बारिश में सड़कें हुई लबालब, तालाब फिर भी खाली, करोड़ों खर्च करने के बाद भी नही बनी निस्तारी की सुविधा

बारिश में सड़कें हुई लबालब, तालाब फिर भी खाली, करोड़ों खर्च करने के बाद भी नही बनी निस्तारी की सुविधा

Deepak Sahu | Publish: Sep, 06 2018 10:48:47 AM (IST) Raipur, Chhattisgarh, India

अन्य तालाबों की तरह करबला तालाब भी भरी बरसात में शहरवासियों और स्थानीय प्रशासन से पानी की मांग कर रहा है

रायपुर . शहर के अन्य तालाबों की तरह करबला तालाब भी भरी बरसात में शहरवासियों और स्थानीय प्रशासन से पानी की मांग कर रहा है। तालाब के सौंदर्यीकरण के नाम पर स्थानीय प्रशासान ने पिछले साल ही करीब 20 लाख रुपए खर्च किया था।

लेकिन तालाब में बरसाती पानी आने की व्यवस्था नहीं करने के कारण तालाब में पानी बहुत ही कम है। तालाब किनारे बनाई गई पचरी तक पानी ही नहीं पहुंचा है। इस तालाब का सौंदर्यीकरण कलक्टर की देख-रेख में नगर निगम द्वारा किया गया है। चारों तरफ बाउंड्रीवाल बनाई गई है। लेकिन बरसात में आसपास के घरों की छतों का पानी तालाब तक पहुंचे इसकी कोई व्यवस्था नहीं की गई है। यही कारण है कि जो पानी तालाब में आना चाहिए था, वह नालों और नालियों में बह गया।

...तो तालाब हो जाएगा लबालब
स्थानीय प्रशासन तालाब में पानी आने की व्यवस्था करें, तो तालाब बरसात में लबालब रहेगा। साथ ही गर्मी में भी तालाब नहीं सूखेगा। स्थानीय प्रशासन को आसपास के कॉलोनियों और मोहल्लों के बरसाती पानी आने की व्यवस्था करनी पड़ेगी, तभी तालाब का अस्तित्व बचा रहेगा और तालाब में पानी लबालब भरा रहेगा।

झाड़-झंखाड़ की भरमार
सौंदर्यीकरण करने के बावजूद तालाब इस समय बदहाल स्थिति में है। तालाब के किनारे झाड़-झंखाड़ उग गए है। इसके अलावा तालाब के अंदर जलकुंभी और गाजर-घास की भी भरमार है। इस कारण से तालाब बदसूरत नजर आने लगा है। करीब चार एकड़ में फैले तालाब पार में छोटे-छोटे विसर्जन कुंड भी नहीं बनाए गए है। इस वजह से आस-पास के लोग धार्मिक अनुष्ठानों का कचरा भी तालाब किनारे फेंक रहे हैं। इससे तालाब और बदसूरत दिख रहा है। आस-पास के लोगों का भी कहना है कि तालाब में पहले बहुत पानी रहता था, क्योंकि बरसात में आस-पास के इलाकों का पानी तालाब में ही आता था। इससे तालाब में गर्मी में निस्तारी लायक पानी भरा रहता है। लेकिन पिछले कुछ वर्षों से तालाब गर्मी में सूख जाता है। इससे आस-पास की कॉलोनियों के बोरवेल का भी जलस्तर काफी नीचे चला जाता है।

नगर निगम के आयुक्त रजत बंसल ने कहा कि शहरभर के तालाब में बरसाती पानी पहुंचाने के लिए एक कार्ययोजना बनाई जा रही है, जिन तालाबों में नालों और नालियों का पानी आ रही है, उसे ट्रीटमेंट कर तालाब में पहुंचाने के लिए एसटीपी लगाने का प्लान है।

Ad Block is Banned