गणेश उत्सव की हलचल तेज, प्रशासन की चुप्पी से समितियों की बढ़ी चिंता

प्रति वर्ष की तरह इस वर्ष भी गणेश उत्सव की तैयारियों के विषय में सार्वजनिक गणेश उत्सव समितियों की बैठक हुई जिसमें प्रतिमा स्थापना को लेकर सभी समितियों ने इस बात पर जोर दिया कि शासन-प्रशासन को आगे आकर गणेश उत्सव के लिए कुछ दिशा-निर्देश जारी करने का इंतजार किया जा रहा है।

By: Karunakant Chaubey

Published: 24 Jun 2020, 11:16 PM IST

रायपुर. शहर में हर साल तीन माह पहले से गणेशोत्सव की तैयारियां शुरू हो जाती है, लेकिन कोरोना संकट के कारण उत्सव समितियों में पेशोपेस की स्थिति बनी हुई हैं। समितियों के पदाधिकारियों ने बुधवार को बैठक कर इस बात पर चिंता जताई कि अभी तक गणेश उत्सव झांकियां बनाने को लेकर जिला प्रशासन की तरफ से किसी प्रकार की पहल नहीं की गई है। जबकि बड़ी झांकियां तैयार करने के लिए कोलकाता से कारीगरों को बुलाना पड़ता है।

प्रति वर्ष की तरह इस वर्ष भी गणेश उत्सव की तैयारियों के विषय में सार्वजनिक गणेश उत्सव समितियों की बैठक हुई जिसमें प्रतिमा स्थापना को लेकर सभी समितियों ने इस बात पर जोर दिया कि शासन-प्रशासन को आगे आकर गणेश उत्सव के लिए कुछ दिशा-निर्देश जारी करने का इंतजार किया जा रहा है। इस वजह से अभी तक गणेश मूर्तियां विराजने के लिए पशोपेस की स्थिति बनी है।

इन समितियों के पदाधिकारी थे मौजूद

बैठक में बजरंग नवयुवक मित्र मंडल गोलबाजार शिवम गुप्ता, गजानन किशोर समाज रामसागरपारा सीता राम खंडेलवाल, विनायक गणेश उत्सव समिति गंजपारा प्रभात टाकीज गुरमीत सिंह, मनोकामना गणेश उत्सव समिति स्टेशन रोड राहुल मंडे, बालाजी गणेश उत्सव समिति बूढ़ा तालाब पंकज गोली, गौरा गौरी गणेश उत्सव समिति तेलीबांधा जितेन्द्र साहू, विक्टरी क्लब सदर बाज़ार सचिन बोथरा, नवयुवक बाल समाज गणेशोत्सव समिति विवेक सिंह चंदेल बंजारी चौक, नौरतन युवा मंडल नया पारा नरेश सोनी, रिद्धि सिद्धि गणेश एवं दुर्गोत्सव समिति लक्ष्मण नगर तोरण साहू उपस्थित थे।

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned