जिस अफसर के यहां छापे में मिली अकूत संपत्ति, पत्नी भी निकली करोड़ों की आसामी

जिस अफसर के यहां छापे में मिली अकूत संपत्ति, पत्नी भी निकली करोड़ों की आसामी

Ashish Gupta | Publish: May, 12 2019 05:13:04 PM (IST) | Updated: May, 12 2019 05:13:05 PM (IST) Raipur, Raipur, Chhattisgarh, India

राज्य आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो की टीम आबकारी विभाग के ओएसडी समुंद्र सिंह द्वारा की गई विदेश यात्राओं की जानकारी जुटा रहा है। इस संबंध में केंद्र सरकार को पत्र लिखा गया गया है। इसकी जानकारी मांगी गई है।

रायपुर. राज्य आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो की टीम आबकारी विभाग के ओएसडी समुंद्र सिंह द्वारा की गई विदेश यात्राओं की जानकारी जुटा रहा है। इस संबंध में केंद्र सरकार को पत्र लिखा गया गया है। इसमें समुंद्र सिंह द्वारा कितने देशों की यात्रा की गई, उनके साथ कौन-कौन गया था, यह यात्रा कब और कितनी अवधि के लिए थी। इसकी जानकारी मांगी गई है।

रिपोर्ट के आधार पर उनके साथ यात्रा करने वालों को तलब किया जाएगा। ईओडब्ल्यू की अधिकारियों ने आशंका जताई है कि अधिकांश यात्राओं की जानकारी विभाग को बिना बताए की गई थी। अपने निजी यात्राओं का भुगतान शासन के खाते से किया गया था।

ये भी पढ़ें: मदर्स डे: बेटी ने मां और पिता की अर्थी को दिया कंधा और चिता को दी मुखाग्नि

बता दें कि आबकारी विभाग में भ्रष्टाचार कर करोड़ों रुपए अर्जित करने वाले समुंद्र सिंह का पासपोर्ट ईओडब्ल्यू को मिला है। क्षेत्रीय पासपोर्ट विभाग द्वारा इसकी पुष्टि की गई है। 27 अपै्रल को छापेमारी के बाद से वह अपनी पत्नी सहित फरार है। इसे देखते हुए ईओडब्ल्यू द्वारा देश छोड़कर जाने की आशंका जताई है।

संपत्ति का नहीं दिया ब्यौरा
सामान्य प्रशासन विभाग को समुंद्र सिंह द्वारा सेवाकाल के दौरान चल-अचल संपत्ति का ब्यौरा नहीं दिया गया था। छापेमारी के दौरान 15 करोड़ रुपए के अधिक की संपत्ति मिली थी। इसकी जानकारी तक विभाग के पास नहीं है। बताया जाता है कि सेवानिवृति के बाद 9 वर्ष तक संविदा अवधि में करोड़ों रुपए अर्जित किए गए थे। बता दें कि शासकीय कर्मचारियों और अधिकारियों को सेवा शर्तों के तहत अपनी चल-अचल संपत्ति का सामान्य प्रशासन और अपने विभाग को देना अनिवार्य है।

ये भी पढ़ें: मदर्स डे: दो बेटों के दर्द को भुला पाती मां की उससे पहले हो गई ये अनहोनी, तीसरा बेटा भी...

बिना आय पत्नी करोड़पति
समुंद्र सिंह की पत्नी आय का साधन नहीं होने के बाद भी करोड़पति होने के संबंध में दस्तावेज मिले हैं। समुंद्र सिंह ने अपने सेवाकाल के दौरान सामान्य प्रशासन विभाग को बताया था कि वह अपने परिवार में अकेला कमाने वाला व्यक्ति है। जबकि उसने गलत जानकारी देते हुए पत्नी की आय को छिपाया। यह आय का साधन क्या था इस तमाम बातों की ईओडब्ल्यू जांच कर रही है।

जानकारी मांगी
ईओडब्ल्यू एसपी दीपक झा ने कहा, पासपोर्ट मिलने के बाद समुंद्र सिंह द्वारा किए गए विदेश यात्राओं की जानकारी जुटाई जा रही है। इस संबंध में जल्दी ही केंद्र सरकार को पत्र लिखा जाएगा।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned