एनजीटी के आदेश की खुलेआम उड़ाई जा रही धज्जियां, रोजाना 40 से 50 ट्रिप रेत का अवैध परिवहन

एनजीटी के आदेश के अनुसार 15 जून से 15 अक्टूबर तक पर्यावरण संरक्षण के लिए नदियों से रेत उत्खनन प्रतिबंध है। इसके बाद भी नियम कायदे को ताक पर रखकर शासन को राजस्व का नुकसान पहुंचाया जा रहा है। युवा नेता ने पत्र के माध्यम से सीएम भूपेश से मांग की है कि पर्यावरण संरक्षण और सवंर्धन की दिशा में कड़े कदम उठाते हुए अवैध रेत खनन को प्रतिबंध किया जाए।

By: Karunakant Chaubey

Updated: 29 Jun 2020, 06:09 PM IST

देवभोग. गरियाबंद जिले के शक्ति एप के जिला प्रभारी गोविंद नारायण रेंगे ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पत्र लिखकर रेत के अवैध परिवहन होने की जानकारी उन्हें दी है। युवा नेता ने अपने पत्र में जिक्र किया है कि देवभोग में एनजीटी के आदेश की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही है। स्थिति यह है कि बेधड़क होकर रोजाना 40 से 50 ट्रिप रेत का अवैध परिवहन किया जा रहा है।

शक्ति एप प्रभारी ने पत्र में जिक्र किया है कि एनजीटी के आदेश के अनुसार 15 जून से 15 अक्टूबर तक पर्यावरण संरक्षण के लिए नदियों से रेत उत्खनन प्रतिबंध है। इसके बाद भी नियम कायदे को ताक पर रखकर शासन को राजस्व का नुकसान पहुंचाया जा रहा है। युवा नेता ने पत्र के माध्यम से सीएम भूपेश से मांग की है कि पर्यावरण संरक्षण और सवंर्धन की दिशा में कड़े कदम उठाते हुए अवैध रेत खनन को प्रतिबंध किया जाए।

मौके पर एसडीएम को मिली तीन गाडिय़ां

एसडीएम अनुपम आशीष टोप्पो ने बताया कि अवैध रेत खनन की सूचना उन्हें मिली थी। जिसके बाद वे कुम्हडई घाट पर पहुंचे, जहां उन्होंने रेत से भरे एक वाहन के साथ ही दो अन्य खाली वाहन को नदी में पकड़ा। एसडीएम के मुताबिक एक ट्रैक्टर में रेत भरी हुई थी, बाकी अन्य दो ट्रैक्टर खाली थे। लेकिन ऐसा प्रतीत हो रहा है कि उसमें भी रेत का परिवहन किये जाने की तैयारी थी।

एसडीएम ने बताया कि मौके पर पंचनामा की कार्रवाई की जा रही है। इसके बाद नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। यहां बताना लाजमी होगा कि एनजीटी के आदेश को ताक में रखकर देवभोग क्षेत्र में हर रोज रेत का अवैध परिवहन धड़ल्ले से किया जा रहा था। वहीं प्रशासन के जिम्मेदार पद में बैठे अधिकारी कार्रवाई करने के बजाए हाथ पे हाथ धरे बैठे थे।

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned