अवैध उत्खनन में लगे ठेकेदार और उनके गुण्डों पर अब तक कार्रवाई नहीं

रेत का अवैध उत्खनन मामले में पुलिस में शिकायत करने पर पंचायत प्रतिनिधियों को पुलिस ने भी डंडा मारकर दौड़ाया था, शिकायक के बाद भी पुलिस ने ठेकेदार के लठैतों के विरुद्ध कोई कार्रवाई नहीं की है।

By: ashok trivedi

Published: 23 May 2020, 05:11 PM IST

नवापारा-राजिम. पारागांव में रेत उत्खनन क्या बुंदेलखण्ड की तर्ज पर चलेगा? बताया गया है कि बुंदेलखण्ड की रेत खदानों में लाठी, चाकू और बंदूक की नोक पर रेत खदानें चलाई जाती है। वहां कोई भी आए किसी से भी नहीं डरते। यहां तक की ठेकेदार के लठैत पुलिस व खनिज विभाग को भी कुछ नहीं समझते। जरूरत पडऩे पर उन्हीं लोगों के उपर चाकू, बन्दूक तान देते हैं। अब यहां भी ठेकेदार उसी तर्ज पर गुण्डे पाल रखे हैं।
ग्रामवासियों में भय का वातावरण बना हुआ है। उनका भय उस समय और बढ़ गया जब थाना में उसके खिलाफ शिकायत करने पहुंचे। तो शिकायतकर्ताओं पर ही टीआई ने लाठी चलाकर भगा दिया। इससे ग्रामवासियों में यह शंका घर कर गई कि पुलिस और रेत ठेकेदार की मिलीभगत है। यही कारण है कि पुलिस ने अभी तक रेत खदान के ठेकेदार और उनके गुण्डों के उपर अब तक कोई कार्यवाही नहीं की। पुलिस व्दारा कार्यवाही नहीं करने पर गांव में आक्रोश की चिंगारी लगी हुई है। पता नहीं कब वह शोला बन जाए।
विदित हो कि रेत खदान आबंटित होने के बाद आरआई व्दारा सीमंाकन कर उनका एरिया चिन्हित किया गया था और तीन ओर लाल झण्डे लगवा दिए गए थे। मगर आज वो सारे झण्डे गायब हैं। इससे अंदाजा नहीं लगाया जा सकता कि ठेकेदार को कहां तक का क्षेत्र स्वीकृत हुआ है। पंचायत प्रतिनिधियों ने भी ठेकेदार से अपने चिह्नित जगह पर तीनों ओर झण्डे लगाने की बात कही थी। मगर ठेकेदार ने उनकी बातों को अनसुना कर दिया। भाजपा के शासन काल में अभनपुर विधायक पर्यावरण की दुहाई देते हुए खदान बंद करने का प्रयास करते रहे। आज पारागांव में अवैध उत्खनन रोकने लोगों ने पुलिस में शिकायत की और उन्हें डण्डे पड़े, उसके बाद विधायक अब तक चुप क्यों?

ग्रामवासियों पर डंडे बरसाना गलत : धनेंद्र
क्षेत्रीय विधायक धनेन्द्र साहू ने कहा कि रेत खदान वालों को मुरुम खुदाई का अधिकार नहीं है। अगर ऐसा कर रहे हैं तो गलत है। इसके साथ ही इनके गुर्गों व्दारा ग्रामवासियों को लाठी, चाकू और बन्दूक दिखाकर डराया गया है तो इनकी रेत खदान को निरस्त कर पुलिस को इनके उपर कार्यवाही करनी चाहिए। पुलिस ने ग्रामवासियों एवं पंचायत प्रतिनिधियों के उपर जो डण्डे बरसाये हैं वह गलत है।
0 अवैध उत्खनन के संबंध में जांच के लिए आवेदन ग्रामीणों ने दिया है। उसे जांच के लिए दे दिया गया है।
राकेश ठाकुर, टीआई, नयापारा

ashok trivedi Desk/Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned