मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा- आप प्राचार्यों पर है बेहतर शिक्षा और स्कूल प्रबंधन का जिम्मा

प्रशिक्षण सत्र: प्रदेश के विद्यार्थियों को हर प्रतियोगिताओं के लिए तैयार करने पर जोर

By: Nikesh Kumar Dewangan

Published: 12 Feb 2021, 07:01 PM IST

रायपुर. छत्तीसगढ़ के हर वर्गों के बच्चे को अच्छी से अच्छी शिक्षा मुहैया कराना शासन की प्राथमिकता है। इसी दिशा में किए जा रहे प्रयासों के तहत स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम विद्यालय योजना शुरु की गई है। यह कोई साधारण योजना नहीं है, बल्कि भविष्य का छत्तीसगढ़ गढऩे की मुहिम है। हम ऐसे स्कूल का निर्माण करें जिस पर छात्रों को गर्व हो। गुरुवार को यह बात मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी स्कूलों के प्राचार्यों के प्रशिक्षण सत्र के दौरान, इन्हें संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि स्कूलों के बेहतर संचालन और शिक्षा का जिम्मा प्राचार्यों का है।

सीएम ने इस दौरान कहा कि इस मुहिम का उद्देश्य छत्तीसगढ़ के छात्रों को भविष्य की हर तरह की प्रतियोगिताओं के लिए एक सक्षम प्रतिभागी के रूप में तैयार करना है। सीएम अपने निवास कार्यालय से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्राचार्यों को संबोधित कर रहे थे। गौरतलब है कि गुरुवार को प्रशिक्षण तीसरा दिन है। स्कूलों में प्रवेशित लगभग 30 हजार छात्रों को ऑनलाइन शिक्षा के साथ-साथ विविध रचनात्मक गतिविधियों से जोड़ा गया है।इस अवसर पर गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू, कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे, स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, मुख्यमंत्री के सलाहकार प्रदीप शर्मा, मुख्य सचिव अमिताभ जैन, अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू, प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा डॉ. आलोक शुक्ला, मुख्यमंत्री के सचिव सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी सहित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

अगले सत्र में 118 स्कूल और बढ़ेंगे

प्रथम चरण में 52 शासकीय विद्यालयों को इस योजना के तहत सर्व सुविधायुक्त अंग्रेजी स्कूलों के रूप में उन्नत किया गया है। इन सभी स्कूलों में अत्याधुनिक ग्रंथालय, प्रयोगशाला, कम्प्यूटर एवं ऑनलाइन शिक्षा सुविधा उपलब्ध है। आगामी शिक्षा सत्र से राज्य में 170 अंग्रेजी स्कूलों का संचालन शुरू हो जाएगा।

Nikesh Kumar Dewangan Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned