निजी स्कूलों की मनमानी पर लगाम लगाने के लिए विभाग ने जारी किये निर्देश, फीस के लिए दबाव नहीं बनाने का देंगे शपथ पत्र

स्कूलों द्वारा पालकों को लगातार फीस और बस का किराया मांगे जाने की शिकायत सामने आ रही है। राजधानी रायपुर में 4 स्कूलों की मनमानी की शिकायत पहुंच चुकी है। इन शिकायतों को देखते हुए स्कूल शिक्षा विभाग के संचालक ने स्कूल प्रबंधन से शपथ पत्र भरवाने का निर्देश दिया है।

By: Karunakant Chaubey

Published: 23 Apr 2020, 07:24 PM IST

रायपुर. प्रदेश के निजी स्कूलों की मनमानी पर लगाम लगाने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग ने निर्देश जारी किया है। प्रदेश के निजी स्कूलों को अब शिक्षा विभाग में शपथ पत्र जमा करना होगा। शपथ पत्र में स्कूल प्रबंधन को लिखना होगा, कि वे पालकों पर फीस के लिए दबाव नहीं बना रहे है। शपथ पत्र देने के बाद भी स्कूल प्रबंधन यदि मनमानी करेंगे, तो शिक्षा विभाग द्वारा उन पर जुर्माना लगाया जाएगा। सभी स्कूलों का शपथ पत्र जल्द से जल्द शिक्षा विभाग के अधिकारियों तक पहुंचे, इसलिए स्कूल शिक्षा संचालक ने जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देश जारी किया है।

लगातार मिल रही शिकायत

स्कूलों द्वारा पालकों को लगातार फीस और बस का किराया मांगे जाने की शिकायत सामने आ रही है। राजधानी रायपुर में 4 स्कूलों की मनमानी की शिकायत पहुंच चुकी है। इन शिकायतों को देखते हुए स्कूल शिक्षा विभाग के संचालक ने स्कूल प्रबंधन से शपथ पत्र भरवाने का निर्देश दिया है। लिखित प्रमाण आने के बाद मनमानी पर ठोस कार्रवाई करने की बात अधिकारियों ने बोली है।

दो दिन के अंदर भरवाना है शपथ पत्र

सभी जिलों के जिला शिक्षा अधिकारियों को अपने-अपने जिलों में संचालित स्कूलों से यह शपथ पत्र भरवाना है। जो स्कूल प्रबंधन निर्देश का उल्लंघन करता है या शपथ पत्र भरने में आनाकानी करता है। नए शिक्षा सत्र से उसकी मान्यत पर संकट आ सकता है। सभी स्कूलों को दो दिन के अंदर शपथ पत्र भरके जिला शिक्षा अधिकारी के कार्यालय में भेजना होगा।

832 निजी स्कूल जिले में

रायपुर जिले में 832 निजी स्कूल है। इन स्कूलों में सीजी बोर्ड के स्कूलों को छोड़ दे तो सीएबीएसई और आईसीएससी स्कूल का संचालन करने वाले प्रबंधन की लगातार मनमानी की शिकायत आती है। इन स्कूलों पर नियंत्रण लगाया जा सके, इसलिए शपथ पत्र स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा भरवाया जा रहा है।

स्कूल शिक्षा संचालक के निर्देश पर जिले के सभी स्कूल प्रबंधन को शपथ पत्र भरने का निर्देश दिया है। निर्देश का पालन नहंी करने वालों की मान्यता अगले शिक्षा सत्र में रिन्यूल के दौरान समाप्त कर दी जाएगी।

-जीआर चंद्राकर, जिला शिक्षा अधिकारी
रायपुर।

COVID-19
Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned