छत्तीसगढ़ के इस जिले पर रख रहा पीएमओ नजर, यह है वजह

छत्तीसगढ़ के इस जिले पर रख रहा पीएमओ नजर, यह है वजह

Deepak Sahu | Updated: 15 Jul 2018, 08:58:26 AM (IST) Raipur, Chhattisgarh, India

प्रधानमंत्री कार्यालय बीते डेढ़ माह से बस्तर के 25 गांवों में खेती किसानी के तौर- तरीकों, कुक्कुट पालन, मुर्गीपालन सहित समन्वित कृषि के सभी पहलुओं पर नजर लगाए हुए है

जगदलपुर. प्रधानमंत्री कार्यालय ने छत्तीसगढ़ के इस जिले में पिछले डेढ़ माह से नजर रखी हुई है। छत्तीसगढ़ का धुर नक्सल क्षेत्र बस्तर जहां लगातार माओवादियों का आतंक जारी रहता है, एेसे इलाके में पीएमओ ने अपनी नजरें गड़ाई हुई है। पीएमओ से लगातार इस जिले में नजर रखी जा रही है।

READ MORE: CG Politics : किसने कहा कि लोग मुझे फूलछाप कांग्रेसी बोलकर हल्ला करते हैं

प्रधानमंत्री कार्यालय बीते डेढ़ माह से बस्तर के 25 गांवों में खेती किसानी के तौर- तरीकों, कुक्कुट पालन, मुर्गीपालन सहित समन्वित कृषि के सभी पहलुओं पर नजर लगाए हुए है। 1 जून से शुरू हुए इस कृषि कल्याण प्रोजेक्ट का समापन 31 जुलाई को होना है। इस योजना के लिए देश के नौ राज्य के 112 जिलों को चयनित किया गया है। इसकी शुरुआत जून माह में इन 25 गांवों के शतप्रतिशत भू-स्वामियों को मृदा स्वास्थ्य कार्ड प्रदान करने से की जा चुकी है। कृषि कल्याण कार्यक्रम के तहत बस्तर के बड़े मारेंगा, मावलीभाटा, बोरीगांव, छिंदबहार,चोकावाड़ा, कलचा, परपा, मरेठा, पाथरी, नानगुर दरभा को शामिल किया गया है।

READ MORE: प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने चुनावी रणनीति का किया खुलासा, कहा- राहुल की ये ताकत हमें आगे ले जाएगी

इन गांव के सौ किसानों को प्रति एकड़ के हिसाब से दलहन- तिलहन के मिनीकिट, पांच- पांच फलदार पौधे व कोकोनट बोर्ड की ओर से चार-चार सौ नारियल पौधे बांटे जा चुके हैं। पशुपालन विभाग की ओर से 80 किसानों को मुर्गी- बकरी पालन व पशुओं का शत-प्रतिशत टीकाकरण करने कहा गया है। इन विभागों व इनके कार्यों की निगरानी का दायित्व कृषि विज्ञान केंद्र (केवीके) को दिया गया है।

READ MORE: पनामा पेपर्स: भूपेश बघेल ने दस्तावेज सामने रखकर कहा- अभिषाक सिंह कोई और नहीं मुख्यमंत्री के बेटे हैं

केवीके कोआर्डिनेटर डॉ. जीपी आयाम ने कहा कि पीएमओ से आए प्रोग्राम की रोजाना मानिटरिंग की जाती है, इसकी सारी जानकारियां उनके वेबपोर्टल पर अपडेट किया जा रहा है। बस्तर में लक्ष्य के करीब पहुंचने की कोशिश जारी है।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned