उत्तर दिशा के द्वार होते हैं लाभकारी, आती है बरकत

जल तत्व के स्थान पर जब भी जल तत्व होगा तो उस कोण की प्रवृति को बड़ा देगा। इसलिए उत्तर दिशा में रखा हुआ पानी के बर्तन से आपको लाभ ही मिलेगा।

By: bhemendra yadav

Published: 22 Jun 2020, 01:04 AM IST

जल तत्व के स्थान पर जब भी जल तत्व होगा तो उस कोण की प्रवृति को बड़ा देगा। इसलिए उत्तर दिशा में रखा हुआ पानी के बर्तन से आपको लाभ ही मिलेगा । उत्तर दिशा की द्वारा लाभकारी होता है। इससे सुख, शांति और समृद्धि में वृद्वि होती है। जानिए उत्तर दिशा में होने के क्या हैं मायने-

- अगर छत के ऊपर पानी की बड़ी टंकी उत्तर दिशा में रखी हो तो वो वास्तु दोष के अंर्तगत आता है। इसकी केवक एक ही वजह है कि उत्तर दिशा में अलग से वजनी वस्तुएं नहीं रखनी चाहिए।

- वास्तु शास्त्र में अतिथि /मित्र या शत्रु का विचार वायव्य कोण से करते हैं । उत्तर दिशा से धन और व्यापार वृद्धि देखते हैं इसलिए उत्तर में रखे हुए पानी से अतिथि के उपर कैसे प्रभाव पड़ेगा। यह मेरी समझ से परे है

- उत्तर दिशा से करियर भी देखते हैं इसलिए उत्तर में रखा हुआ पानी विकास ही देगा ।

- यदि मुख्यद्वार उत्तर में हो । ईशान कोण में शौचालय हो तो जल का आगमन भी ईशान कोण से हो और पानी की टंकी भी इसी दिशा में होनी चाहिए।

इनका भी है महत्व

- उत्तर दिशा में आपके घर का मुख्य द्वार लाभदायक होता है ।

- उत्तर में यदि शौचालय है तो गम्भीर दोष है। इसे समय रहते इसका मुख मोड़ देना चाहिए।

- इशान से जल निकासी कोई दोष नहीं है - इशान में छत के ऊपर पानी की टंकी में कोई दोष नहीं है। इसे नेरित्य कोण में बनाए रखे।

bhemendra yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned