गर्भवती होने का बहाना बना मायके आई और चुरा लिया दुसरे का बच्चा, पुलिस ने 24 घंटे में सुलझाया केस

थाना प्रभारी बोधन साहू को उक्त महिला पर शक होने से नंबर का लोकेशन टे्रस कराया गया जो रायपुर के मोती नगर का निकला। जिस पर रविवार की सुबह आरोपी महिला के निवास पर पहुंचकर नवजात शिशु के संबंध में जानकारी लेने पर अपने भाई परस सिन्हा के सहयोग से बच्चा चोरी करने का आरोप स्वीकार किया।

By: Karunakant Chaubey

Updated: 22 Jun 2020, 04:17 PM IST

अभनपुर. सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अभनपुर से बच्चा चोरी होने के मामले की गुत्थी अभनपुर पुलिस ने 24 घंटे के अंदर ही सुलझा ली। बच्चे को सकुशल मां की गोद में पहुंचा दिया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार आरोपी महिला पूजा सिन्हा दुर्ग जिले की निवासी है। उक्त महिला का 10 वर्ष पूर्व विवाह हो चुका था, लेकिन पहले पति से तलाक हो जाने की वजह से उसने 2019 में दूसरी शादी कर ली। पहली शादी से महिला का एक बच्चा भी था, जिसके बाद डॉक्टरों द्वारा उसे बताया गया कि वह दोबारा बच्चे को जन्म नही दे सकती है।

दूसरे शादी के बाद बच्चा नहीं होने की स्थिति में उसने अपने पति से गर्भवती होने की बात कहकर रायपुर स्थित अपने मायके आ गई और नवजात बच्चे की तलाश में जुट गई। इसी दौरान अभनपुर में अपने किसी परिचित से लावारिश बच्चे की तलाश में अभनपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के किसी डाक्टर का नंबर मांगा। उक्त व्यक्ति द्वारा अस्पताल में वार्ड ब्वाय का काम कर रहे प्रणय शर्मा का नंबर दिया। महिला अस्पताल पहुंचकर फोन के माध्यम से प्रणय से संपर्क किया, लेकिन वार्ड ब्वाय उस वक्त ओटी में था, जिस वजह से बात नहीं हो सकी। इस दौरान महिला ने अस्पताल में घुम रही थी, तब उसे बच्चा दिखा और उसकी मां से बच्चे को डॉक्टर से दिखाने की बात कहकर भाग निकली।

वार्ड ब्वाय ने बाहर निकल कर महिला को फोन किया, लेकिन बात नही हो पाई। तब तक अस्पताल से बच्चा गायब हो चुका था। वार्ड ब्वाय ने घटना के बाद पुलिस को फोन कर इसकी जानकारी दी, जिस पर अभनपुर पुलिस ने वाटसएेप डीपी के माध्यम से पीडि़त महिला का पहचान कराया गया, लेकिन बच्चे की मां पहचान नहीं कर सकी। थाना प्रभारी बोधन साहू को उक्त महिला पर शक होने से नंबर का लोकेशन टे्रस कराया गया जो रायपुर के मोती नगर का निकला। जिस पर रविवार की सुबह आरोपी महिला के निवास पर पहुंचकर नवजात शिशु के संबंध में जानकारी लेने पर अपने भाई परस सिन्हा के सहयोग से बच्चा चोरी करने का आरोप स्वीकार किया।

पुलिस ने बच्चे को बरामद कर किया मां के सुपुर्द

अभनपुर पुलिस द्वारा बच्चे को बरामद कर उसकी मां के सुपुर्द कर दिया एवं आरोपी महिला और उसके भाई को गिरफ्तार कर थाना लाया गया। मां को बच्चा मिलते ही उसका चेहरा खिल उठा। इस मामले को लेकर दिनभर नगर में चर्चा का विषय बना रहा और जैसे ही बच्चे के मिलने की खबर लोगों को मिली, नगरवासियों ने पुलिस प्रशासन की तारीफ करते आभार व्यक्त किया। घटना की जानकारी मिलने पर विधायक धनेंद्र साहू ने स्वास्थ्य केंद्र पहुंचकर पीडि़त परिवार से मुलाकात की तथा मामले में नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि अस्पताल प्रबंधन द्वारा की गई इस घोर लापरवाही में जिम्मेदार लोगों पर कड़ी कार्यवाही करने की बात कही एवं अस्पताल में सुरक्षाकर्मी रखने के निर्देश दिए।

इस दौरान उपस्थित सुशील शर्मा, सुनील कौशल, पार्षद बलविंदर गांधी, मुरारीदास वैष्णव, रानू राठी, सपन पांडेय आदि ने विधायक को बताया कि बीएओ का ब्लॉक मुख्यालय में निवास होने के बावजूद भी वह यहां नहीं रहती है। जिससे यहां की व्यवस्था बिगड़ी हुई है। अस्पताल में डॉक्टर उपस्थित नहीं रहने के साथ-साथ उपचार में लापरवाही एवं सुविधाएं मुहैया नहीं कराने संबंधी शिकायते हमेशा रहती है।

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned