सीमेंट कांक्रीट से बंद हुआ बारिश का पानी आने का रास्ता, गंदगी इतनी की तालाब बना डबरी

सीमेंट कांक्रीट से बंद हुआ बारिश का पानी आने का रास्ता, गंदगी इतनी की तालाब बना डबरी

Deepak Sahu | Publish: Sep, 10 2018 09:27:08 AM (IST) Raipur, Chhattisgarh, India

तालाब में बरसाती पानी कम हैं, लेकिन यहां गंदगी इस कदर है कि तालाब किसी डबरी या ट्रेचिंग ग्राउंड जैसा नजर आता है

रायपुर. राजधानी के अन्य तालाबों की तरह मठपारा का चिरौंजी तालाब भी अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा है। तालाब में बरसाती पानी कम हैं, लेकिन यहां गंदगी इस कदर है कि तालाब किसी डबरी या ट्रेचिंग ग्राउंड जैसा नजर आता है। नगर निगम प्रशासन ने भी इस तालाब के सौंदर्यीकरण के नाम पर अब तक करीब 20 से 30 लाख रुपए खर्च कर चुका है। लेकिन तालाब के पानी को स्वच्छ रखने और बरसात में इसमें लबालब पानी भरने की व्यवस्था नहीं की गई है। यही कारण है कि तालाब स्थानीय प्रशासन की उदासीनता और लापरवाही के कारण अपना अस्तित्व खो रहा है।

तालाब के चारों तरफ नगर निगम ने सीमेंट कांक्रीट का बाउंड्रीवाल बनाकर बरसाती पानी आने का रास्ता ही बंद कर दिया है। जो भी पानी तालाब भरा है, वह आसमान से गिरा पानी है। इसके अलावा आसपास के मोहल्लों और बस्तियों का पानी लाने के लिए कोई व्यवस्था नहीं की गई है।

 

polluted pond

गर्मी में पूरी तरह से सूख जाता है तालाब
तालाब में तो हल्का पानी रहता है, लेकिन जनवरी आते-आते तालाब पूरी तरह से सूख जाता है। भरी गर्मी में तो यह तालाब खेल मैदान में तब्दील हो जाता है। आस-पास के बच्चे यहां क्रिकेट और गिल्ली-डंडा खेलते नजर आते हैं। यदि निगम प्रशासन गर्मी में भी तालाब में पानी भरा रखने के लिए आस-पास के मोहल्लों और बस्तियों के पानी आने का रास्ता बनाना होगा, तभी तालाब में गर्मी में पानी भरा रहेगा। आस-पास के लोगों ने बताया कि तालाब गहरीकरण और सौंदर्यीकरण के नाम पर पिछले कुछ सालों से लाखों रुपए तो जरूर खर्च किया जा रहा है लेकिन तालाब अभी तक ठीक से गहरा ही नहीं हुआ है। तालाब के अंदर बड़ी-बड़ी चट्टानें निकली हुई है। इससे इस तालाब में निस्तारी करना भी लोगों के लिए खतरे से खाली नहीं है। यही वजह से तालाब में किसी प्रकार का हादसा न हो, इसलिए नगर निगम प्रशासन ने तालाब किनारे बोर्ड लगा दिया है कि यहां नहाना मना है।

रायपुर के नगर-निगम आयुक्त रजत बंसल ने बताया कि तालाबों के संरक्षण के लिए ठोस कार्य योजना बनाई जाएगी। शहर के एेसे तालाबों को चिन्हित करने के अधिकारियों से कहा गया है कि जहां बरसात में भी पानी कम भरता है और गर्मी आते-आते सूख जाता है। निगम प्रशासन द्वारा एेसे तालाबों को गहरीकरण और आसपास के इलाकों के बरसाती पानी के लिए रास्ता बनाया जाएगा।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned