पहले दिन ही खुले सिर्फ 40 आंगनबाड़ी केंद्र, पोषण आहर खाकर वापस लौट गए बच्चे

कोरोना के चलते 14 मार्च से आंगनबाडिय़ों का संचालन बंद था। ऐसे में घर सूखा राशन पहुंचाया जा रहा था। बच्चों के पोषण स्तर को बनाए रखने के लिए यह व्यवस्था प्रभावी नहीं है। परिजनों का कहना है कि स्कूल, कॉलेज व अन्य शैक्षणिक और कोचिंग संस्थान 30 सितंबर तक बंद रखे गए हैं।

By: Karunakant Chaubey

Updated: 07 Sep 2020, 10:59 PM IST

रायपुर. सरकार के आदेश के बाद सोमवार से जिले के 40 आंगनबाड़ी ही खुल पाए हैं। जिसमें लगभग २०० बच्चे ही पहुंचे हैं। जिनमें से आधे बच्चे पोषण आहर खाकर वापस चले गए। विभाग ने नगर निगम क्षेत्र के आंगबाडि़यों को बंद रखने का निर्णय लिया था। ग्रामीण इलाकों में आंगनबाड़ी केंद्रों को सेनिटाइज करने के बाद ही खोला गया। जिले में कोरोना के कहर को बढ़ता देख बच्चों के माता-पिता उन्हें आंगबाड़ी भेजने में कतरा रहे हैं।

कोरोना के चलते 14 मार्च से आंगनबाडिय़ों का संचालन बंद था। ऐसे में घर सूखा राशन पहुंचाया जा रहा था। बच्चों के पोषण स्तर को बनाए रखने के लिए यह व्यवस्था प्रभावी नहीं है। परिजनों का कहना है कि स्कूल, कॉलेज व अन्य शैक्षणिक और कोचिंग संस्थान 30 सितंबर तक बंद रखे गए हैं। एेसे में आंगनबाड़ी केंद्रों को खालना उचित नहीं है। जबकि खुद शासकीय आदेश में 65 वर्ष से अधिक, 10 वर्ष से कम और गर्भवती महिलाओं को घर में ही रहने की सलाह दी गई है।

विभाग ने की थी तैयारी

पहले दिन दोपहर का पोषण आहार पहले की तरह गरम भोजन के रूप में दिया गया। कंटेनमेंट जोन वाले केंद्रों को बंद रखा गया। ट्रेनिंग देने, सोशल डिस्टेंसिंग के लिए गोला भी बनाया गया हैं। केंद्र खोलने से पहले 3 से 6 सितंबर तक सैनिटाइज भी किया गया था।

पंचायत के जनप्रतिनिधी अडे

जिले कई पंचायतें एेसी हैं जिनके जनप्रतिनिधियों, सरपंचों ने आगनबाड़ी का ताला ही खोलने नहीं दिया। जिला पंचायत सीईओ की समझाइश के बाद मंगलवार को ग्राम पंचायत की बैठक में यह फैसला लिया जाएगा कि आंगबाड़ी खोले जाएंगे या नहीं।

कई जगहों पर सरपंचों ने आंगनबाड़ी खोलने का विरोध किया है। जिला पंचायत सीईओ को इसकी जानकारी देदी गई है। जिन इलाकों में कोरोना संक्रमित नहीं मिले है वहां के सभी आंगनबाड़ी खोले जाएंगे।
-अशोक कुमार पांण्डेय, जिला कार्यक्रम अधिकारी, महिला एवं बाल विकास विभाग

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned