छत्तीसगढ़ में बोले PM - हवाई चप्पल वाला भी हवाई जहाज पर चढ़े, यही था मेरा सपना जो आज पूरा हुआ

Ashish Gupta

Publish: Jun, 14 2018 03:40:04 PM (IST)

Raipur, Chhattisgarh, India
छत्तीसगढ़ में बोले PM - हवाई चप्पल वाला भी हवाई जहाज पर चढ़े, यही था मेरा सपना जो आज पूरा हुआ

प्रधानमंत्री ने रायपुर से जगदलपुर के बीच हवाई सेवा की शुरुआत करते हुए कहा कि आज जगदलपुर के हवाई अड्डे से जुड़ गई है।

रायपुर. एक दिवसीय दौरे के तहत छत्तीसगढ़ पहुंचे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भिलाई के जयंती स्टेडियम में सभा को संबोधित किया। पीएम मोदी ने सभा की शुरुआत छत्तीसगढ़ी भाषा जय जोहार से की। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार आज छत्तीसगढ़ की जनता को करीब 22,000 करोड़ रुपए से ज्यादा की योजनाओं का उपहार समर्पित कर रहा है। इन योजनाओं से यहां रोजगार और शिक्षा के नए अवसर पैदा होंगे।

प्रधानमंत्री ने रायपुर से जगदलपुर के बीच हवाई सेवा की शुरुआत करते हुए कहा कि पहले जब बस्तर की बात आती थी, तो बम, विस्फोट से होती थी, लेकिन आज बस्तर का नाम जगदलपुर के हवाई अड्डे से जुड़ गया है। इस राज्य को तेज गति से आगे बढ़ते देखना हमारे लिए सुखद अनुभव है। अटल जी के सपने को सीएम रमन सिंह ने पूरे परिश्रम के साथ आगे बढ़ाया। विकास की तीर्थ यात्रा के लिए सरकार और जनता को बहुत-बहुत बधाई।

इस दौरान पीएम मोदी ने विपक्ष पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि पहले की सरकारें कुछ इलाकों में डर की वजह से सड़कें भी नहीं बना पाती थीं। लेकिन एनडीए सरकार में सड़कों के साथ-साथ एयरपोर्ट भी बनाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि मेरा सपना है कि हवाई चप्पल वाला भी हवाई जहाज पर चढ़े। आज यह सपना पूरा हो रहा है। ट्रेन के एसी से ज्यादा सफर करने वालों की संख्या फ्लाइट में दिख रही है।

प्रधानमंत्री ने भिलाई स्टील प्लांट के आधुनिकीकरण और विस्तारीकरण पर कहा कि स्टील प्लांट आधुनिक इंडिया को मजबूती देगा। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद ज्यादातर रेल की पटरियां बीएसपी की देन है। बीएसपी ने सिर्फ स्टील ही नहीं बनाया बल्कि जिंदगियां, समाज और देश भी बनाया है।

प्रधानमंत्री ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ को प्रगति देने में यहां के लौह अयस्क ने अहम भूमिका निभाई है। हमने ऐसी व्यवस्था की कि जहां से भी खनिज निकलेगा, उसका एक हिस्सा वहां के स्थानीय लोगों के विकास के लिए उपयोग किया जाएगा।

अपने भाषण में प्रधानमंत्री ने छत्तीसगढ़ के आदिवासियों के हितों का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि वन अधिकार कानून को और सख्ती से लागू किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पिछले चार साल में छत्तीसगढ़ में करीब एक लाख आदिवासी और आदिवासी समुदायों को 20 लाख एकड़ से ज्यादा जमीन का टाइटल दिया गया है।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned