इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए रायपुर को छोड़ कहीं भी चार्जिंग स्टेशन नहीं

- रायपुर को छोड़कर और किसी भी जिले में चार्जिंग स्टेशन स्थापित नहीं
- जिलों में स्थापित करने के लिए ईईएसएल ने लिखी चिठ्ठी

By: Ashish Gupta

Published: 27 Nov 2020, 12:36 AM IST

रायपुर. इलेक्ट्रिक वाहनों के चार्जिंग के लिए रायपुर को छोड़कर और किसी भी जिले में चार्जिंग स्टेशन स्थापित नहीं है। नवा रायपुर में चार चार्जिंग स्टेशन और रायपुर में दो स्थानों पर यह सुविधा है, लेकिन बाकी जिलों में चार्जिग स्टेशन के लिए स्थानीय प्रशासन दिलचस्पी नहीं दिखा रहे हैं।

कोरोना काल में शादी, घटे बाराती, सादे समारोह में हो रहे हैं विवाह

दरअसल इलेक्ट्रिक वाहनों के चार्जिंग स्टेशन के लिए इनर्जी इफिसिएंशी सर्विसेज लिमिटेड (ईईएसएल) ने नगरीय प्रशासन विभाग को पत्र लिखा है। पत्र में नगर-निगमों में चार्जिंग स्टेशन स्थापित करने के लिए जगह चिन्हित करने व सहयोग मांगा गया है। अधिकारियों का कहना है कि चार्जिंग स्टेशन स्थापित होने के बाद लोगों में भी इलेक्ट्रिक वाहनों के प्रति जागरूकता आएगी व सुविधा मिलेगी।

युवती को झांसा देकर पुरुष मित्र और उसके साथियों ने किया सामूहिक दुष्कर्म

ईईएसएल के अधिकारियों ने बताया कि डीसी चार्जिंग स्टेशन की लागत 3-4 लाख रुपए हैं, वहीं मल्टीगन चार्जिंग (फॉस्ट चार्जर) की लागत 30 से 40 लाख रुपए हैं। नवा रायपुर के मंत्रालय परिसर में मल्टीगन चाजिंग स्टेशन स्थापित किया गया है। छत्तीसगढ़ के बाकी जिलों में भी अभी चार्जिंग स्टेशन स्थापित नहीं हो पाया है। इसके लिए कोशिशें जारी है। निगम व जिला प्रशासन को जिम्मेदारी उठानी चाहिए।

Ashish Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned