दिनोंदिन बढ़ रही संख्या: पीलिया के 28 नए केस, 342 तक पहुंचा मरीजों का आंकड़ा

गुरुवार को 126 संभावित मरीजों का ब्लड सैंपल जांच के लिए भेजा गया था, जिसमें से 28 पीडि़त पाए गए। जिला अस्पताल में अब तक 128 पीलिया के मरीज भर्ती हो चुके हैं, जिसमें से 50 डिस्चार्ज को डिस्चार्ज किया जा चुका है। शहरी स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को 391 घरों का भ्रमण किया। प्रभावित क्षेत्रों में लगे शिविरों में 201 मरीज देखे गए।

By: Karunakant Chaubey

Published: 18 Apr 2020, 04:25 PM IST

रायपुर. राजधानी में स्वास्थ्य विभाग की लाख कोशिशों के बावजूद पीलिया के मरीजों की संख्या दिन-प्रतिदिन बढत़ी जा रही है। यह आंकड़ा अब 342 तक पहुंच गया है, जबकि 87 लोगों का ब्लड सैंपल जांच के लिए जिला अस्पताल भेजा गया है। शुक्रवार को पीलिया के 28 नए मरीज मिले। गुरुवार को 126 संभावित मरीजों का ब्लड सैंपल जांच के लिए भेजा गया था, जिसमें से 28 पीडि़त पाए गए। जिला अस्पताल में अब तक 128 पीलिया के मरीज भर्ती हो चुके हैं, जिसमें से 50 डिस्चार्ज को डिस्चार्ज किया जा चुका है। शहरी स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को 391 घरों का भ्रमण किया। प्रभावित क्षेत्रों में लगे शिविरों में 201 मरीज देखे गए।

गौरतलब है कि स्वीपर कॉलोनी आमारापारा से शुरू हुआ पीलिया का प्रकोप खोखोपारा, विजय नगर कचना क्रॉसिंग के पास, भैरवनगर मठपुरैना, बीएसयूपी सड्डू, बजंर पारा, मस्जिदपारा मोवा, एकता चौक सड्डू, स्कूल पारा दलदल शिवनी, खपराभट्टी, चगोराभाठा, शिवनगर, अटारी (नंदनवन), भाठापारा टाटीबंध और बीएसयूपी भाठागांव में फैल चुका है। इन प्रभातिव क्षेत्रों में 3 अप्रैल से अब तक पीलिया के 342 मरीज मिल चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने शहर के 6 जगहों पर लगे स्वास्थ्य शिविर का जायजा लिया।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) डॉ. मीरा बघेल ने शहरी कार्यक्रम प्रबंधक स्वतंत्र राहंगडाले के साथ बाल्मिकी नगर (कबीर नगर) क्षेत्र का भ्रमण किया। सीएमएचओ ने जिला अस्पताल से डिस्चार्ज होकर आए मरीजों के घर जाकर उनसे चर्चा की। स्वास्थ्य अमले एवं मितानिन को मरीजों का ध्यान रखने एवं आवश्यक स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने निर्देशित किया। राज्य कार्यक्रम प्रबंधक प्रदीप टंडन ने पीलिया प्रभावित क्षेत्र आमापारा मंगल बाजार का निरीक्षण किया।

यहां करा सकते हैं जांच

सामुदायिक भवन चंगोराभाठा, दलदल सिवनी के एकता चौक स्थित गवर्नमेंट स्कुल के पास आगनबाड़ी में, वार्ड नबर-1 अटारी, स्वास्थ्य सुविधा केंद्र मंगल बाजार सामुदायिक भवन, डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी सांस्कृतिक भवन बड़ी पानी टंकी के नीचे मठपुरैना, शिवनगर मठपुरैना।

दूषित पानी के सेवन से बचे

शहरी कार्यक्रम प्रबंधक अंशुल थुद्गर के साथ संभागीय संयुक्त संचालक डॉ. सुभाष पाण्डे ने आमापारा और चंगोराभाठा का भ्रमण कर स्वास्थ्य अमले को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने लोगों से अपील किया कि दूषित पानी के सेवन से बचे। पानी को 20 मिनट उबालकर पीएं तथा स्वास्थ्य विभाग द्वारा वितरित की जा रही क्लोरीन के टेबलेट का उपयोग करें।

शहरी कार्यक्रम के अंतर्गत पदस्थ एएनएम व मितानिन घर-घर जाकर दूषित पेयजल व खानपान से बचाव की सलाह व दवाएं दे रही हैं। स्वास्थ्य शिविर भी लगाए गए हैं। पीडि़तों का जिला अस्पताल में इलाज कराया जा रहा है।

-डॉ. मीरा बघेल, सीएमएचओ, रायपुर

COVID-19
Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned