शहर में बंद तो ग्रामीण शराब दुकानों में शराबियों का मेला, न मास्क, न फिजिकल डिस्टेंस

- सीमाएं सील फिर भी निगम क्षेत्रों से पहुंच रहे हैं खरीदार .
- माना कैम्प शराब दुकान से लगे हर गांव में कोरोना पॉजिटिव मरीज .

By: Bhupesh Tripathi

Published: 27 Jul 2020, 03:28 PM IST

रायपुर। लॉकडाउन के कारण शहरी इलाकों में शराब दुकानों के बंद होने का असर आसपास ग्रामीण इलाकों में दिखाई देने लगा है। ग्रामीण शराब दुकानों में दिन भर भीड़ देखने को मिल रही है। शराब खरीदने के लिए रायपुर और बीरगांव नगर निगम क्षेत्र के लोग ग्रामीण इलाकों की शराब दुकानों तक पहुंच रहे हैं। इसी वजह से बीते कुछ दिनों में ग्रामीण क्षेत्रों से कोरोना पॉजिटिव के मामले बड़ी तादाद में सामने आए हैं।

रायपुर के करीब होने के कारण माना कैम्प शराब दुकान में दिनभर शराबियों का मेला लगा रहता है। खतरे की बात यह है कि इस शराब दुकान से लगे कमोबेश हर गांव में बीते दिनों में कोरोना के मामले में बड़ी संख्या में आए हैं। माना बस्ती, माना कैम्प, भटगांव, शद्दाणी दरबार इस शराब दुकान से बमुश्किल एक से डेढ़ किलोमीटर की दूरी पर हैें। इन सभी गांवों से कोरोना मरीज मिले हैं। आसपास के गांवों के जनप्रतिनिधि कोरोना फैलाव रोकने के लिए शराब दुकान बंद करने की मांग कर रहे हैं। एेसी ही भीड़ आरंग, अभनपुर, मंदिर हसौद और धरसींवा की शराब दुकानों में देखी जा रही है।

सीमाएं सील फिर भी तस्कारी
शहर के कई इलाकों में अवैध रूप से शराब की बिक्री चल रही है। जिनमें वीआईपी और विधानसभा रोड स्थिति बार और हुक्का पार्लर शामिल है।

ऑनलाइन शराब की सुविधा है उपलब्ध
शराब पीने के लिए अफरा-तफरी न हो इसलिए होम डिलीवरी के इंतजाम आबकारी विभाग ने किए है। फिर भी जानकारी के अभाव में लोग लॉकडाउन तोड़कर ग्रामीण दुकानों का रूख कर रहे हैं।

शहर की सीमाओं में प्रवेश करने वाले और जाने वालों की जांच के निर्देश दिए गए हैं। बाईपास मार्गों में भी निगरानी बढ़ाई जाएगी।
डॉ. एस. भारतीदासन, कलेक्टर, रायपुर

Show More
Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned