scriptOmicron threat: 66 NRIs landing in Raipur in 8 days | ओमिक्रॉन का खतरा: 8 दिन में 66 एनआरआई की रायपुर में लैंडिंग | Patrika News

ओमिक्रॉन का खतरा: 8 दिन में 66 एनआरआई की रायपुर में लैंडिंग

ओमिक्रॉन के खतरे (Omicron Threat) के बीच 28 नवंबर से 5 दिसंबर के बीच छत्तीसगढ़ में 66 ऐसे भी नागरिकों (एनआरआई) ने रायपुर एयरपोर्ट पर लैंडिंग की है, जो दूसरे देशों की नागरिकता ले चुके हैं।

रायपुर

Updated: December 07, 2021 01:18:41 am

रायपुर. ओमिक्रॉन के खतरे (Omicron Threat) के बीच 28 नवंबर से 5 दिसंबर के बीच छत्तीसगढ़ में 66 ऐसे भी नागरिकों (एनआरई) ने रायपुर एयरपोर्ट पर लैंडिंग की है, जो दूसरे देशों की नागरिकता ले चुके हैं। पत्रिका को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक इनमें कुछ मल्टीनेशनल कंपनियों के रिप्रेजेंटेटिव्स हैं जो प्रोजेक्ट के सिलसिले में आए हैं। छात्रों के अलावा कुछ ऐसे भी जिनका जन्म छत्तीसगढ़ में हुआ मगर ये विदेश में जा बसे। इनके पास विदेशी नागरिकता है, तो क्या ये लोग खतरा नहीं है? ऐसे हालात में जब नए वैरिएंट ने पूरी दुनिया को दोबारा से सकते में ला दिया है।
coronavirus.jpg
ओमिक्रॉन का खतरा: 8 दिन में 66 एनआरआई की रायपुर में लैंडिंग
छत्तीसगढ़ स्वास्थ्य विभाग को केंद्र सरकार ने बीते 8 दिनों में जो सूची सौंपी है उनमें 492 भारतीय नागरिक हैं, जो छत्तीसगढ़ के रहने वाले हैं जो आ चुके हैं। इनमें 66 विदेशी नागरिक भी हैं। इन सभी को जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त टीमों द्वारा खोजा जा रहा है। सैंपलिंग की जा रही है। मगर, इनमें भी अभी कई नागरिकों की जानकारी नहीं मिल पाई है।
यह भी पढ़ें: Pregnancy Tips: प्रेगनेंसी में इन खास बातों की न करें अनदेखी, हो सकता है नुकसान

इन जिलों में सर्वाधिक विदेशी नागरिक
विदेशी नागरिकों में से 23 ने रायपुर, 19 ने दुर्ग, 4 ने धमतरी, 4 ने कोरबा, 3 ने रायगढ़ के अलावा बाकियों ने गरियाबंद, राजनांदगांव, कांकेर, बिलासपुर का पता दिया है। जो इनके पासपोर्ट में दर्ज है।
रिपोर्ट आने में अभी एक हफ्ता और
विदेश से लौटने के बाद बिलासपुर के जिन 2 लोगों की कोरोना की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, उनके सैंपल जांच के लिए भुवनेश्वर लैब भेजे गए हैं, रिपोर्ट संभवता: 5-7 दिन में आ सकती है। अगर, व्यक्ति ओमिक्रॉन से संक्रमित पाया गया तो लैब सीधे फोन पर सूचना देगी। बाकि अब तक जितने भी नागरिकों की जांच हुई है, इनमें से किसी में कोरोना की पुष्टि नहीं हुई है।
यह भी पढ़ें: ओमिक्रान को लेकर सरकार ने लिया बड़ा फैसला, यात्रियों को दिखाना होगा अब वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट

प्रदेश में 44 मरीज मिले, कोरबा में सबसे ज्यादा 10
इधर, प्रदेश में रोजाना मिलने वाले कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या अब 40 से ऊपर पहुंच रही है। शनिवार को 44 मरीज मिले, रविवार को छुट्टी की वजह से कम टेस्ट में 25 मरीज मिले और सोमवार को एक बार 22 हजार से ज्यादा टेस्ट में 44 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई। इनमें सर्वाधिक 10 मरीज कोरबा में मिले। बलरामपुर में 6, जशपुर में 5, दुर्ग में 5 और रायपुर में 4 मरीज मिले। तो वहीं 6 जिलों में एक्टिव मरीजों की संख्या शून्य जा पहुंची है, यानी ये जिले एक बार फिर कोरोना मुक्त हो गए हैं। राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर अब 337 हो गई है।
1 करोड़ लोगों को लगे सेकंड डोज- प्रदेश में शनिवार को लक्षित आबादी 1.96 करोड़ में से 50 प्रतिशत आबादी को दोनों डोज लग गए। सोमवार को स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आंकड़े के मुताबिक 1.022 करोड़ को दोनों डोज लग गए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.