scriptpolice ousted farmers from NRDA campus | नया रायपुर में पुलिस का ऑपरेशन क्लीन, 111 दिन से धरने में बैठे किसानों को पुलिस ने हटाया | Patrika News

नया रायपुर में पुलिस का ऑपरेशन क्लीन, 111 दिन से धरने में बैठे किसानों को पुलिस ने हटाया

NRDA campus Nava Raipur: 111 दिन से जारी धरना . आधी रात सो रहे (Farmers) किसानों को एनआरडीए कैंपस से बलपूर्वक हटाया. जिन्होंने विरोध किया उन्हें हिरासत में लिया. अब पूरा धरनास्थल साफ

रायपुर

Updated: April 24, 2022 02:48:11 pm

रायपुर. दो दिन पहले (NRDA Campus) एनआरडीए परिसर को खाली करने का नोटिस देने के बाद पुलिस और प्रशासन ने रविवार तडक़े 3.30 बजे वहां 111 दिन से धरना दे रहे किसानों को बलपूर्वक हटा दिया। सो रहे किसानों को हटाकर उनके टेंट, मंच और लाइट-साउंड सामग्री को जब्त कर लिया गया। जिन्होंने विरोध किया उन्हें हिरासत में ले लिया गया। धरनास्थल अब पूरी तरह साफ है। 27 अप्रैल को इस धरने में किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत भी आने वाले थे।

इस ऑपरेशन क्लीन के 2 दिन पहले किसानों को नोटिस देकर आंदोलन समाप्त करने को कहा गया था। जवाब में किसानों ने न्याय मिलने तक आंदोलन जारी रखने की बात कही थी। इसके बाद प्रशासन और पुलिस की टीम ने आधी रात के बाद कार्रवाई कर परिसर को पूरी तरह साफ कर दिया। पुलिस सुबह 3.30 बजे धरना स्थल पर पहुंची। किसानों की संख्या कम थी। सो रहे सभी लोगों को पुलिस ने उठा लिया। मैजिस्ट्रेट की उपस्थिति में उनके टेंट, मंच और लाइट-साउंड सामग्री को भी कब्जे में ले लिया। नई राजधानी प्रभावित किसान कल्याण समिति के लोगों ने इसका विरोध किया तो उनको हिरासत में लिया गया है। किसान नेताओं का आरोप है कि पुलिस उन्हें अज्ञात जगह लेकर गई है।

प्रशासन का पक्ष
नया रायपुर में एनआरडीए परिसर में नया रायपुर संघर्ष समिति द्वारा 3 महीने से अधिक समय से अनाधिकृत रूप से टेंट इत्यादि लगाकर धरना आंदोलन किया जा रहा है। लोगों को बुलाकर बड़ी संख्या में रैली निकालकर सामान्य व्यवस्था को बाधित भी किया जाता रहा है। संघर्ष समिति की कई मांगों पर विचार कर कई सकारात्मक निर्णय लिए जाकर इम्प्लिमेंटेशन भी शुरू हो चुका है। संघर्ष समिति से चर्चा कर धरना समाप्त करने भी मौखिक और लिखित रूप से कहा गया है। पिछले दिनों आंदोलन के दौरान एक ग्रामीण की मृत्यु हुई थी। दंडाधिकारी जाँच में यह पाया गया कि पदाधिकारियों के द्वारा बिना अनुमति, बिना पर्याप्त व्यवस्था के प्रदर्शन आयोजित करने एवं लापरवाही पूर्ण एवं ग़ैर ज़िम्मेदाराना रवैए के कारण ही किसान की मृत्यु हुई है। बिना अनुमति के चल रहे धरने को समाप्त कराने की अनुशंसा भी की गयी है। मंत्री रवींद्र चौबे की अध्यक्षता में मंत्रिमंडलीय समिति किसानों के साथ कई दौर की बैठके कर चुकी है। समिति की 8 में 6 मांगें मानी जा चुकी हैं, फिर भी समिति द्वारा बिना अनुमति शासकीय कार्यालय परिसर में सुबह से शाम लाउड स्पीकर बजाया जा रहा था।

Naya Raipur: clean NRDA campus after evacuation

3 जनवरी से धरना दे रहे थे किसान
नवा रायपुर बसाने के लिए हुए भूमि-अधिग्रहण से प्रभावित किसानों का यह आंदोलन 3 जनवरी 2022 से शुरू हुआ था। उनकी 8 मांगें थी। सरकार के अनुसार
उनकी 6 मांगों को मान लिया गया है। वहीं किसानों के अनुसार उनकी केवल तीन मांगों पर आधा-अधूरा आदेश जारी हुआ है। अधिग्रहीत जमीन का चार गुना मुआवले वाली मांग नहीं मानी गई।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीज्योतिष: बुध का मिथुन राशि में गोचर 3 राशि के लोगों को बनाएगा धनवानपैसा कमाने में माहिर माने जाते हैं इस मूलांक के लोग, तुरंत निकलवा लेते हैं अपना कामजुलाई में चमकेगी इन 7 राशियों की किस्मत, अपार धन मिलने के प्रबल योगडेली ड्राइव के लिए बेस्ट हैं Maruti और Tata की ये सस्ती CNG कारें, कम खर्च में देती हैं 35Km तक का माइलेज़ज्योतिष: रिश्ते संभालने में बड़े कच्चे होते हैं इस राशि के लोगजान लीजिए तुलसी के इस पौधे को घर में लगाने से आती है सुख समृद्धिहाथ में इन निशान का होना मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होने का माना जाता है संकेत

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में फ्लोर टेस्ट पर सस्पेंस बरकरार, सुप्रीम कोर्ट पर टिकी सभी की नजरें; जानें सियासी संग्राम में अब आगे क्या?Maharashtra Floor Test: मुंबई लौटने से पहले एकनाथ शिंदे ने भरी हुंकार, कहा- हमारे पास बहुमत है, हमें कोई नहीं रोक सकताMaharashtra Political Crisis: क्या उद्धव ठाकरे के इस फैसले ने बिगाड़ा सारा खेल! NCP की भूमिका पर भी उठ रहे है सवालपहले खुलेआम कन्हैयालाल की नृशंस हत्या की धमकी, फिर सिर कलम कर दिया, आतंकियों की करतूतों से मेल खाता है तरीकानवीन जिंदल को भी कन्हैया लाल की तरह जान से मारने की मिली धमकी, दिल्ली पुलिस से की शिकायतMumbai News Live Updates: शिवसेना के बागी विधायक एकनाथ शिंदे ने कहा- 2/3 बहुमत है हमारे पासSecurity To Ambani Family: मुकेश अंबानी की सुरक्षा से जुड़े मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई त्रिपुरा HC के आदेश पर रोकजावेद पंप ने खोला राज, अटाला हिंसा में मौलाना और कई नेताओं के नाम आए सामने
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.