scriptpitar pakha m kauaaman ke hothe aabbad mahattam | पितर पाख म पुरखामन पांच पसर पानी ले पाथें मुक्ति | Patrika News

पितर पाख म पुरखामन पांच पसर पानी ले पाथें मुक्ति

गरुड़ पुरान म लिखाय हवय कि पीतर ल सिरिफ पांच पसर पानी देय ले घलो वोहा संतुस्ट होके अपन वंस ल चलइया ल आयु, बेटा, यस, मोक्छ, कीरति, पुस्टि बल, वैमव, पसुधन, सुख धन अउ अन्न बाढ़े के असीस देथें। पितर पाख म छत्तीसगढ़ म पितर माने के चलन हवय। पितर ल देवता बरोबर मान देय जाथे। पितर माने बर मरे मनखे के गोसाइन, बेटा, बहू अउ नाती के अधिकार होथे।

रायपुर

Published: September 12, 2022 04:40:50 pm

छत्तीसगढ़ के संगे-संग देस म सब्बो कति गनेस बिसरजन पाछू भादो महीना के दूसर पाख सुरू हो जाते जेला पीतर पाख कहे जाथे। ऐला सरधा के पाख घलो कहे जाथे। ये पाख म बड़हर, गरीब सबोमन अपन पुरखामन ल सरधा भाव ले बलाथें अउ पूजा पाठ करके वोकर निमत से भोग कराथे। मानता हे कि ये पीतर पाख म हमर सरग सिधारे पुरखामन जिंकर वंस ल हमन आगू बढ़ावत हंन वोमन धरती म आथेंं।
गरुड़ पुरान म लिखाय हवय कि पीतर ल सिरिफ पांच पसर पानी देय ले घलो वोहा संतुस्ट होके अपन वंस ल चलइया ल आयु, बेटा, यस, मोक्छ, कीरति, पुस्टि बल, वैमव, पसुधन, सुख धन अउ अन्न बाढ़े के असीस देथें। पितर पाख म छत्तीसगढ़ म पितर माने के चलन हवय। पितर ल देवता बरोबर मान देय जाथे। पितर माने बर मरे मनखे के गोसाइन, बेटा, बहू अउ नाती के अधिकार होथे। एक बाप के तीन बेटा होथे त तीनोंमन एक संग नइते अलग-अलग फेर एकेच दिन पितर मानथे।
बइसकी के दिन ले पुन्नी के दिन तक अलग अलग दिन पितरमन अपन जुन्ना घर म आथें। पितरमन ल भोग लगाय पाछू सगा सोदर, नता-गोता अउ आस-परोस के आय नेवथार ल खाय-पिये बर देथें। सबोझन ल खवाय-पियाय पाछू पितरमन ल बिदा करथें।
पीतर खेदा के दिन संझा बेर बूढ़े के बेरा पीतरमन के पूजा-पाठ के हूम-धूप अउ मोहाटी के फूल पतरा ल तरिया म ठंडा करे जाथे। हमर सास्त्र म पितर पानी देवई के महत्व ल बताय हवय। अपन वंस चलइया के पांच पसर पानी पाय ले पितरमन ल तिरिप्ति मिलथे अउ वोमन सांति पाथें। पांच पसर पानी ह उंकर जनम से मरन तक के नान्हे बड़े पाप ल कमती करथे। ऐकरे सेती पितरमन पांच पसर पानी के आसा म पितर पाख म आथें। जउन वोकर वंसज ह मानथे गउनथे वोला असीस देके जाथें अउ जउन नइ माने-गुने वोला सरापा घलो देथें। जउन वंसज ह गरीब के सेवा म धरम काम म लगे रहिथे वोमन ल देख के अबड़ खुस होथें अउ असीस देथें।
पितर पाख म कउंवामन के महत्तम
चालीस-पचास बछर पाछू के बात आय। ममा गांव जावंव त पितर पाख म ममा दाई ह बरा-सोहारी बनाय अउ तरोई के पाना म वोला रख के मोहाटी म मड़ा देवय। तहान ले जोर-जोर से काहय- ‘कउंवा आबे हमर मोहाटी, कउंवा आबे हमर मोहाटी।’ ममा दाई के कहत देर नइ लागय अउ कांव-कांव करत अब्बड़ अकन कउंवा आवय अउ बरा-सोहरी ल चोच म दबा के उड़ा जावय। तब ममा दाई काहय - ‘कउंवामन खाथे, तेला पुरखामन पाथे।’
नानपन के ये बात ह अब सपना कस लागथे। काबर कि, अब पितर पाख म कउंवा नइ दिखय। सहर के दसा अउ खराब हे। सहरियामन ह पितर पाख म कउंवामन ल अइसे खोजथें जानो-मानो नागमनि ल खोजथे।
जीयत ले जउन दाई-ददा ल मनखे फूटे आंखी देखन नइ भावय, उही सियानमन के मरनी के बाद पितर पाख म उनला सुमीरत जल-तरपन अउ बरा-सोहारी खवाय के ढोंग करथें। अपन सुवारत म बूड़े मनखे पितर पाख म कउंवा के पाछू -पाछू दउड़थे। मनखे के अइसन दोहरा चरितर ल कउंवामन तको समझ गे हावंय। तेकरे सेती मनखे के तीर म वोमन नइ ओधंय।
मनखे के अइसन दोहरा चरितर ले बने तो कउंवा के चरितर ल केहे गे हे। ‘मनखे जात तन ले तो बगुला भगत कस उज्जर-उज्जर दिखथे, फेर, मन वोकर करिया होथे। फेर, कउंवा ह तन अउ मन दूनों ले करिया होथे।’ साधु बन के भगत के पीठ म छुरी घोंपने वाला मनखे ले अच्छा कउंवा के चरितर आय। इही पाय के सियानमन कहे हावय - ‘तन उज्जर मन करिया ये बगुला के टेक, ऐकर ले तो कउंवा भला जउन भीतर-बाहिर एक।’
पितर पाख म  पुरखामन पांच पसर पानी ले पाथें मुक्ति
पितर पाख म पुरखामन पांच पसर पानी ले पाथें मुक्ति

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

दिल्ली में AAP को बड़ा झटका, कोर्ट ने LG के खिलाफ पोस्ट हटाने का दिया निर्देशराजस्थान संकट के बीच दिग्विजय सिंह लड़ सकते हैं कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव, इन नामों पर भी चल रही चर्चाNIA का PFI पर फिर एक्शन : दिल्‍ली के शाहीन बाग समेत 8 राज्‍यों में छापे, 170 वर्कर्स हिरासत मेंAssam: चीन सीमा के पास महिला पायलटों ने दिखाया दम, उड़ाए SU-30 लड़ाकू विमानWeather Update: लौटता हुआ मानसून फिर हुआ सक्रिय, आज 12 राज्यों में होगी बारिशAmerica: कृपाण धारण करने पर सिख छात्र को पहनाई हथकड़ी, अब पुलिस अधिकारी पर एक्शन की मांगPM मोदी पहुंचे जापान, शिंजो आबे के राजकीय अंतिम संस्कार में होंगे शामिल77 साल में 70वीं सरकार: इटली को मिली पहली महिला प्रधानमंत्री, "ईश्वर, परिवार और मातृभूमि" को मुद्दा बनाने वालीं मेलोनी संभालेंगी कमान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.