पीएल पुनिया के दो दिवसीय दौरे के बाद भी निगम-मंडलों की सूची को लेकर रहस्य बरकरार

- पहले संगठन फिर निगम-मंडलों की सूची हो सकती है जारी
- कांग्रेस समन्वय समिति की बैठक के बाद मिले संकेत

By: Ashish Gupta

Updated: 30 Nov 2020, 06:50 PM IST

रायपुर. कांग्रेस समन्वय समिति की बैठक और प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया के दो दिवसीय दौरे के बाद भी निगम-मंडलों की सूची को लेकर रहस्य बरकरार है। नामों को लेकर अभी सिर्फ कयास लगाए जा रहे हैं। रायपुर प्रवास से लौटते समय प्रदेश प्रभारी पुनिया (PL Punia) ने इस बात को स्पष्ट कर दिया है कि निगम-मंडलों का पद वरिष्ठ नेताओं के लिए। इसमें ब्लॉक व जूनियर स्तर के नेताओं के लिए जगह नहीं है। विधानसभा का चुनाव जीतने वाले और 15 साल तक मेहनत करने वालों को प्राथमिकता दी जाएगी। सब नियुक्तियां15-20 दिनों के भीतर हो जाएंगी। वैसे, बैठक के बाद संकेत मिले हैं कि पहले संगठन फिर निगम-मंडलों की सूची जारी होगी।

सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस 2023 विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखकर निगम-मंडलों की कुर्सी बांटने की कवायद कर रही है जबकि संगठन के प्रमुख लोग और कुछ मंत्री चाहते हैं कि उनके साथ लंबे समय से जुडऩे वालों को महत्व मिले। हालांकि, जो भी हो नामों की घोषणा दिसंबर के अंत तक हो जाएगी। इधर, प्रदेश प्रभारी डॉ. चंदन यादव की ओर से संकेत मिले हैं कि संगठन की सूची को अंतिम रूप दे दिया गया है।

सरकार का बड़ा फैसला: छत्तीसगढ़ में इस तारीख से कॉलेजों में शुरू हो सकती हैं क्लासेज

इसमें महासचिव समेत ब्लॉक व जिलों के नामों पर पूरी तरह से सहमति मिल चुकी है। मालूम हो कि कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व के निर्देश पर प्रदेश अध्यक्ष के अलावा दो नए कार्यकारी अध्यक्ष की भी नियुक्ति की गई है। इनमें एक कार्यकारी अध्यक्ष विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा में शामिल हो गए थे। नए प्रदेश अध्यक्ष की नियुक्ति के बाद कार्यकारी अध्यक्ष की नियुक्ति नहीं हो सकी है।

संभागवार जिम्मेदारी देने की तैयारी
पार्टी सूत्रों का कहना है कि फिलहाल संगठन में क्षेत्रीय संतुलन की अनदेखी हो रही है। इसे ध्यान में रखते हुए संभागवार नियुक्ति पर फोकस किया जा रहा है। प्रदेश के पांच संभाग को पांच महासचिव मिल सकते हैं। इसके अलावा युवा कांग्रेस, एनएसयूआई व अन्य प्रकोष्ठों में भी नए सिरे से नियुक्ति होने के संकेत मिले हैं।

राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद नड्डा पहली बार आएंगे छत्तीसगढ़, सामने होगी निराशा दूर करने की चुनौती

सीएम व गृहमंत्री की नजर है बढ़ते अपराधों पर
कांग्रेस समन्वय समिति की बैठक को लेकर प्रदेश प्रभारी पुनिया का कहना है, संगठन से जुड़े अनके विषयों पर बैठक में चर्चा हुई। मरवाही चुनाव में जीत के लिए सभी को बधाई दी गई। हमारी नजर 2023 पर है। इसे लेकर भी संगठन को मजबूत करने पर चर्चा हुई। राज्य सरकार किसानों के लिए काम रही है। उन्हें सब सुविधा दे रही है। केंद्र सरकार को बारदाना उपलब्ध कराना था, उसके लिए उन्हें आगे आना चाहिए थे। प्रदेश में बढ़ते अपराध को लेकर पुनिया ने कहा कि मुख्यमंत्री और गृहमंत्री की सब पर नजर है और जो भी दोषी होगा, उनके खिलाफ कठोर से कठोर कार्रवाई की जाएगी।

1 को होगी महत्वपूर्ण बैठक
सूत्र बताते है कि निगम-मंडलों के नामों पर चर्चा करने के लिए 1 दिसम्बर को अहम बैठक होगी। इसमें प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सहित वरिष्ठ नेता शामिल होंगे।

Show More
Ashish Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned