'गतका' की फौज कर रहे तैयार, ताकि संकट के समय खुद के साथ दूसरों की भी कर सकें रक्षा

महावीर नगर स्थित गुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी ने पहल करते हुए सेल्फ डिफेंस सिखाने के लिए नि:शुल्क ट्रेनिंग शुरू की है।

By: Tabir Hussain

Published: 11 Mar 2018, 01:31 PM IST

ताबीर हुसैन @ रायपुर . हर किसी की पहली प्राथमिकता होती है खुद और अपने परिवार की सुरक्षा। लेकिन अगर कोई समाज और पास-पड़ोस की सेफ्टी के लिए सोचे तो उसकी सराहना होनी चाहिए। ऐसी ही एक प्रेरक पहल की है महावीर नगर स्थित गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने। यहां न सिर्फं समाज के बच्चों को सेल्फ डिफेंस के गुर सिखाए जा रहे हैं बल्कि वे सभी बच्चे जो इस कला में माहिर होना चाहते हैं उनके लिए भी नि:शुल्क ट्रेनिंग दी जा रही है।

महिलाओं की सुरक्षा को लेकर आया विचार

कमेटी के पदाधिकारियों ने बताया कि देश में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर पर्याप्त इंतजाम नहीं हैं। रोजाना कहीं न कहीं ऐसी घटनाएं पढऩे या सुनने को मिल जाती है जिससे इंसानियत शर्मसार हो जाए। ऐसे में हमें लगा कि अगर बच्चों और युवाओं खास तौर पर गल्स को सेल्फ डिफेंस की कला सिखाई जाए तो उनकी सेफ्टी के लिए बेस्ट ऑप्शन होगा। सभी ने इस सोच का समथज़्न किया और मनोबल बढ़ाया। इस तरह गुरुद्वारा परिसर में ही सेफ्टी मिशन की शुरुआत हुई।

एक्सरसाइज भी

कंवलप्रीत बताते हैं कि गतका की ट्रेनिंग की खास बात ये है कि बच्चे आत्म रक्षा के गुर तो सीखते ही हैं उनकी एक्ससाइज भी होती है जो कि सेहत के लिहाज से काफी फायदेमंद भी है। इसके साथ ही वे संकट के समय दूसरों की मदद भी कर सकते है। इसमें पूरी बॉडी की कसरत होती है। आजकल देखा ये जा रहा है कि बच्चे फास्ट फूड के आदी होने लगे हैं और हेल्थ के नजरिये से पैरेंट्स अलर्ट नहीं रहते। ऐसे में ट्रेनिग शरीर का व्यायाम हो जाता है।

Self Difens

सेल्फ डिफेंस आज की जरूरत

वे मानते हैं कि सेल्फ डिफेंस आज की जरूरत है। अगर खुद की सुरक्षा की तकनीक आप समझने लगो तो जीवन में आत्मविश्वास आता है। जो कि हर इंसान के भीतर होना भी चाहिए। पैरेंट्स भी बच्चों को कहीं अकेले भेजने में कतराते नहीं हैं। क्योंकि उनको मालूम रहता है कि उनका बच्चा अपनी सेफ्टी नहीं कर सकता है। उन्हे हमेशा बच्चों की चिंता होती है। इस विद्या को सिखने से बच्चे खुद की रक्षा आसानी से कर सकते है।

प्रशिक्षण हर वर्ग के लिए, अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचे यह कला
सिंह ने बताया कि हमारा मकसद है कि इस विधा से ज्यादा से ज्यादा बच्चे और युवा जुड़ें। इसके लिए हमने सभी वर्ग के लिए इसकी नि:शुल्क ट्रेनिंग शुरू की है। यह तालीम हमेशा मुफ्त ही दी जाएगी। अगर कोई आत्मरक्षा के गुण सीख कर अन्य लोगों को सिखाए तो और भी अच्छी बात होगी।

परीक्षा के बाद मोहल्लों में शुरू करेंगे जागरुकता अभियान
सिंह ने कहा कि अभी बच्चों के एग्जाम चल रहे हैं इसलिए परीक्षा के बाद मोहल्ले में विशेष अभियान चलाकर लोगों को सेल्फ डिफेंस के प्रति जागरूक किया जाएगा। बच्चों के माता-पिता को इसके फायदे बताए जाएंगे जिससे कि वे उन्हें यहां सीखने के लिए भेजें।

Show More
Tabir Hussain Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned