बॉडी बनाने के लिए तीन माह में ली 19 लाख की दवाएं, अब वेंटिलेटर पर पहुंची जिंदगी

बॉडी बिल्डिंग करने वाला संदीप सिंह इतना जुनूनी था कि उसने तीन माह में इंजेक्शन और दवाई पर लाखों रुपए खर्च कर दिए।

रायपुर. बॉडी बिल्डिंग (Body Building) करने वाला संदीप सिंह इतना जुनूनी था कि उसने तीन माह में इंजेक्शन और दवाई पर लाखों रुपए खर्च कर दिए। ज्यादातर पैसा ग्रोथ हार्मोंस और स्टेराइड के इंजेक्शन व दवा खरीदने में खर्च कर दिए। संदीप के पिता मोहन सिंह ने बताया कि संदीप बॉडी बनाने के लिए आरोपियों द्वारा बताए दवाओं और इंजेक्शन खरीदने में 19 लाख रुपए खर्च कर दिए हैं। मसल्स बढ़ाने के लिए ग्रोथ हार्मोन्स और स्टेराइड का ओवर डोज लेने से उसकी तबीयत बिगड़ गई है और वह वेंटिलेटर पर है। अस्पताल में उसे दूसरे दिन भी होश नहीं आया। न्यूरोलॉजिस्ट, मेडिसीन, साइकाइट्रिस्ट सहित आधा दर्जन विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम उसका उपचार कर रही है।

शुक्रवार को संदीप अचानक बहुत आक्रामक हो गया। उसे दिखाई देना बंद हो गया और बोलने में परेशानी होने लगी। कुछ देर में ही वह कोमा जैसी स्थिति में चला गया। उसे सुयश अस्पताल में भर्ती कराया गया। इसके बाद उसके पिता मोहन ने फिटनेस ट्रेनर सुमीत राय चौधरी और सलाह देने व दवा बेचने वाले मुंबई के नीलेश परमार के खिलाफ अपराध दर्ज कराया। सुमीत को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है, लेकिन नीलेश की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। सोमवार को पुलिस की एक टीम मुंबई रवाना हो गई।

डॉक्टर बोले बहुत खतरनाक है इतना डोज
सुयश अस्पताल के डॉक्टर विवेक केसरवानी ने बताया कि इंजेक्शन और दवाई की जितनी मात्रा संदीप ने ली है, अगर उतनी ही मात्रा आम इंसान ले, तो उसकी मौत निश्चित है। ग्रोथ हार्मोंन्स और स्टेराइड की दवाएं जरूरतमंदों को ही दी जाती है और अधिकृत विक्रेताओं से डॉक्टर की पर्ची से ही खरीदा जा सकता है।

ओवरडोज से दिमाग, किडनी-लीवर प्रभावित
दवाओं और इंजेक्शन के कारण उसके दिमाग, लीवर और किडनी पर बुरा असर पड़ा है। तीनों अंग का संतुलन बिगड़ गया है और काम करना कम कर दिया है। युवक के दिमाग पर ज्यादा असर पड़ा है, जिससे वह कोमा की स्थिति में पहुंच गया है।

6 बार मिस्टर छत्तीसगढ़ रह चुका है आरोपी
संदीप को बॉडी बिल्डिंग की ट्रेनिंग देने वाला और आरोपी सुमीत राय चौधरी छह बार बॉडी बिल्डिंग में मिस्टर छत्तीसगढ़ रह चुका है। इसके अलावा नेशलन स्तर की स्पर्धाओं में भी हिस्सा ले चुका है।

आजाद चौक रायपुर के टीआई केके बाजपेयी ने बताया कि आरोपी के खिलाफ फिलहाल और किसी युवक ने शिकायत नहीं की है। दूसरे आरोपी की तलाश की जा रही है। पीडि़त युवक की हालत स्थिर बनी हुई है।

इंटरनेशनल बॉडी बिल्डर की सलाह : दवाओं के चंगुल में न फंसे युवा
राज्य के पूर्व अंतरराष्ट्रीय बॉडी बिल्डर और निर्णायक संजय शर्मा ने बताया कि शरीर के सभी तरह के हार्मोन्स और विटामिन उपलब्ध हैं, जो धीरे-धीरे बच्चे के बड़े होने के साथ विकसित होते हैं। प्राकृतिक खाने में सभी आवश्यक चीजें उपलब्ध होती हैं, जिन्हें नियमित और भरपूर मात्रा में लेकर मसल्स वाला शरीर आसानी से बनाया जा सकता है। इसलिए युवाओं को अपना शरीर बनाने के लिए थोड़ा धैर्य रखना चाहिए। उन्हें जल्दबाजी में फूड सप्लीमेंट और दवाओं का सेवन नहीं करना चाहिए है। धीरे-धीरे परिश्रम और नियमित रूप में व्यायाम करने के एक अच्छा मजबूत शरीर तैयार किया जा सकता है।

वर्तमान में अधिकतर जिमों के ट्रेनर युवाओं को प्रशिक्षण देते हैं, वे न तो फूड विशेषज्ञ होते हैं और न ही उन्हें शक्ति वर्धक दवाओं के संबंध में कोई डिग्री हासिल होती है। वर्तमान में रायपुर में 100 से अधिक जिम है, जिसमें अधिकतर में विशेषज्ञ ट्रेनर नहीं है।

प्राकृतिक भोजन में सब कुछ उपलब्ध
कुछ दिनों पहले बॉलीवुड एक्टर और अंतरराष्ट्रीय बॉडी बिल्डर मुकेश ऋषि राष्ट्रीय बॉडी बिल्डिंग प्रतियोगिता में बतौर अतिथि रायपुर आए थे, तब उन्होनें बॉडी बिल्डर खिलाडिय़ों को प्राकृतिक भोजन अपनाने और उनपर भरोसा रखने की सलाह दी थी। उन्होनें खिलाडिय़ों को नियमित रूप में दाल, चावल, राजमा, अंकुरित अनाज, दूध, चना, दही, सोयाबीन, अंडे पनीर, मौसमी सब्जियां, फल, मछली और सलाद खाने के लिए कहा था।

Akanksha Agrawal
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned