिटल, स्कूल-कॉलेज सहित अन्य कैटेगरी में अवार्ड दिया जाएगा।

नगर निगम रायपुर महापौर, एजाज ढेबर ने बताया कि स्वच्छता सर्वेक्षण २०२० के लिए निगम की तैयारियां पूरी है। जहां-जहां कमी दिख रही है, उसे ठीक किया जा रहा है। पिछली बार की तुलना में इस बार रैंकिंग में काफी सुधार होगा। इस बार टॉप २० में जगह बनाने की पूरी कोशिश रहेगी।

Nikesh Kumar Dewangan Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned